Salam panja क्या है सालम पंजा के चमत्कारी फायदे और नुकसान

सालम पंजा के फायदे, नुकसान और इसका इस्तेमाल कैसे करें : Salam panja benefits in hindi

आज के इस लेख में जानेंगे सालम पंजा क्या होता है तथा Salam panja ke fayde और नुकसान तथा पुरुषों को क्यों सालम पंजा का सेवन जरूर करना चाहिए। Salam panja एक बहुत ही गुणकारी वनौषधि है इसका सेवन शारीरिक शक्ति व यौन शक्ति बढ़ाने किया जाता है। सालम पंजा शरीर को तुरंत ऊर्जा देने का काम करता है क्योंकि यह अत्यंत पौष्टिक होता है। जानते है Salam panja benefits सालम पंजा के फायदे, औषधीय गुण और सेवन कैसे करें।

सालम पंजा एक पहाड़ी इलाकों में पाई जाने वाली सेहत के लिए बहुत ही फायदेमंद जड़ी बूटी है। सालम पंजा बहुत से पोषक तत्वों और औषधीय गुणों से भरपूर होता है कई प्रकार की स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं का उपचार करने के लिए सालम पंजा का उपयोग (Salam panja uses) किया जाता है इसे सालम मिश्री (Salam mishri) के नाम से भी जाना जाता है। यह मर्दाना ताकत बढ़ाने की बहुत ही कारगर जड़ी बूटी है।

Salam panja ke fayde

सालम पंजा को पंसारी की दुकान से आसानी से खरीद के प्रयोग किया जा सकता है। यह एक शक्तिशाली औषधि है इसका उपयोग वीर्य और शक्तिवर्धक, इम्यूनिटी व पाचन सिस्टम को मजबूती प्रदान करने वाली एक बहुत ही पौष्टिक औषधि के रूप में होता है। आयुर्वेद की अनेक औषधियों व यूनानी चिकित्सा पद्धति में बहुत सी दवाओं में सालम पंजा का इस्तेमाल किया जाता है।

सालम पंजा क्या है : Salam panja kya hota hai

सालम पंजा को गढ़वाली, हित्तजड़ी, हिंदी आदि नामों से जाना जाता है। यह कुल ऑर्किडेसी प्रजाति का सदस्य है। सालम पंजा का वानस्पतिक नाम डेक्टाराइजा हाटागारिया (Dactylorhiza hatagirea) है। यह पौधा अत्यधिक हिमपात के बाद भी खड़ा रहता है। यह पौधा जम्मू कश्मीर से लेकर नेपाल तक पाया जाता है Salam panja plant की ऊंचाई 20 से 30 सेंटीमीटर तक होती है।

इस पौधे में एक कन्द होता है। मातृकंद सिकुड़ा हुआ पंजे के आकार का व पीले रंग का होता है। इस पौधे की पत्तियां (Salam panja leaves) लंबी शंकरी व समांतर किनारों वाली होती है जून से दिसंबर माह में इस पौधें पर हल्के जामुनी रंग के फूल आते हैं तथा इसका फल हल्के गुलाबी रंग का होता है।

सालम पंजा के औषधीय गुण : Salam panja me poshak tatva

सालम पंजा के कंद अत्यंत पौष्टिक, शक्तिवर्धक, वीर्य वर्धक तथा गर्म तासीर के व वात नाशक होते हैं। इसके कंदो में म्यूसिलेज, स्टार्च, शर्करा, नत्रजन युक्त पदार्थ, फास्फेट इत्यादि बहुतायत में पाए जाते हैं। सालम पंजा में प्रोटीन, फास्फेट, पोटेशियम, क्लोराइड आदि मौजूद होते हैं यह सभी तत्व स्वास्थ्य के लिए बहुत ही लाभकारी होते हैं।

Salam panja (सालम पंजा) का इस्तेमाल समुंदर में लंबी यात्रा के दौरान अधिकतर लोगो द्वारा किया जाता है इसके सेवन से कफ के रोग, रक्त विकार, रक्त पित्त जैसे अनेक रोगों से बचाने में लाभदायक होता है। सालम पंजा एक प्राकृतिक एंटीऑक्सीडेंट का अच्छा स्रोत है इससे शरीर का इम्यून सिस्टम मजबूत होकर शरीर स्वस्थ व निरोगी रहता है।

सालम पंजा के फायदे / Salam panja ke fayde

  • यह शरीर में ताकत बढ़ाने वाला होता है
  • सालम पंजा मास की वृद्धि करता है
  • महिलाओं में कमजोरी दूर करता है
  • सालम पंजा यौन शक्ति बढ़ाता है
  • यह बलवर्धक व वीर्य वृद्धि करने वाला होता है
  • सालम पंजा पेट संबंधी रोगों में लाभकारी होता है

पुरुषों के लिए सालम पंजा के फायदे

आजकल की जीवन शैली में बदलाव व उचित खानपान नहीं होने के कारण पुरुषों में यौन संबंधी समस्या जैसे शीघ्रपतन, धातु रोग, यौन इच्छा में कमी, नपुंसकता, स्वप्नदोष आदि समस्याएं एक आम समस्या बनती जा रही है। इसलिए सेक्स संबंधी समस्याओं से छुटकारा पाने के लिए सालम पंजा बहुत ही कारगर जड़ी बूटी है। 

इसके लिए 100 ग्राम सालम पंजा लेकर पीसकर महीन चूर्ण बना लें तथा इसमें 100 ग्राम सफेद मूसली और 100 ग्राम काली मूसली का चूर्ण मिलाकर किसी कांच के पात्र में रख लें। इस औषधि को आधा चम्मच की मात्रा में सुबह शाम मिश्री मिले हुए मीठे गुनगुने दूध के साथ सेवन करने से पुरुषों में होने वाली तमाम तरह की समस्याओं से छुटकारा मिलता है और यौन शक्ति में वृद्धि होती है।

  • क्या आप कम कीमत में घर बैठे सालम पंजा मंगवाना चाहते है अगर हाँ तो निचे दिए बटन पर अभी क्लिक करें

यौन दुर्बलता दूर करने में सालम पंजा के फायदे

यौन दुर्बलता दूर करने के लिए 100 ग्राम सालम पंजा के चूर्ण में 50 ग्राम बरगद के फलों का चूर्ण, 200 ग्राम बादाम गिरी का चूर्ण तथा 100 ग्राम मिश्री मिलाकर रोजाना सुबह-शाम 10 ग्राम की मात्रा में मीठे दूध के साथ सेवन करने से लाभ मिलता है और मर्दाना ताकत बढ़ती है।

कामोत्तेजना वृद्धि में सालम पंजा का प्रयोग

सालम पंजा, सफेद मूसली व काली मूसली तीनों औषधियों को बराबर मात्रा में लेकर हमाम्मदस्ते में अच्छे से कूटकर महीन चूर्ण बनाकर कांच की शीशी में डालकर रखें तथा नियमित सुबह नाश्ता करने के बाद और रात को सोने से पहले मीठे दूध के साथ सेवन करने से शीघ्रपतन, स्वपनदोष, धातु दुर्बलता से छुटकारा मिल कर कामोत्तेजना में वृद्धि होती है।

धातु रोगों में सालम पंजा के फायदे

एक चम्मच सालम पंजा के चूर्ण को डेढ़ सौ मिली लीटर पानी या दूध में अच्छे से उबालकर मिश्री या शक्कर मिलाकर नियमित पीने से शरीर में शक्ति व स्फूर्ति बनी रहती है तथा धातु की वृद्धि होती है। धातु रोग दूर करने के लिए सालम पंजा के पाउडर में बराबर मात्रा में मूसली और शतावर मिलाकर मीठे और ठंडे दूध का साथ नियमित सेवन करने से फायदा होता है।

महिलाओं के लिए सालम पंजा के फायदे

महिलाओं में अक्सर होने वाली श्वेत प्रदर की समस्या से छुटकारा दिलाने में सालम पंजा का उपयोग लाभकारी हो सकता है। इसके लिए Salam panja में कुछ औषधियों को मिलाकर एक विशेष औषधि तैयार करने की आवश्यकता होती है। 

इसके लिए सलाम पंजा के साथ सफेद मूसली, शतावरी तीनों को बराबर मात्रा में मिलाकर कूटकर चूर्ण बना लें। इस चूर्ण की एक छोटे चम्मच की मात्रा में सुबह शाम मिश्री वाले मीठे दूध के साथ नियमित करने सेवन करना फायदेमंद होता है। इस औषधि का कुछ दिन लगातार सेवन करने से श्वेत प्रदर के कारण महिलाओं में आई हुई कमजोरी की समस्या भी दूर होने लगती है।

प्रसव के बाद कि कमजोरी दूर करने में सालम पंजा

महिलाओं में प्रसव के बाद होने वाली कमजोरी, शारीरिक दुर्बलता दूर करने के लिए सालम पंजा व पिप्पली को कूट पीस कर चूर्ण बनाकर नियमित सुबह शाम दूध के साथ सेवन करने से शारीरिक दुर्बलता दूर होती है और शरीर में ऊर्जा की वृद्धि होती है।

दुबलापन दूर करने के लिए सालम पंजा

अक्सर लोग दुबलेपन की समस्या से परेशान रहते हैं लेकिन क्या आप जानते हैं शरीर का दुबलापन दूर करने में Salam panja बहुत ही फायदेमंद माना जाता है। शरीर की कमजोरी दूर करके शरीर को बलशाली व हट्टा कट्टा बनाने के लिए नियमित सालम पंजा के चूर्ण का सुबह शाम दस ग्राम की मात्रा में दूध में मिलाकर साथ में मिश्री मिलाकर सेवन करने से लाभ मिलता है।

जोड़ों व मांसपेशियों के लिए सालम पंजा के फायदे

मांसपेशियों की कमजोरी, खिंचाव, दर्द तथा जोड़ों में दर्द  व सूजन जैसी समस्याओं से छुटकारा पाने के लिए सालम पंजा में बराबर मात्रा में पिप्पली के चूर्ण को मिलाकर नियमित आधा-आधा चम्मच दिन में दो बार दूध या पानी के साथ सेवन करने से फायदा मिलता है।

क्षय रोग में सालम पंजा के फायदे

टी बी यानी क्षय रोग से राहत पाने के लिए सालम पंजा का सेवन करना फायदेमंद है। इसके लिए सालम पंजा को कूटकर पाउडर (Salam panja powder) बनाकर आधा-आधा चम्मच की मात्रा में छाछ या दही के साथ दिन में तीन बार (सुबह दोपहर शाम) नियमित कुछ दिन सेवन करने से टी बी यानी क्षय रोग ठीक होता है।

Salam panja ke fayde

सालम पंजा के उपयोग : Salam panja uses in hindi

यह सेहत के लिए बहुत ही गुणकारी और फायदेमंद जड़ी बूटी है Salam panja का सेवन करने के अनेक स्वास्थ्य लाभ होते है इसलिए इसके ऊपर बताये गए फायदों के साथ साथ और भी फायदे और उपयोग होते है।

  • आंतों की दुर्बलता दूर करने व आंतों की सूजन की समस्या से छुटकारा दिलाने में सालम पंजा का नियमित सेवन फायदेमंद होता है।
  • पेट से संबंधित तमाम तरह के रोगों से छुटकारा दिलाने, गैस, एसिडिटी, अल्सर आदि रोगों में सालम पंजा लाभदायक होता है।
  • यह मानसिक दुर्बलता, तंत्रिका तंत्र संबंधी समस्याएं, थकावट, शरीर में दर्द, कमजोरी आदि से राहत दिलाने में बहुत ही उपयोगी औषधि होती है।
  • वात रोगों से छुटकारा पाने के लिए सलाम पंजा और पीपल के फल को छाया में सुखाकर दोनों का चूर्ण बनाकर सुबह शाम मीठे दूध के साथ सेवन करने से फायदा होता है।
  • लंबे समय तक समुद्र में रहने के दौरान विटामिन सी, विटामिन डी की कमी के साथ साथ अन्य बीमारियों से बचाने में सालम पंजा के एक एक चम्मच चूर्ण का सुबह शाम नियमित सेवन लाभकारी होता है।
  • इसका इस्तेमाल करके शरीर के लिए गुणकारी आयुर्वेदिक दवाओं का भी निर्माण किया जाता है।

सालम पंजा का सेवन कैसे करें : Salam panja ka sevan kaise kare

सालम पंजा का इस्तेमाल विभिन्न तरीकों से किया जा सकता है। इसका उपयोग अकेला भी लिया जा सकता है और विभिन्न द्रव्यों के साथ भी मिलाकर इसका सेवन किया जाता है। सालम पंजा के चूर्ण को गर्म दूध या गुनगुने पानी के साथ इस्तेमाल किया जा सकता है। सालम पंजा का सेवन करने के लिए उचित मात्रा 6 ग्राम से लेकर 12 ग्राम प्रतिदिन होती है।

सालम पंजा के नुकसान : Side effects of salam panja

सालम पंजा के फायदों के साथ-साथ इसका सेवन करने से कुछ नुकसान भी होते हैं। सालम पंजा का सेवन अगर उचित मात्रा में किया जाए तो उसके नुकसान की संभावना ना के बराबर है लेकिन अगर अधिक मात्रा में इसका सेवन किया जाए तो यह स्वास्थ्य के लिए हानिकारक होता है।

सालम पंजा का इस्तेमाल करने से कुछ लोगों में एलर्जी की समस्या हो सकती है। इसलिए जिन लोगों को एलर्जी हो उनको इसका सेवन करने से पहले चिकित्सक से परामर्श अवश्य करना चाहिए।

अधिक मात्रा में सालम पंजा का सेवन करने से पेट खराब रहने जैसी समस्याएं या कब्ज की समस्या हो सकती है। साथ ही इसके अधिक सेवन से आंतों में सूजन व इंफेक्शन जैसी समस्याएं होने का भी खतरा बना रहता है।

निष्कर्ष

आज की लेख में हमने जाना Salam panja kya hai तथा सालम पंजा के फायदे और उपयोग कैसे किया जाता है और सालम पंजा का सेवन करने के क्या नुकसान है इसलिए इस लेख के बारे में आपके कोई भी सवाल या सुझाव हो तो नीचे कमेंट में लिख सकते हैं।

यह आर्टिकल सालम पंजा के फायदेSalam panja ke fayde आपको कैसा लगा कमेंट में जरूर बताना और लेख को अपने परिवार के लोगो व दोस्तों के साथ शेयर भी जरूर करना।

-: लेख को अंत तक पढ़ने के लिए धन्यवाद :-

Related posts

घर बैठे कम कीमत में सालम पंजा मंगवाने के लिए अभी ऑर्डर करें

Share This Product

Leave a Comment