कैंसर, डायबिटीज, मोटापा, ह्रदय रोग का कारण होते है ये चार व्हाइट फूड (Four White Foods To Avoid), जानते हैं इनके नुकसान क्या है। उत्तम स्वास्थ्य और निरोगी जीवन जीने के लिए पौस्टिक आहार और सही खानपान का होना बहुत आवश्यक होता है। आजकल कुछ ऐसे खाद्य पदार्थों का सेवन अधिक मात्रा में किया जाने लगा है जिनका शरीर पर विपरीत प्रभाव पड़ता है और शरीर मे अनेक रोग उत्पन्न करने में एक बहुत बड़ा योगदान होता है

हाई ब्लड प्रेशर के लिए सबसे ज्यादा जिम्मेदार सफेद नमक ही होता है। यदि हम नमक का ज्यादा सेवन करते हैं तो शरीर में जमा हुआ अतिरिक्त पानी ब्लड प्रेशर को बढ़ा देता है इसके अलावा जब नमक को रिफाइन किया जाता है

तो इसमें पाया जाने वाला आयोडीन हट जाता है वही रिफाइन किए जाने के दौरान इसमें क्लोराइड्स मिलाए जाते हैं जो ज्यादा सेवन करने पर नुकसान पहुंचाते हैं। नमक का सेवन करने की सही मात्रा नमक को रोज के खाने में अधिकतम एक छोटा चम्मच ही देना चाहिए अगर हाई ब्लड प्रेशर है तो डायटीशियन से परामर्श के अनुसार ही इसका सेवन करना चाहिए।

कैंसर डायबिटीज मोटापा आदि बीमारियों का कारण चीनी को ही माना जाता है रिफाइंड शुगर यानी चीनी को एम्प्टी कैलोरी भी कहते हैं इसमें किसी प्रकार के पोषक तत्व नहीं होते है जैसे ही यह हमारी पाचन नली में पहुंचती है

ग्लूकोज और फ़्रेक्टोज में टूटती है जो लोग शारीरिक एक्टिविटी नहीं करते उनके लिवर में यह फैट के रूप में जमा हो जाती है इसका इंसुलिन पर भी बुरा असर पड़ता है जिससे डायबिटीज होने का खतरा बढ़ता है। चीनी का सेवन करने की सही मात्रा 40 वर्ष की उम्र तक प्रतिदिन 5 चम्मच चीनी का सेवन करना ही शरीर के लिए काफी होता है अगर उम्र 40 वर्ष से ज्यादा है तो इसका सेवन और भी काम करें

कोलेस्ट्रोल जैसी बीमारियां होने का कारण मैदा को ही मुख्य माना गया है। मैदा को बनाने के लिए गेहूं को प्रोसेस करने के दौरान इसमें पाए जाने वाले टिशू जिन्हें इंडो स्पर्म कहते हैं खत्म हो जाते हैं  इसके अलावा पाचन क्रिया के लिए आवश्यक इसकी चोकर भी हट जाती है जो कि फाइबर का बहुत अच्छा स्रोत होता है। कुल मिलाकर गेहूं से मैदा बनाते समय इसके लगभग सभी पोषक तत्व खत्म हो जाते हैं ऐसे में यह पाचन संबंधी गंभीर समस्याएं पैदा करता है।

इसका ज्यादा सेवन करने से यह दिल के लिए बहुत नुकसानदायक होता है। अजीनोमोटो मोनोसोडियम ग्लूटामेट है जो मुख्यतः चायनीज फूड, सूप आदि में मिलाया जाता है। अजीनोमोटो प्राकृतिक रूप से टमाटर, अंगूर आदि में पाया जाता है।

इन वाइट फ़ूड के अलावा फ़ास्ट फ़ूड, जंक फ़ूड, अधिक तेज मिर्च मसालों का भी अधिक मात्रा में सेवन करना स्वास्थ्य के लिए नुकसानदायक माना जाता है। इसलिए इन फूड्स का सेवन भी कम मात्रा में करना अच्छी सेहत के लिए लाभदायक होता है

चार वाइट फ़ूड के बारे में विस्तार से जानने के लिए निचे दिए गए बटन पर क्लिक करें