Kitchen garden क्या है घर में पोषण वाटिका के फायदे और इसका महत्व

किचन गार्डन के फायदे और इसका महत्व (Vegetable kitchen garden in hindi)

Kitchen gardening in hindi

पोषण वाटिका को गृह वाटिका भी कहते है तथा इंग्लिश में इसे kitchen garden कहा जाता है। Poshan vatika उस वाटिका को कहा जाता है जो हमारे घर के आस-पास ऐसी जगह होती है जहां पारिवारिक श्रम से परिवार के उपयोग के लिए मौसमी सब्जियां व फल उगाए जाते हैं। पोषण वाटिका का मुख्य उद्देश्य परिवार के लोगों का पोषण स्तर बढ़ाना तथा घर में ताजी सब्जियों का उत्पादन करना होता है। इस लेख में जानेंगे Kitchen garden क्या है शरीर को स्वस्थ व निरोगी रखने में पोषण वाटिका का महत्व (kitchen garden importance) और इसके फायदे क्या है kitchen garden ke fayde

शरीर के शारीरिक और मानसिक विकास, स्फूर्ति, शरीर को शक्तिशाली व ताकतवर बनाए रखने तथा अनेक रोगों से बचाए रखने के लिए महत्वपूर्ण तत्वों जैसे प्रोटीन, विटामिन, कार्बोहाइड्रेट, वसा, खनिज लवणों आदि की बहुत आवश्यकता होती है। इन सभी तत्वों की पूर्ति और भोजन को संतुलित व पौष्टिक बनाने के लिए अलग अलग प्रकार की सब्जियों का होना बहुत जरूरी होता है।

Kitchen garden क्या है घर में पोषण वाटिका के फायदे और महत्व

क्योंकि फल और सब्जियां मानव आहार के प्रमुख घटक है तथा एक संतुलित पोषण व संतुलित भोजन के लिए आहार में इनको शामिल करना जरूरी होता है। एक इंसान को स्वस्थ रहने और अपने भोजन को पौष्टिक बनाने के लिए प्रतिदिन 125 ग्राम पत्तेदार सब्जियों, 100 ग्राम जड़ वाली सब्जियों और 76 ग्राम अन्य प्रकार की सब्जियों का सेवन करना जरूरी होता है।

Kitchen garden kya hai / घर में पोषण वाटिका के फायदे 

आज के समय पोषक तत्वों का औसत उपयोग प्रति व्यक्ति काफी कम है। इसलिए भोजन में पोषक तत्वों के अभाव के कारण होने वाली आम समस्याएं जैसे खून की कमी, हड्डियां कमजोर होना, दांतों की समस्याएं, त्वचा का फटना, आंखों से कम दिखाई देना, मुंह में छाले, हाथों व पैरों में झनझनाहट, शारीरिक अंगों का ठीक से विकास न होना, कुपोषण बालों का झड़ना व सफेद होना आदि बहुत से विकार उत्पन्न होते है।

स्वस्थ और निरोगी जीवन जीना हर किसी का सपना होता है। और इस सपने को पूरा करने व स्वस्थ जीवन शैली के लिए रोजाना किया जाने वाला भोजन पौष्टिक व स्वास्थ्यवर्धक होने के साथ साथ कैमिकल्स फ्री होना भी आवश्यक होता है। और इसका सबसे सरल उपाय घर में पोषण वाटिका (Kitchen gardening plants) बनाना होता है।

इसलिए इन सभी स्वास्थ्य सम्बंधी समस्याओं से बचने और शरीर में पोषक तत्वों की पूर्ति करने के लिए अपने घरों में या आसपास की किसी जगह पर Kitchen garden यानी पोषण वाटिका अवश्य बनाएं और उसमें अपनी जरूरत की हर प्रकार की सब्जियां उगाकर स्वस्थ और निरोगी जीवन जी सकते है। निरोगी रहने के लिए

यह भी  पढ़ें – स्वस्थ शरीर और निरोगी जीवन जीने की अच्छी आदतें क्या है

पोषण वाटिका या Kitchen garden बनाने के लिए घर मे या आसपास अगर जगह का अभाव हो तो कुछ मुख्य सब्जियों को गमलों, खाली डिब्बों, बैग्स आदि में घर की छत, बालकनी, सीढ़ियों जैसी किसी भी जगह पर रखकर उगाया जा सकता है। और अपने परिवार के लिए जरूरत अनुसार कुछ सब्जियां पैदा कर सकते हैं।

kitchen garden

ऐसा करके आप न सिर्फ पौष्टिक ताजी व स्वादिष्ट सब्जियां प्राप्त करेंगे बल्कि गृह वाटिका से अपने आसपास का कुछ वातावरण भी प्रदूषण मुक्त रहेगा साथ ही आजकल बाजार में मिलने वाली केमिकल्स युक्त पेस्टिसाइड वाली सब्जियों को खाने से बचने के साथ-साथ इससे होने वाले दुष्प्रभावों व खर्च में भी कुछ कमी कर सकते हैं।

पोषण वाटिका के फायदे (Kitchen garden ke fayde)

घर में पोषण वाटिका यानि Kitchen garden लगाने से हमें पोषक तत्वों से भरपूर खाद्य पदार्थ तो प्राप्त होते ही हैं इससे समय का भी सदुपयोग होता है। साथ ही इससे मानसिक सन्तुष्टि मिलने के साथ अवसाद, तनाव आदि से छुटकारा मिलने के अलावा शरीर को और भी बहुत से फायदे होते हैं जैसे

गृह वाटिका या Kitchen garden में बागवानी करने के दौरान हम सूर्य की रोशनी के सीधे संपर्क में आते हैं जिससे शरीर को विटामिन डी की प्राप्ति होती है और विटामिन डी शरीर को कमजोरी, कैंसर, ह्रदय रोग, डायबिटीज जैसी खतरनाक बीमारियों से बचाने के साथ-साथ और भी बहुत से रोगों से बचाता है। आजकल विटामिन D की कमी एक आम समस्या है। इसलिए इस कि कमी को दूर करने का यह (Kitchen gardening) सबसे सरल और सस्ता उपाय है।

यह भी पढें – विटामिन डी की कमी क्या है और इसको कैसे पूरी करें

बागवानी के दौरान रोजाना मिट्टी से स्पर्श होने से भी शरीर को बहुत से स्वास्थ्य लाभ मिलते हैं। इससे शरीर का इम्यून सिस्टम बेहतर होता है और सामान्य मौसम सम्बंधी बीमारियों से बचने के साथ-साथ बहुत सी बीमारियों से भी शरीर को बचाया जा सकता है। शरीर के मिट्टी के सम्पर्क में आने से बॉडी में ठंडक और ताजगी का अहसास होता है।

सुबह शाम पोषण वाटिका या Kitchen gardening करने के दौरान जब हमारे पैर धरती से संपर्क या स्पर्श होते हैं तब त्वचा का जमीन से संपर्क होने से शरीर में इलेक्ट्रिकल एनर्जी के द्वारा पॉजिटिव इलेक्ट्रोंस जनरेट होता है जो शरीर के लिए बहुत फायदेमंद होता है। इससे शरीर का ब्लड सर्कुलेशन सुचारू होने के साथ साथ आंखों की दृष्टि में भी वृद्धि होती है।

आजकल व्यस्त जीवन शैली और बढ़ती प्रतिस्पर्धा के कारण लोगों में तनाव, चिंता व अवसाद जैसी समस्याएं बढ़ती जा रही है। जिसके कारण शरीर में अनेक बीमारियां जन्म ले रही है। बागवानी इन सभी समस्याओं से बचने का सबसे सरल उपाय है क्योंकि इससे शरीर को मिलने वाला सुकून प्रत्यक्ष रूप से हमारे दिमाग पर असर डालता है। साथ ही इससे ध्यान और दिमाग की एकाग्रता बढ़ती है और इंसान तनाव मुक्त रहता है।

यह भी पढ़ें – मस्तिष्क को हैल्दी रखने और इसकी कार्यक्षमता बढ़ाने के उपाय

गृह वाटिका (Poshan vatika) में बागवानी करने के दौरान शरीर की व्यायाम होती है साथ ही शरीर को ऑक्सीजन की भी प्राप्ति होती है। जिससे शरीर को हेल्दी व निरोग रखने में मदद मिलती है साथ ही इससे होने वाली एक्सरसाइज के कारण मोटापा के साथ अनेक प्रकार की हेल्थ सम्बंधी समस्याओं से भी बचा जा सकता है।

पोषण वाटिका के लाभ क्या है (Kitchen garden ke swasthya labh)

घर में गृह वाटिका यानी kichen garden लगाने के वैसे तो बहुत से फायदे होते हैं लेकिन इसके मुख्य तीन फायदे हैं जैसे

निरोगी स्वास्थ्य

गृह यानि पोषण वाटिका से स्वास्थ्य के लिए उपयोगी बहुत से पोषक तत्व प्राप्त किये जा सकते हैं। इससे परिवार के लोगों को प्रोटीन, खनिज एवं विटामिन्स की प्राप्ति के साथ शरीर के लिए आवश्यक पोषक तत्वों से युक्त सब्जियां, फल, तथा फूल तो प्राप्त होते ही हैं साथ ही बागवानी में कार्य करने से शारीरिक व्यायाम भी होता है तथा पौष्टिक भोजन मिलने से पूरे परिवार के सदस्य स्वस्थ व प्रसन्न रहते हैं।

मन की शांति

अपने व अपने परिवार के लिए अपने घर में बनाये गए किचन गार्डन से प्राप्त फल और सब्जियों का सेवन करने से अच्छे स्वास्थ्य के साथ साथ दिल को भी सुकून मिलता है। क्योंकि ग्रह वाटिका में अपनी मेहनत से उपजाई गई ताजी सब्जियां स्वादिष्ट व पौष्टिकता से भरपूर होने के साथ ही कैमिकल व पेस्टिसाइड फ्री भी होती है। इसलिए इनका नियमित इस्तेमाल करने से मन को शान्ति व सन्तुष्टि मिलती है।

आर्थिक फायदे

किचन गार्डन में उगाई गई सब्जियां बाजार से खरीदी गई सब्जियों से काफी सस्ती पढ़ती है। इसलिए घर में Kitchen garden बनाने से स्वास्थ्य सम्बंधी लाभ के साथ साथ आर्थिक फायदा भी होता है और परिवार का भोजन संबंधी बजट भी कम हो जाता है। इसके अलावा अगर आप बड़ी Poshan vatika बनाते हैं तो इससे विभिन्न सब्जियां या सब्जियों की पौध तैयार करके बेच कर भी आर्थिक लाभ कमाया जा सकता है।

स्वस्थ जीवन का पोषण वाटिका से सम्बंध (Kitchen garden ka mahatva)

संतुलित आहार हमारे शरीर का इंधन होता है इसका कार्य केवल भूख मिटाना ही नहीं बल्कि शरीर को स्वस्थ व मजबूत बनाए रखना भी होता है। लेकिन अनुचित मात्रा में लिया गया भोजन व प्रदूषित आहार शरीर को रोग ग्रस्त बनाने में अहम भूमिका निभा सकता है। इसलिए नियमित आहार का संतुलित होना जरूरी होता है।

संतुलित आहार उसे माना जाता है जिसमें शरीर के लिए आवश्यक सभी प्रकार के पोषक तत्वों का शरीर की आवश्यकता अनुसार उचित अनुपात व मात्रा में समावेश होता हो इसे संतुलित आहार कहा जाता है। संतुलित आहार में मुख्य चार चीजें सम्मिलित होती है जैसे

अनाज

हमारे शरीर के लिए आवश्यक ऊर्जा की 70 से 80 प्रतिशत की की पूर्ति अंदाज से ही होती है इसलिए हमेशा ऐसे अनाज का सेवन करना चाहिए जो प्रोटीन, विटामिन्स, लवण व खनिज पदार्थों व ऊर्जा से भरपूर हो

सब्जियां और फल

सब्जियां और फल शरीर के लिए आवश्यक बहुत से तत्व की पूर्ति करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं जैसे विटामिन, रेशा, खनिज तथा लवण, शर्करा, मिनरल्स आदि फलों और सब्जियों में प्रचुर मात्रा में पाए जाते हैं।

दालें

अलग-अलग प्रकार की दालों में विभिन्न प्रकार के पोषक तत्व पाए जाते हैं। सभी प्रकार की दालों में प्रोटीन बहुतायत में होता है। इसके अलावा ऊर्जा, कुछ विटामिंस, खनिज लवण तथा रेशा आदि भी इन से प्राप्त किए जा सकते हैं।

दूध व दूध से बने पदार्थ

दूध या दूध उत्पाद तथा दूध का प्रयोग करके बनाये गये खाद्य या पेय पदार्थ पूर्ण रूप से प्राणीजन्य श्रेणी में आते हैं। इनमें घुलनशील विटामिन तथा खनिज लवण होते हैं। इसके अलावा इनमें उच्च गुणवत्ता का प्रोटीन व कैल्शियम तथा वसा पाया जाता है।

FAQ : Kitchen gardening ke bare me sawal

Q 1. किचन गार्डन क्या होता है?

Ans घर के आस-पास बनाया गया वह गार्डन जहां आप अपनी जरूरत के अनुसार ढेर सारी सब्जियां, जड़ी बूटियां, फल, फूल, पेड़ पौधे उगा सकते हैं और यहां से पूरे वर्ष भर हमें ताजी फ़ल सब्जियां मिलती रहती है। इसलिए इसको पोषण वाटिका यानि Kitchen garden कहा जाता है। किचन गार्डन का मुख्य उद्देश्य है शरीर के पोषण के स्तर को बढ़ाना होता है।

Q 2. घर पर किचन गार्डन कैसे तैयार करें?

Ans किचन गार्डन बनाने के लिए घर के आसपास की किसी खाली जगह का चुनाव करें अगर घर के आसपास जगह नहीं हो तो घर की छत पर भी किचन गार्डन तैयार किया जा सकता है। लेकिन एक चीज का विशेष ध्यान रखें कि जिस जगह का चुनाव करें वहां सूरज की रोशनी आसानी से पहुंचती हो और मिट्टी व पानी की पर्याप्त व्यवस्था हो, किचन गार्डन के लिए ऐसी सब्जियों व फलों का चुनाव करें जो कम समय में और आसानी से अच्छी उपज दे सकें।

Q 3. किचन गार्डन के उद्देश्य क्या है?

Ans घर में Kitchen garden बनाने का मुख्य उद्देश्य स्वास्थ्य ही होता है, क्योंकि घर में किचन गार्डन बनाने से उसमें उगाई गई सब्जियां शुद्ध व पोषक तत्वों से भरपूर होती है जिससे शरीर के पोषण के स्तर को बरकरार रखा जा सके। इसके साथ घर पर गार्डन बनाने से आर्थिक बचत भी होती है।

निष्कर्ष (Conclusion)

इस आर्टिकल में हमनें जाना पोषण वाटिका क्या है और घर मे किचन गार्डन बनाने के फायदे कौन कौन से है तथा शरीर को स्वस्थ व निरोगी रखने के लिए पोषण वाटिका का महत्व क्या होता है और घर मे ग्रह वाटिका बंनाने के लाभ व Kitchen garden कैसे बनाया जा सकता है।

यह लेख kitchen garden ke fayde आपको कैसा लगा, इसके बारे में आपके कोई भी सुझाव या सवाल हो तो कॉमेंट में जरूर लिखें तथा इस पोस्ट को सोशल नेटवर्किंग साइट्स पर शेयर अवश्य करें ताकि पोषण वाटिका के बारे में अधिक से अधिक जानकारी लोगों तक पंहुचाई जा सकें।

-: लेख को अंत तक पढ़ने के लिए धन्यवाद :-

यह भी पढें-

Share This Product

Leave a Comment