Safed musli क्या है सफेद मूसली के अद्भुत फायदे और उपयोग

सफेद मूसली के फायदे : Safed musli benefits in hindi

शक्तिवर्धक जड़ी बूटियों में से एक है सफेद मूसली इस औषधि यानि Safed Musli का इस्तेमाल शारीरिक कमजोरी दूर करके शारीरिक शक्ति बढ़ाने में किया जाता है। आयुर्वेद चिकित्सा पद्धति में सफेद मूसली का प्रयोग स्वास्थ्य के लिए बहुत गुणकारी माना गया है। Safed musli डायबिटीज, गठिया, जोड़ दर्द, यूटीआई प्रॉब्लम जैसी अनेक समस्याओं को दूर करने में कारगर औषधि होती है जानते है Safed musli के चमत्कारी फायदे क्या है।

इस औषधि यानि Safed Musli का प्रयोग प्राचीन समय से आयुर्वेदिक औषधियों, यूनानी व होम्योपैथी चिकित्सा पद्धति में प्रमुखता से किया जाता रहा है। मूसली को पुरुषों व महिलाओं के लिए बहुत ही फायदेमंद जड़ी बूटी माना जाता है।

आयुर्वेद के अनुसार मूसली (Muesli) वात व पित्त नाशक होती है तथा इसके सेवन से कफ दोष बढ़ता है इसलिए जिन लोगों को कफ़ संबंधी समस्या है उनको मूसली का सेवन करने से बचना चाहिए। Safed musli को कामोत्तेजक गुणों से भरपूर माना जाता है। यौन विकार जैसे शीघ्रपतन, नपुसंकता, मर्दाना कमजोरी आदि दूर करने के लिए इसका इस्तेमाल प्रमुखता से किया जाता है।

सफेद मुसली क्या है : What is safed musli in hindi

यह Safed musli अत्यंत पौष्टिक और एक चमत्कारिक औषधि होती है यह जंगलों में पाई जाने वाली एक दुर्लभ जड़ी बूटी होती है। इसके पौधे में सफेद रंग की फूल होते हैं इसे व्हाइट गोल्ड के नाम से भी जाना जाता है।

यह औषधि वियाग्रा का प्राकृतिक विकल्प होती है। Safed musli का वनस्पतिक नाम क्लोरोफाइटम बोरीविलियेनम होता है। सफेद मूसली का उत्पादन केवल भारत में ही होता है तथा इसके बीज और जड़ का अधिक उपयोग किया जाता है।

सफेद मूसली में पोषक तत्व : Safed musli nutrition

सफेद मूसली का पूरा पौधा ही औषधीय गुणों का खजाना है लेकिन इसकी जड़े सबसे ज्यादा गुणकारी मानी जाती है। सफेद मूसली की जड़े खनिज तत्वों व विटामिन्स से भरपूर होती है, इसकी जड़ों में कार्बोहाइड्रेट, फाइबर, सैपोनिन्स, प्रोटीन आदि पोषक तत्व प्रमुखता से पाए जाते हैं। सफेद मूसली मैग्नीशियम, पोटेशियम, कैल्शियम जैसे खनिज तत्वों से भी भरपूर होती है।

Contents

सफेद मूसली की जड़ों के साथ-साथ Safed musli के बीजों का प्रयोग भी अनेक आयुर्वेदिक औषधियों में किया जाता है। इसके साथ ही मूसली का प्रयोग मधुमेह, नपुसंकता, धातु रोग, अर्थराइटिस, कैंसर जैसी स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं के इलाज में भी किया जाता है।

सफेद मूसली के स्वास्थ्य लाभ : Safed musli ke fayde

  • पुरुषों की किसी भी प्रकार की कमजोरी दूर करने में मूसली फायदेमंद है
  • प्रसूता महिलाओं के लिए मूसली का सेवन लाभकारी होता है
  • रोगप्रतिरोधक क्षमता को मजबूत करती है
  • शरीर का वजन बढ़ाने में मददगार होती है
  • मूसली बॉडी स्टैमिना बढ़ाने में लाभदायक होती है
  • शरीर में होने वाले किसी भी प्रकार के दर्द से छुटकारा दिलाती है
  • कैंसर जैसी खतरनाक बीमारी से बचाने में मूसली सहायक होती है।

पुरुषों के लिए सफेद मुसली के फायदे : Safed musli benefits for male

पुरुषों की शारीरिक शक्ति बढ़ाने के लिए तथा यौन समस्याओं से छुटकारा पाने के लिए मूसली को बहुत लाभकारी जड़ी-बूटी माना गया है। पुरुषों में होने वाली मर्दाना कमजोरी, शीघ्रपतन, नपुंसकता, धातु रोग जैसी समस्याओं से छुटकारा पाने के लिए सफेद मूसली का नियमित सेवन करना फायदेमंद होता है।

साथ ही यह उत्तेजक जड़ी बूटी होने के कारण शिथिलता दूर करने में भी मददगार होती है। किसी भी प्रकार की शारीरिक कमजोरी को दूर करने के गुण इस औषधि में मौजूद होते हैं। श्वेत मूसली एंटी इन्फ्लामेट्री (Anti-inflammatory) गुणों से भी भरपूर होती है इसलिए मूसली का सेवन करने से टेस्टोस्टेरोन हार्मोन के स्तर में बढ़ोतरी होती है।

मूसली में एस्ट्रिंजेंट, स्टिमुलेट, टॉनिक, अफरोडीसीएक, एमेटिक और देमुलसेंट गुण मौजूद होते है। इसलिए यह शरीर में उत्तेजना को जगाती है।

इसे भी पढ़ें – पुरुषो के लिए बेहद गुणकारी है सालम पंजा जानिए इसके फायदे और उपयोग

महिलाओं के लिए सफेद मूसली के फायदे : Safed musli benefits for woman

प्रसूता महिलाओं के लिए भी मूसली का सेवन लाभकारी होता है। बच्चों को दूध पिलाने वाली महिलाओं में दूध बढ़ाने के लिए मूसली का प्रयोग किया जा सकता है क्योंकि इसमें दूध बढ़ाने के गुण मौजूद होते हैं। इसके लिए सफेद मूसली की जड़ का पाउडर बनाकर दूध के साथ नियमित सेवन करने से ब्रेस्ट मिल्क में बहुत जल्द बढ़ोतरी होती है।

महिलाओं में होने वाली मुख्य समस्याओं में एक है लिकोरिया और लिकोरिया से राहत दिलाने में मूसली को काफी गुणकारी माना गया है। क्योंकि इसमें एंटीमाइक्रोबियल्स गुण पाए जाते हैं इसलिए यह वेजाइनल डिस्चार्ज के कारण होने वाले फंगस को बढ़ने से रोकने में काफी सहायक होता है। इसके लिए मूसली पाऊडर, बीज, अर्क का उपयोग फायदेमंद माना जाता है।

सफेद मूसली के स्वास्थ्य लाभ और औषधीय गुण : Safed musli ke fayde

इम्यून सिस्टम मजबूत करने में सफेद मूसली

शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत करने के लिए मूसली को काफी फायदेमंद माना जाता है। इसके सेवन से मौसम में बदलाव के कारण होने वाले सामान्य सर्दी, खांसी, जुखाम के साथ-साथ अनेक प्रकार के संक्रामक रोगों से बचाने में भी मूसली सहायक होती है। रोजाना दूध या पानी के साथ मूसली का सेवन करने से सेहतमंद रहने में मदद मिलती है और बीमारियों का खतरा काफी कम होता है।

बॉडी स्टैमिना बढ़ाने में सफेद मूसली

शारीरिक स्टेमिना बढ़ाने के लिए सफेद मूसली का इस्तेमाल बहुत ही लाभकारी होता है। इसके लिए नियमित इसका इस्तेमाल दूध के साथ करने से शरीर बलशाली व ताकतवर बनता है जो लोग जिम में एक्सरसाइज आदि करते हैं या जो लोग किसी गेम का हिस्सा या एथलीट है उनके लिए सफेद मूसली का नियमित सेवन करना बहुत फायदेमंद माना जाता है। क्योंकि इसके इस्तेमाल से शरीर की ऊर्जा और शारीरिक स्टैमिना में वृद्धि होती है।

वजन बढ़ाने के लिए सफेद मूसली

दुबले पतले लोगों या जिनका वजन नहीं बढ़ता उन लोगों को मूसली का नियमित दूध के साथ सेवन अवश्य करना चाहिए क्योंकि मूसली को ताकत बढ़ाने वाली औषधि के साथ-साथ वजन बढ़ाने में भी उपयोगी माना गया है।

जिन लोगों का वजन अधिक है या मोटापा है उनके लिए भी मूसली का सेवन फायदेमंद माना जाता है क्योंकि इसका सेवन गुनगुने पानी के साथ करने से शरीर का वजन घटता भी है और इसका दूध के साथ सेवन करने से शरीर का वजन बढ़ता है इसलिए जिनको वजन घटाना हो वह भी इसका इस्तेमाल कर सकते हैं और जिनको वजन बढ़ाना हो वह भी इसका सेवन कर सकते हैं।

जोड़ दर्द में सफेद मूसली के फायदे

जोड़ों में दर्द, मांसपेशियों में सूजन या बढ़ती उम्र के कारण होने वाला घुटने का दर्द, कमर दर्द आदि से राहत दिलाने में भी सफेद मूसली सहायक होती है। शरीर में या जोड़ों में किसी भी प्रकार का दर्द हो चाहे किसी चोट का दर्द या उम्र बढ़ने के कारण होने वाला दर्द हो इसके लिए मूसली का इस्तेमाल काफी राहत दिला सकता है।

इसके लिए आधा चम्मच मुसली पाउडर को दूध या पानी के साथ भोजन करने के पश्चात नियमित सेवन करना लाभकारी होता है।

मधुमेह रोग में मूसली के फायदे

सफेद मूसली का नियमित सेवन डायबिटीज का इलाज करने में सहायक होता है एंटीऑक्सीडेंट्स से भरपूर मूसली ग्लूकोज की मात्रा को कम करने में मददगार होती है।

ब्लड में मौजूद ग्लूकोज के स्तर को कंट्रोल रखने के लिए सफेद मूसली को लाभकारी माना जाता है। सफेद मूसली के अर्क में एंटी डायबिटीज गुण मौजूद होते हैं। इसलिए मधुमेह के रोगी को मूसली अर्क या चूर्ण का नियमित सेवन करने से काफी फायदा होता है।

कैंसर रोग के खतरे से बचाये सफेद मूसली

आजकल तेजी से फैल रही कैंसर की बीमारी से बचाने के गुण भी सफेद मुसली में मौजूद होते हैं। इसका सेवन करने से कैंसर के खिलाफ शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता विकसित होती है और कैंसर कोशिकाओं को बढ़ने से रोकने में यह बहुत मददगार होती है। इसलिए नियमित मूसली चूर्ण का सेवन करने से कैंसर से बचाने में मदद मिलती है।

safed musli ke fayde

सफेद मूसली का सेवन कैसे करें : Safed musli uses in hindi

मूसली सेहत के लिए फायदेमंद तो है लेकिन Safed musli ke fayde तभी होंगे जब इसे सही तरीके से इस्तेमाल किया जाए। जानिए इसका उपयोग करने के सही तरीके क्या है।

  • पुरुषों की किसी भी प्रकार की कमजोरी दूर करने के लिए रोजाना सुबह और शाम दूध के साथ सफेद मुसली पाउडर या कैप्सूल का सेवन करना फायदेमंद होता है।
  • इसको सुबह-शाम खाना खाने के बाद गुनगुने दूध या पानी के साथ सेवन किया जा सकता है।
  • मूसली चूर्ण को दूध या पानी के साथ मिलाकर सेवन कर सकते हैं।
  • बाजार में मिलने वाले मूसली पाक, टेबलेट्स, कैप्सूल आदि का उपयोग भी किया जा सकता है।
  • इसके पाउडर को शहद के साथ भी ले सकते हैं।
  • मूसली को अच्छे से पीसकर इसमें जायफल व मिश्री को पीसकर मिलाकर दूध के साथ सेवन करने से प्रमेह रोग दूर होता है।

मूसली के सेवन की सही मात्रा व्यक्ति के स्वास्थ्य और उम्र पर निर्भर करती है। इसकी अधिकतम मात्रा 10 ग्राम तक है। इसलिए इसके बारे में और अधिक जानने के लिए डायटीशियन या डॉक्टर की मदद लें सकते हैं।

सफेद मुसली घर बैठे मंगवाने के लिए दिए गए बटन पर क्लिक करें –

सफेद मूसली के नुकसान : Side effects of safed musli in hindi

मूसली का नियमित सेवन करने से स्वस्थ व्यक्ति में इसके नुकसान की संभावना कम होती है लेकिन अगर किसी को कोई बीमारी या किसी प्रकार की दवाओं का सेवन करने वाले लोगों को Safed Musli का सेवन करने पहले योग्य वैद्य या चिकित्सक से परामर्श ले लेना चाहिए।

जिन लोगों का शुगर कम रहता है उनको मूसली का सेवन करने से बचना चाहिए क्योंकि यह रक्त में मौजूद शुगर के स्तर को और कम कर सकती है।

जिनको पेट संबंधी समस्याएं या पाचन तंत्र के अधिक कमजोर होने जैसी समस्या है या किसी को एलर्जी की या आंतों से जुड़ी कोई बीमारी है उनको सफेद मूसली का इस्तेमाल करने से पहले चिकित्सक से परामर्श कर लेना चाहिए।

FAQ

Q 1. सफेद मूसली कितने दिनों में असर दिखाती है?

Ans रोजाना सही तरीके से और सही समय पर मूसली का सेवन करने पर यह अपना प्रभाव 7 दिनों में दिखाना शुरू कर देती है। शरीर की ऊर्जा बढ़ाने के लिए मूसली को बेहद गुणकारी माना जाता है इसलिए इसका सेवन शुरू करने के कुछ दिन में यह अपना पूर्ण प्रभाव दिखाना शुरू कर देती है।

Q 2. क्या सफेद मूसली का कोई साइड इफेक्ट होता है?

Ans सीमित मात्रा में मूसली का सेवन करने के ज्यादा कोई नुकसान नहीं है लेकिन लो शुगर से ग्रसित रोगियों में मूसली का सेवन शुगर के स्तर को और कम कर सकता है इसलिए लो शुगर में इसका सेवन करने से बचना चाहिए।

निष्कर्ष

आज के इस लेख में हमने जाना सफेद मूसली क्या है इस में पाए जाने वाले पोषक तत्व और औषधीय गुण कौन-कौन से हैं तथा मूसली के फायदे Safed musli ke fayde और इसका सेवन करने के तरीके क्या है। इस लेख के बारे में आपके कोई भी सवाल यह सुझाव हो तो कमेंट बॉक्स में जरूर लिखें।

दोस्तों उम्मीद करते है आपको यह लेख सफेद मूसली के फायदेSafed musli Benefits जरूर पसंद आया होगा, कॉमेंट बॉक्स में बताएं तथा पोस्ट को अपने परिवार और दोस्तों के साथ शेयर भी करें।

-: लेख को अंत तक पढ़ने के लिए धन्यवाद :-

इन्हें भी पढ़ें –

Share This Product

Leave a Comment