Tomato flu क्या है? इसके लक्षण, कारण कैसे बचें और सावधानियां

Tomato flu in hindi

बच्चों में तेजी से फैल रहे टोमैटो फ्लू के लक्षण कारण और कैसे बचें – Tomato flu kya hai

Tomato flu एक तरह का वायरल बुखार है। यह ज्यादातर पांच साल तक के बच्चों को अपनी चपेट में लेता है। अभी तक टोमैटो फ्लू का इलाज करने हेतु कोई विशेष दवाई तो उपलब्ध नहीं है। लेकिन Tomato fever तेजी से फैलने वाला बुखार होने के कारण इसको लेकर कुछ सावधानियां बरतने की आवश्यकता है। आइए आपको बताते हैं इस टोमैटो फ्लू नामक वायरल यानी बुखार के बारे में सम्पूर्ण जानकारी यह क्या है कैसे फैलता है Tomato flu के लक्षण, कारण और बचाव के लिए सावधानियां क्या है

इस वायरस Tomato flu को लेकर अलग अलग राज्य की सरकारों और स्वास्थ्य विभाग ने एडवायजरी जारी की है की दस वर्ष की आयु तक के बच्चों को लेकर विशेष सावधानियां बरतने की आवश्यकता है। साथ ही जिन बच्चों का Immune system कमजोर है या जो किसी बीमारी से ग्रसित है यह वायरस उनको अपनी चपेट में जल्दी ले सकता है इसलिए कुछ सेफ्टी रखना जरूरी है।

Tomato flu in hindi

टोमैटो फ्लू क्या है / What is tomato flu in hindi

यह एक प्रकार की हाथ, पैर, मुंह की बीमारी है। इसको इंग्लिश में  HFMD यानी हैंड फुट माउथ डिजीज कहा जाता है। मुख्य रूप से इस बीमारी की चपेट में छोटे बच्चे आते हैं। यह कोई गंभीर बीमारी नहीं है लेकिन वायरस जनित रोग में वायरस के म्यूटेशन यानी वायरस के रूप बदलने की संभावना अधिक होती है।

टोमैटो फ्लू एक वायरल बुखार है इसको टोमैटो फीवर के नाम से भी जाना जाता है। यह रोग छोटे बच्चों में ज्यादा फैल रहा है। दक्षिण के केरल में इसने दस्तक दी है वहां छोटे बच्चों में Tomato flu के लक्षण दिखाई देने शुरू हो चुके हैं। विशेषज्ञ का कहना है कि टोमैटो फीवर डेंगू बुखार (Dengue fever) या चिकनगुनिया के बाद होने वाली बीमारी है।

इस फ्लू की चपेट में आने वाले बच्चों में शरीर पर लाल दाने यानी टमाटर जैसे गोल गोल दाने, त्वचा पर जलन के साथ कुछ समय बाद बॉडी के डिहाइड्रेट होने पर बॉडी के कुछ हिस्सों पर फफोले होने लगते है। इस वायरल में बच्चों में थकान कमजोरी और सुस्ती के साथ साथ तेज बुखार भी आता है।

Tomato flu kya hai ? सम्पूर्ण जानकारी

भारत में अभी तक लोग कोरोना Covid 19 in hindi से पूरा उभर नहीं पाए थे की मंकीपॉक्स वायरस Monkeypox virus in hindi ने दस्तक दे दी और अब ये टोमैटो फीवर भी अपने पांव तेजी से पसार रहा है।

टोमैटो फ्लू के लक्षण क्या है : Tomato flu symptoms in hindi

इस रोग Tomato flu के शुरुआती लक्षण त्वचा पर लाल रंग के दाने निकलना है। यह दाने थोड़े समय में ही कुछ बड़े चकते बनने लगते है। टोमैटो फ्लू में तेज बुखार भी आता है। इस रोग में त्वचा पर रैशेज व जलन होती है टोमैटो फीवर के और भी लक्षण है जैसे

1 –  बच्चों को थकान और सुस्ती महसूस होना

2 –  तेज बुखार के साथ बदन दर्द होना

3 –  जोडों में दर्द होना

4 –  उल्टी दस्त होना

5 –  पेट मे ऐंठन होना

6 –  खांसी आना

7 – अधिक छींके आना

8 – नाक बहना भी एक लक्षण है।

टोमैटो फीवर में सावधानीयां : Tomato flu precautions in hindi

इस बीमारी से सजग रहने की आवश्यकता है। अगर किसी बच्चे में टोमैटो फीवर से सम्बंधित किसी प्रकार के लक्षण दिखाई दे तो तत्काल चिकित्सक को दिखाने की आवश्यकता है। साथ ही इस Tomato fever से संक्रमित बच्चे को साफ पानी पिलाते रहे जिससे बॉडी हाइड्रेट रहे। थोड़े थोड़े अंतराल से बच्चे को इलेक्ट्रोल पाउडर, ओआरएस, नारियल पानी व सॉफ्ट डाइट देते रहना चाहिए। जिससे बच्चा डिहायड्रेड होने से बचा रहें।

टोमैटो फीवर से संक्रमित होने पर साफ सफाई का विशेष ध्यान रखना चाहिए। इस रोग में स्किन पर होने वाले रैशेज या फफोलो को खुजलाने से बचना चाहिए। इस रोग से पीड़ित बच्चे को गुनगुने पानी से नहलाना चाहिए और संक्रमित बच्चे या पास के लोगों यानी केयर टेकर के ज्यादा संपर्क में नहीं आना चाहिए क्योंकि इसके फैलने की आशंका अधिक रहती है।

टोमैटो फ्लू का स्थाई इलाज या इंजेक्शन तो अभी तक नहीं है। लेकिन फिर भी डॉक्टर्स के द्वारा इस रोग के उपचार में पूरे प्रयास और सावधानियां बरती जा रही है। चिकित्सा विभाग द्वारा इस वायरल को लेकर कुछ सावधानियां व दिशा निर्देश जारी किए गए हैं।

टोमैटो फ्लू के कारण क्या है : Tomato flu causes in hindi

इस रोग टोमैटो फ्लू के कारणों का अभी तक पता नहीं चल पाया है। स्वास्थ्य विभाग का कहना है कि टोमैटो फीवर के कारणों के बारे में अभी जांच चल रहीं हैं। इस बीमारी की चपेट में सबसे ज्यादा केरल के बच्चे आ रहे हैं। इसलिए इस फीवर के आसपास और अधिक फैलने की सम्भावना को देखते हुए अन्य राज्यों को भी इससे सावधान रहने की चेतावनी जारी की गई है।

टोमैटो फ्लू से कैसे बचें : Tomato flu se bachne ke upay

डॉक्टर्स के अनुसार इस वायरस में बहुत ही कम मृत्यु दर होने के कारण इसका इलाज आसानी से किया जा सकता है इस से बचने के उपाय जानते है जैसे

1. इस रोग में पेय पदार्थों का अधिक सेवन करें

2. ज्यादा ठंडी चीजों के सेवन से बचें

3. इस रोग में रेस्ट ज्यादा करें

4. टोमैटो फ्लू में होने वाले फफोलों को छूने से बचें

5. इस वायरस से संक्रमित बच्चे की वस्तुओं को अन्य बच्चों से दूर रखें

6. साफ सफाई का मुख्य ध्यान रखें

FAQ – Tomato flu ke bare me sawal

Q 1. टोमैटो फ्लू की जांच कैसे होती है?

Ans  इस फ्लू के लक्षण चिकनगुनिया व डेंगू से मिलते जुलते हैं इसलिए अधिकतर डॉक्टर मॉलिक्यूलर और सेरोलॉजिकल टेस्ट करवाते हैं। अगर रिपोर्ट में चिकनगुनिया, डेंगू , जिका वायरस, जोस्टर, हर्पीस आदि में से किसी बीमारी की पुष्टि नहीं होती है तो टोमैटो फ्लू मान लिया जाता है।

Q 2. क्या टोमैटो फ्लू व्यस्को को भी हो सकता है?

Ans  इस वायरस को लेकर विशेषज्ञ व डॉक्टर का मत है की टोमैटो फ्लू से ज्यादा खतरा बच्चों को है लेकिन इससे संक्रमित बच्चे के संपर्क में आने से वयस्कों व अन्य लोगों को भी इस बीमारी के होने का खतरा बना रहता है। लेकिन अभी तक ऐसा कोई मामला सामने आने की पुष्टि नहीं हुई है।

निष्कर्ष (Conclusion)

आज के इस लेख में हमने बात की है टोमैटो फ्लू क्या है Tomato flu के लक्षण, कारण और इससे बचने के उपाय व सावधानियां क्या है इस लेख के बारे में आपके कोई सुझाव या सवाल हो तो नीचे कमेंट में जरूर लिखें।

यह आर्टिकल Tomato flu kya hai सम्पूर्ण जानकारी आपको कैसा लगा कमेंट में बताना और पोस्ट को शेयर जरूर करना ताकि इस नये वायरस के बारे में उचित जानकारी लोगों तक पँहुच सके।

:- लेख को अंत तक पढ़ने के लिए धन्यवाद :-

Related posts

Share This Product

Leave a Comment