Lumpy skin disease | क्या लंपी वायरस से संक्रमित गायों का दूध पी सकते हैं

Lumpi virus disease in hindi

लंपी वायरस के लक्षण बचने के तरीके और Lumpy skin disease कैसे फैलता है

लंपी वायरस यानि Lumpy skin disease से संक्रमित पशुओं के दूध से यह बीमारी कहीं इंसानों में तो नहीं फैल जाएगी, क्या इस बीमारी से संक्रमित गायों का दूध इंसानों के लिए खतरनाक हो सकता है। लोगों को इन गायों का दूध पीना चाहिए या नहीं पीना चाहिए। ऐसे बहुत से सवाल आजकल लोगों द्वारा किए जा रहे हैं। इस लेख में विस्तार से जानेंगे Lumpy skin disease या लंपी स्किन रोग क्या है कैसे फैलता है और लंपी वायरस से संक्रमित पशुओं का दूध पीने से क्या नुकसान है। आइए जानते हैं लंपी रोग क्या है, लक्षण और उपचार Lumpy skin disease in hindi

Lumpy skin disease

Lumpy skin disease क्या है और इससे बचाव कैसे करें

इन दिनों पशुओं में लंपी स्किन डिजीज रोग बहुत तेजी से फैल रहा है। अब तक सैकड़ों पशुओं की मौत हो चुकी है। वही इस बीमारी से ग्रसित पशुओं की संख्या बहुत ज्यादा बताई जा रही है। कई बड़े गौशाला तो खाली होने की कगार पर है।

कुछ विशेषज्ञों व अधिकारियों का कहना है की लंपी रोग यानी गांठदार त्वचा रोग वायरस (एलएसडीवी) नामक संक्रामक रोग इसी वर्ष अप्रेल माह में पड़ोसी देश पाकिस्तान के रास्ते भारत मे पहुंचा है। इस रोग को लेकर पशुपालक बहुत परेशान है।

लंपी रोग के लक्षण क्या है : Lumpy skin disease symptoms

इस लंपी रोग में पशुओं को काफी परेशानी का सामना करना पड़ता है। इस रोग में पशुओं को चलने फिरने में परेशानी होने के साथ-साथ पांवों में सूजन व पूरे शरीर में गांठे होना तथा तेज बुखार जैसी समस्याएं पैदा हो रही है।

आंख व नाक बहना या नाक से खून आना भी इस रोग के मुख्य लक्षण है। इस रोग में पशुओं को खान-पान करने में भी बहुत परेशानी होती है यह एक पशु से दूसरे पशु में फैल रहा है। इस वायरस से संक्रमित पशुओं की दूध देने की क्षमता भी प्रभावित होती है।

लंपी रोग से ग्रसित दूध का इंसानों पर प्रभाव : Lumpy skin disease cow milk in hindi

यह लंपी त्वचा रोग ज्यादातर गायों में एवं दुधारू पशुओं में फैल रहा है। इसलिए लोगों में इसको लेकर डर है कि कहीं इन पशुओं का दूध पीने से उनमें भी इसका असर ना हो जाए, हालांकि इसको लेकर विशेषज्ञों के अलग-अलग मत सामने आ रहे हैं।

लेकिन एम्स के मेडिकल विभाग के डॉक्टर्स के अनुसार इस वायरस से संक्रमित मवेशियों का दूध पीने से इंसानों पर इस रोग का किसी तरह का कोई खतरा नहीं है। लेकिन सावधानी के लिए दूध को अच्छे से उबालकर ही उपयोग करना चाहिए।

विशेषज्ञों का कहना है की इंसानों में यह बीमारी नहीं हो सकती, क्योंकि इंसानों में इस बीमारी से लड़ने के लिए जन्म से ही इम्यूनिटी यानि Immune system मौजूद होती है। लेकिन इंसानों के लिए सबसे बड़ी समस्या यह है की दुधारू पशुओं की बड़ी संख्या में मौत होने से दूध की कमी हो रही है। साथ ही इस रोग के कारण लोगों का रोजगार भी छीन रहा है। क्योंकि इस रोग से ग्रसित पशुओं में इस बीमारी के दौरान दूध देने की क्षमता भी बहुत कम हो जाती है।

यह भी पढ़ें – त्वचा रोग क्या है यह कैसे फैलते है और इनसे बचने के उपाय

लंपी स्किन वायरस का उपचार : Lumpy skin disease treatment in hindi

अभी तक इस रोग का कोई स्थाई समाधान, इलाज या किसी तरह की कोई वैक्सीन नहीं है। इसके उपचार को लेकर तरह-तरह के कयास लगाए जा रहे हैं। पशु चिकित्सक पशुओं को इस बीमारी से राहत दिलाने के लिए इंजेक्शन लगा रहे हैं व दवाई दे रहे है।

दवाओं में ज्यादातर में मल्टीविटामिन व इम्यूनिटी बढ़ाने की दवाई मुख्य रूप से दी जा रही है। क्योंकि यह रोग बीमार या कमजोर इम्युनिटी वाले मवेशियों को जल्दी अपनी चपेट में लेता है। इसलिए इस रोग से पशुओं को बचाने के लिए उनके खानपान, चारे आदि का विशेष ध्यान रखना चाहिए।

लंपी रोग से दुधारू पशुओं का बचाव कैसे करें : Lumpy skin disease prevention in hindi

लंपी वायरस एक से दूसरे पशु के संपर्क में आने से फैलने वाली एक संक्रामक बीमारी है। इसलिए पशुपालकों को इस रोग से सतर्क रहने की आवश्यकता है। इस बीमारी से संक्रमित मवेशियों को स्वस्थ पशुओं के संपर्क में न आने दें तथा एक जगह बांधकर रखें। स्वस्थ पशुओं का समय पर टीकाकरण करवाएं। और पशुओं को फिटकरी, नीम के पत्ते डालकर उबालकर ठंडा होने पर इस पानी से नहलाना चाहिए।

FAQ

Q 1. लंपी स्किन डिजीज कैसे फैलता है?

Ans यह वायरस एलएसडी संक्रमण रोग है यह मक्खियों, मच्छरों, खून चूसने वाले कीड़ों, दूषित जल, लार दूषित चारे और संक्रमित पशुओं के सम्पर्क में आने से फैलता है।

Q 2. लंपी त्वचा रोग क्या है?

Ans लंपी त्वचा रोग एक वायरस जतिन स्किन रोग है जो अधिकतर गौ वंश में फैलता है और इस रोग से पशुओं की मौत के आंकड़े तेजी से बढ़ रहे है सबसे पहले यह तीन साल पहले अफ्रीका से भारत के पश्चिमी बंगाल में आया था अब यह रोग देश के कई राज्यों में महामारी के रूप में फ़ैल रहा है।

निष्कर्ष

इस लेख में हमने जाना पशुओं में तेजी से फैल रहा लंपी स्किन वायरस क्या है और इस रोग Lampy skin disease से संक्रमित पशुओं का दूध पीने से इंसानों पर इसका क्या प्रभाव होता है। इस लेख के बारे में आपके कोई भी सवाल या सुझाव हो तो कमेंट में जरूर लिखें।

यह आर्टिकल लंपी रोग क्या है इसके लक्षण और उपचार – Lumpy skin disease in hindi आपको कैसा लगा कमेंट में बताएं तथा लेख को लोगों के साथ शेयर जरूर करें।

-: लेख को अंत तक पढ़ने के लिए धन्यवाद :-

इन्हें भी पढें

Share This Product

Leave a Comment