किशमिश खाने के फायदे उपयोग और नुकसान | Raisins benefits in hindi

Kishmish क्या है [Raisins in hindi] किशमिश के फायदे (Raisins benefits), गुण, पोषक तत्व, उपयोग, नुकसान और किशमिश खाने का तरीका (kishmish benefits)

किशमिश खाने में अत्यधिक स्वादिष्ट होने के साथ-साथ अनेक पोषक तत्वों व औषधीय गुणों से भी भरपूर होती है रोज किशमिश खाने से शारीरिक और मानसिक विकास बेहतर होता है। इस लेख में जानेंगे Kishmish Benefits ,रोज किशमिश खाना शरीर के लिए क्यों फायदेमंद या Raisins benefits है तथा रोज कितनी मात्रा में किशमिश खानी चाहिए और किशमिश कब और कैसे खाएं। जानें Raisins benefits यानि रोज किशमिश खाने के फायदे

रोजाना किशमिश को किसी भी रूप में खाने से शरीर को अनेक फायदे Raisins benefits मिलते हैं इसलिए अपनी नियमित डाइट में किशमिश को अवश्य शामिल करना चाहिए क्योंकि किशमिश सबसे सस्ते और सुलभ ड्राई फ्रूट्स कि श्रेणी में आती है।

भारतीय घरों में जब भी कोई मीठा व्यंजन बनाया जाता है तो उसमें किशमिश का उपयोग अवश्य किया जाता है क्योंकि यह स्वाद बढ़ाने के साथ-साथ स्वास्थ्य के लिए भी गुणकारी होती है। रोज किशमिश खाने से बॉडी एनर्जिक रहती है। किशमिश का नियमित सेवन करने से शरीर में जबरदस्त फायदे यानि Raisins benefits होते हैं सम्पूर्ण जानकारी के लिए अंत तक जरूर पढ़ें।

Raisins benefits in hindi
Kishmish benefits

किशमिश के फायदे सेवन कैसे करें [Raisins benefits in hindi]

  • पुरुषों के लिए किशमिश के फायदे
  • भीगी हुई किशमिश खाने के फायदे
  • खाली पेट किशमिश खाने के फायदे
  • दूध में किशमिश खाने के फायदे
  • कमजोरी दूर करने के लिए किशमिश
  • एनीमिया रोग में किशमिश के फायदे
  • हृदय के लिए फायदेमंद किशमिश
  • डायजेस्टिव सिस्टम के लिए किशमिश
  • हड्डियों के लिए किशमिश के फायदे
  • स्किन के लिए किशमिश
  • किशमिश का सेवन कैसे करें
  • किशमिश खाने के नुकसान

किशमिश क्या है (What is raisins)

अंगूर को सुखाकर किशमिश का निर्माण किया जाता है किशमिश एक फ़ारसी शब्द होता है। इसको दाख या मुनक्का भी कहा जाता है। अंग्रेजी में किशमिश को Raisins कहा जाता है। सभी प्रकार के अंगूरों से भिन्न भिन्न प्रकार की किशमिश बनाई जाती है इसके लिए अंगूर को लगभग तीन सप्ताह तक सुखाया जाता है लेकिन आजकल टेक्नोलॉजी के कारण यह काम मशीनों द्वारा भी किया जाने लगा है क्योंकि मशीनों से समय की बचत के साथ मैन पावर भी कम लगती है।

Contents

किशमिश के प्रकार (Type of raisins in hindi)

वैसे तो किशमिश अनेक प्रकार की होती है और सभी तरह की किशमिश के स्वास्थ्य के लिए उतने ही फायदे (Kishmish benefits) होते है लेकिन मुख्यतः इसके तीन प्रकारों का प्रयोग अधिक किया जाता है जैसे

गोल्डन किशमिश

यह किशमिश बीज रहित हरे रंग के गोल-गोल अंगूरों को सुखा करके बनाई जाती है तथा इसको बनाने के दौरान सूखने से पहले इनको एक तैलीय सलूशन में डीबोया जाता है। इसलिए इसका रंग गोल्डन होता है यह स्वाद में अत्यंत मीठी होती है।

काली किशमिश

इस किशमिश को बनाने के लिए काले अंगूरों का प्रयोग किया जाता है इसे जांटे करंट भी कहा जाता है। काले अंगूरों को लगातार तीन हफ्ते तक सुखा कर काली किशमिश बनाई जाती है। यह आकार में छोटी और स्वाद में खट्टी मीठी सी होती है।

भूरी किशमिश

यह किशमिश बनाने के लिए तो इसे वैसे ही तीन हफ्ते तक सुखाया जाता है लेकिन इसको बनाने के लिए विभिन्न प्रकार के देसी अंगूरों का प्रयोग किया जाता है। भूरी किसमिस का आकार, स्वाद तथा इसका रंग प्रयोग किए जाने वाले अंगूरों पर ही निर्भर करता है।

किशमिश में पोषक तत्व (Nutritional Facts of Raisins in hindi)

यह शरीर के लिए आवश्यक सभी तरह के पोषक तत्वों से भरपूर होती है। किशमिश में एंटीऑक्सीडेंट और एंटीबैक्टीरियल गुण मौजूद होते हैं। किशमिश में उच्च मात्रा में फाइबर, आयरन और प्रोटीन मौजूद होता है। नियमित तौर पर किशमिश का इस्तेमाल करने से शरीर में कैल्शियम, विटामिन्स, मिनरल्स, आयरन, प्रोटीन, विटामिन बी6, पोटेशियम, कॉपर आदि तत्वों को आसानी से पूरा किया जा सकता है।

इसमें हेल्दी फैट के साथ साथ विटामिन ई भी पाया जाता है। इसमें पाए जाने वाले इन्ही पोषक तत्वों के कारण सेहत के लिए किशमिश के फायदे (kishmish benefits) अनगिनत होते है।

किशमिश खाने के फायदे [Kishmish khane ke fayde]

शारीरिक कमजोरी दूर करें किशमिश

हमारे शरीर के लिए आवश्यक सभी तरह के पोषक तत्वों से भरपूर किशमिश का रोज सेवन करने से शारीरिक शक्ति बढ़ती है और सेक्स लाइफ बेहतर होती है। किशमिश का उपयोग लगातार करने से शरीर में टेस्टोस्टेरोन हारमोंस की वृद्धि होती है।

इसके साथ ही किशमिश कार्बोहाइड्रेट का भी प्राकृतिक स्रोत है यह ब्लड ग्लूकोस के स्तर को सामान्य रखती है जिसके कारण बॉडी में ऊर्जा का प्रवाह बना रहता है। इसलिए किसी प्रकार की Body weakness की समस्या से राहत पाने के किशमिश का किसी भी रूप में सेवन करना लाभकारी सिद्ध होता है।

शरीर का वजन कंट्रोल रखे किशमिश

किशमिश में भरपूर मात्रा में कैलोरी होने के कारण यह  शरीर का वजन बढ़ाने में काफी मदद करती है। Weight gain के लिए किशमिश को भिगोकर खाना या दूध में उबालकर पीना फायदेमंद होता है। इसके अलावा जिन लोगों का वजन अधिक है या मोटापे से ग्रसित है तो उनके लिए भी Kishmish Benefits यानि किशमिश का सेवन करना फायदेमंद हो सकता है क्योंकि किशमिश में डायट्री फाइबर और प्रीबायोटिक तत्व मौजूद होते हैं यह तत्व हमारे पेट में स्वस्थ बैक्टीरिया को पनपने में मदद करते हैं। इसलिए किशमिश खाने से शरीर का वजन संतुलित रहता है।

पाचन सिस्टम मजबूत करे किशमिश

किशमिश में उच्च फाइबर होने के कारण यह डाइजेस्टिव सिस्टम को मजबूत रखने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। भीगी हुई किशमिश का इस्तेमाल रोजाना करने से पाचन तंत्र मजबूत होता है। साथ ही पुरानी से पुरानी कब्ज से परमानेंट छुटकारा मिलता है और मल त्याग करने में आसानी होती है तथा आंतों की अच्छे से सफाई होती है जिससे आंतों कार्यक्षमता बढ़ती है। किशमिश सम्पूर्ण पाचन प्रणाली के लिए लाभदायक मानी जाती है।

हड्डियों को मजबूत करने में किशमिश के फायदे

किशमिश में प्रचुर मात्रा में कैल्शियम मौजूद होने के साथ-साथ हड्डियों के लिए आवश्यक सभी तरह के तत्व भी पाए जाते हैं। इसलिए रोजाना किशमिश का इस्तेमाल करने से हड्डियां, जोड़, मांसपेशियां और दांत मजबूत होते हैं। किशमिश में अच्छी मात्रा में मैग्नीशियम और पोटेशियम होने के कारण शरीर में सूजन, अम्लता को कम करने में भी यह काफी मदद करती है और मांसपेशियों की जकड़न व सूजन कम होती है। भीगी हुई किशमिश में उच्च मात्रा में बोरॉन होने के कारण यह हड्डियों के निर्माण में मुख्य भूमिका निभाती है।

एनीमिया रोग में किशमिश के फायदे

सूखे हुए अंगूर यानि किशमिश में आयरन की अधिकता होने के साथ-साथ अन्य पोषक तत्व की भरपूर मात्रा में मौजूद होते हैं। शरीर में लाल रक्त कोशिकाएं यानि रेड ब्लड सेल्स का निर्माण करने में किशमिश काफी मददगार होती है। इसलिए शरीर में खून की कमी दूर करने या एनीमिया रोग से छुटकारा पाने के लिए किशमिश का नियमित सेवन करना लाभदायक माना गया है। यह ब्लड में हीमोग्लोबिन के स्तर में काफी बढ़ोतरी करती है।

हृदय रोगों के खतरों से बचाए किशमिश

किशमिश का किसी भी रूप में नियमित सेवन करना हृदय रोगों के खतरों से बचाने में बहुत लाभदायक होता है। क्योंकि इसमें अन्य पोषक तत्वों के साथ साथ पोटैशियम की मात्रा भी मौजूद होती है। किशमिश खाने से एलटीएल यानि खराब कोलेस्ट्रोल और ट्राइग्लिसराइड को कम करने में मदद मिलती है और कोलेस्ट्रोल के कारण होने वाले हृदय रोगों का खतरा कम होता है।

रोज किशमिश खाने से दिल मजबूत होता है और हार्ट अटैक, स्ट्रोक, रक्तचाप आदि का खतरा काफी कम होता है। इसके अलावा किशमिश में एल्कलाइन गुण भी पाया जाता है इसलिए यह शरीर में एसिड की मात्रा को सामान्य रखने में मददगार होती है। 

मौखिक स्वच्छता के लिए किशमिश

मुंह में आने वाली बदबू या सांसों की बदबू दूर करने के साथ-साथ मुंह के तमाम तरह के रोगों से बचाए रखने में भी Kishmish काफी मददगार होती है। यह दांतो के स्वास्थ्य के लिए भी फायदेमंद होती है क्योंकि किशमिश में एंटीऑक्सीडेंट के साथ साथ फाइटोकेमिकल्स व ओलिनॉलिक एसिड भी मौजूद होते है इसलिए यह मुंह में पनपने वाले बैक्टीरिया को रोकने में सहायक होती है जिससे दांत व मसूड़े स्वस्थ रहने के साथ मौखिक स्वच्छता भी बरकरार रहती है। यह दांतों की सड़न और कैविटी से भी छुटकारा दिलाने में मददगार होती है।

त्वचा के लिए किशमिश के फायदे 

स्किन की उचित देखभाल करने के लिए किशमिश का नियमित सेवन करना बहुत फायदेमंद होता है क्योंकि किशमिश त्वचा को पोषण प्रदान करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। इसके नियमित सेवन से स्किन की कोशिकाओं को क्षतिग्रस्त होने से बचाया जा सकता है। किशमिश खाने से त्वचा चमकदार बनती है और स्किन सम्बंधी तमाम समस्याओं जैसे दाग धब्बे, पिम्पल्स, मुंहासे, झुर्रियां, ब्लैकहेड्स आदि से राहत पाने में मदद मिलती है क्योंकि यह शरीर में रक्त शुद्धि का काम करती है।

मानसिक स्वास्थ्य के लिए किशमिश के फायदे

किशमिश में उच्च फाइबर, आयरन, प्रोटीन के साथ-साथ अनेक तरह के विटामिंस और मिनरल्स भी मौजूद होते हैं। इसलिए रोज किशमिश खाने से मानसिक स्वास्थ्य बेहतर रहता है तथा हाइपरटेंशन, कमजोर मेमोरी पावर, दिल के रोग जैसे हार्ट अटैक, स्ट्रोक, ब्लड प्रेशर, हाई कोलेस्ट्रॉल की समस्याओं से छुटकारा पाने में मदद मिलती है। जो लोग अनिंद्रा की समस्या से परेशान हैं उनके लिए नियमित किशमिश का सेवन बेहतर नींद में मददगार होता है।

Raisins benefits in hindi
Kishmish khane ke fayde

पुरुषों के लिए किशमिश खाने के फायदे (Kishmish Benefits for male)

पुरुषों के लिए किशमिश बेहद गुणकारी होती है नियमित तौर पर किशमिश को शहद के साथ खाने से स्पर्म काउंट में बढ़ोतरी होती है। शादीशुदा पुरुषों को रोज किशमिश का सेवन करने से शरीर में ताकत बढ़ती है तथा किसी भी तरह की कमजोरी दूर होकर मर्दाना ताकत में भी बढ़ोतरी होती है।

किशमिश में आर्जिनिन होने के कारण यह शुक्राणुओं कि संख्या में बढ़ोतरी करके गुणवत्ता में भी सुधार करती है। यह बॉडी एनर्जी लेवल को बढ़ाकर पुरुषों में स्तंभन दोष से छुटकारा दिलाने और पुरूष बांझपन का उपचार करने सहायक होती है। इसको रोजाना खाने प्रजनन क्षमता बढ़ती है और पुरुषों में बढ़ती उम्र के प्रभाव को कम करने में भी काफी मदद मिलती है। इसमें मौजूद इन्ही आवश्यक तत्वों और औषधीय गुणों के कारण यह मैरिड पुरुषों के लिए बहुत ही गुणकारी और फायदेमंद मानी जाती है|

महिलाओं के लिए किशमिश के फायदे (Kishmish benefits for women)

किशमिश का सेवन महिलाओं के लिए काफी गुणकारी होता है। इसमें पाए जाने वाले पोषक तत्व महिलाओं में अक्सर होने वाली स्वास्थ्य सम्बंधी समस्याएं जैसे खून की कमी, एनीमिया रोग, अनियमित मासिक धर्म, कमजोरी आदि दूर करने में सहायक है। किशमिश का नियमित इस्तेमाल करने से कब्ज व पाचन संबंधी समस्याएं भी दूर होती है। किशमिश में भरपूर मात्रा में कैल्शियम होने के कारण इसको खाने से जोडों का दर्द और आर्थराइटिस प्रॉब्लम से भी छुटकारा मिलता है। इसलिए महिलाओं को नियमित रूप से किसी भी रूम में किशमिश का उपयोग जरूर करना चाहिए।

भीगी किशमिश खाने के फायदे (Benefits of eating soaked raisins)

रोजाना 8 से 10 किशमिश को रात भर पानी में भिगोकर सुबह खाने से बढ़े हुए वजन को कम करने में भी मदद मिलती है तथा शरीर सुडौल और सुंदर बनाने में यह काफी सहायक होती है। भीगी हुई किशमिश खाने से शरीर का इम्यून सिस्टम मजबूत होता है तथा इससे कब्ज की समस्या से छुटकारा मिलता है और पेट भी अच्छे से साफ होता है। भीगी हुई किशमिश बॉडी को संक्रमण या हानिकारक बैक्टीरिया से लड़ने की शक्ति प्रदान करती है।

सुबह खाली पेट किशमिश खाने के फायदे (Raisins benefits for empty stomach)

खाली पेट किशमिश का सेवन करने से शरीर में आवश्यक तत्वों की पूर्ति आसानी से की जा सकती है। किशमिश को रात भर पानी में भिगोकर सुबह खाली पेट इसका नियमित सेवन करने से शरीर में आयरन की कमी दूर होती है। यह विटामिन सी और विटामिन बी का अच्छा स्रोत होती है।

इसलिए रोज सुबह किशमिश खाने से रोगप्रतिरोधक क्षमता काफी मजबूत होती है तथा शरीर को रोगों से बचने या रोगों से लड़ने की शक्ति प्रदान करने में किशमिश बहुत उपयोगी होती है। किशमिश में जीवाणुरोधी व एंटीइंफ्लेमेटरी गुण होने के कारण खाली पेट किशमिश खाने से संक्रामक रोगों का खतरा कम होता है।

दूध में किशमिश खाने के फायदे (Raisins with milk at night benefits in hindi)

अगर दूध के साथ 8 से 10 किशमिश को दूध में उबालकर नियमित रात को सोने से पहले इस्तेमाल किया जाए तो यह शादीशुदा पुरुषों के लिए बेहद फायदेमंद है। क्योंकि यह कामोउत्तेजक गुणों से भरपूर होती है। किशमिश टेस्टोस्टेरोन के स्तर में वृद्धि करके प्रजनन क्षमता को भी बढ़ाती है। यह बॉडी में गर्माहट और एनर्जी भी बढ़ाती है। इसलिए विवाहित पुरुष इसका दूध के साथ उपयोग कर सकते हैं।

किशमिश खाने का सही तरीका (Kishmish khane ka tarika)

किशमिश को किसी भी रूप में सेवन करना स्वास्थ्य के लिए लाभदायक होता है लेकिन अधिक लाभ के लिए अगर किशमिश को रात भर पानी में भिगोकर सुबह खाली पेट किशमिश को चबाकर खाएं और साथ में यह पानी भी पी लिया जाए तो यह और अधिक गुणकारी हो जाती है तथा भीगने से इसमें न्यूट्रिएंट्स के स्तर में भी काफी बढ़ोतरी होती है।

इसके अलावा किशमिश को दूध में उबालकर सेवन करना भी स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद होता है। शहद में 5 – 7 किशमिश डालकर रखें और 3 घण्टे बाद खाना भी सेहत के लिए बेहद गुणकारी होता है।

किशमिश खाने के नुकसान (Side effects of kishmish in hindi)

किशमिश का नियमित सेवन स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद होता है लेकिन इसका सेवन अधिक मात्रा में किया जाता है तो यह कुछ स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं का कारण भी बनती है यानि इसके सेवन से कुछ नुकसान होने की भी संभावना होती है।

  • अधिक मात्रा में किशमिश का इस्तेमाल करने से उल्टी दस्त की समस्या होना स्वभाविक होता है।
  • कुछ लोगों में किशमिश खाने से एलर्जी होने की समस्या का खतरा बना रहता है इससे त्वचा पर खुजली या रैशेज होने की समस्या भी हो सकती है।
  • जो लोग मोटापे की समस्या से ग्रसित हैं वे लोग अगर दूध के साथ किशमिश का सेवन करते हैं तो वजन और बढ़ने का खतरा बना रहता है।
  • किशमिश में उच्च मात्रा में फाइबर होने के कारण इसका अधिक इस्तेमाल मेटाबॉलिज्म सिस्टम के लिए हानिकारक हो सकता है।

FAQ : Raisins benefits के बारे में पूछे जाने वाले सवाल

#1 किशमिश की तासीर कैसी होती है?

इसकी तासीर गर्म होती है इसलिए सर्दियों में किशमिश खाने से शरीर में गर्माहट आती है लेकिन अगर गर्मियों के मौसम में इसका अधिक इस्तेमाल किया जाए तो यह शरीर के लिए नुकसानदेह हो सकती है। इसलिए गर्मी में ज्यादातर इसको पानी में भिगोकर खाने की सलाह दी जाती है।

#2 क्या किशमिश खाना सुरक्षित है?

किशमिश का सेवन अगर संतुलित मात्रा में किया जाए तो यह स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद (Kishmish benefits) और सुरक्षित है लेकिन अधिक मात्रा में किशमिश का सेवन करने से कुछ स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं का खतरा बना रहता है इसलिए किशमिश का सेवन नियमित पांच से दस पीस से अधिक नहीं करना चाहिए।

Kishmish ke fayde

निष्कर्ष

आज हमनें जाना कि किशमिश सेहत के लिए क्यों गुणकारी है, किशमिश में पोषक तत्व और औषधीय गुण, यह कितने प्रकार की होती है, किशमिश के फायदे Raisins benefits और उपयोग तथा किशमिश का सेवन कैसे करें और इससे होने वाले नुकसान कौन कौन से है। इस लेख के बारे में आपके सुझाव और सवाल के लिए कॉमेंट बॉक्स में अवश्य लिखें।

दोस्तों आशा करते हैं आपको यह आर्टिकल Kishmish benefits किशमिश के फायदे जरूर पसंद आया होगा कॉमेंट करके जरूर बताना ताकि ऐसी ही हेल्थ के उपयोगी जानकारियां लिखने के लिए मोटिवेशनल मिलता रहे और पोस्ट को सोशल नेटवर्किंग साइट्स पर शेयर भी कर देना ताकि किसी जरूरतमंद तक जानकारी पहुंच सके।

इस लेख को अंत तक पढ़ने के लिए आपका धन्यवाद

इन्हें भी पढ़े –

Share This Product

में श्रवण बिश्नोई Nirogi Health का Founder और एक Professional Blogger हूँ। में आयुर्वेद चिकित्सा पद्धति पर आधारित स्वास्थ्य से संबधित जानकारियां इस ब्लॉग पर नियमित Publish करता रहता हूँ।

Leave a Comment