Kidney stone treatment in hindi | गुर्दे की पथरी का घरेलू इलाज

किडनी स्टोन के घरेलू उपाय (Home remedies for kidney stones in hindi)

आजकल जीवन शैली और आहार में बदलाव के कारण गुर्दे की पथरी (Kidney stone) एक आम बीमारी बन गई है। प्रदूषित जल और वातावरण भी इसके मुख्य कारण है। इसका दर्द बहुत भयंकर होता है व कभी भी शुरू हो सकता है। इसलिए हर कोई गुर्दे की पथरी का घरेलू इलाज  (Kidney stone treatment in hindi) जानना चाहता है। निरोगी हेल्थ के इस आर्टिकल में आयुर्वेद के अनुसार कुछ ऐसी होम रेमेडीज के बारे में जानते है जिनको आजमा कर गुर्दे की पथरी की समस्या से बचा जा सकता है आइए जानते हैं गुर्दे की पथरी का घरेलू इलाज  Kidney stone treatment in hindi

गुर्दे की पथरी क्या है (What is kidney stone in hindi)

किडनी स्टोन नमक और मिनरल्स से बनी हुई एक ठोस आकृति होती है। यह एक क्रिस्टलीय खनिज पदार्थ होती है। जो गुर्दे या मूत्र मार्ग में कहीं पर भी हो सकती है। गुर्दे की पथरी को नेफ्रोलिथिरिस (Nephrolithiasis) या kidney stone भी कहा जाता है। जब पथरी छोटी होती है तो बिना किसी लक्षण के मूत्र मार्ग से बाहर निकल जाती है। लेकिन जब यह 5 एमएम से बड़ी हो जाती है। तब मूत्र मार्ग में रुकावट, दर्द और उल्टी जैसी समस्याएं उत्पन्न होती है।

यह मूत्र त्याग करते समय रुकावट और असहनीय दर्द उत्पन्न करती है। जिसके कारण मूत्राशय, मूत्र नली, अंडकोष और लिंग में जलन के साथ-साथ दर्द भी होता है। गुर्दे की पथरी चार प्रकार की होती है। कैल्शियम स्टोन, यूरिक एसिड स्टोन, स्ट्रूविटा स्टोन और सिस्टिक स्टोन इसमें से यूरिक एसिड स्टोन और कैल्शियम स्टोन मुख्यतः ज्यादा पाई जाती है।

गुर्दे में पथरी होने के लक्षण क्या है (Symptoms of kidney stone in hindi)

गुर्दे में पथरी होने पर पेट के निचले हिस्से के साइड में दर्द के साथ साथ पेट में भी दर्द होता है। इसके अलावा उसके और भी कई लक्षण होते हैं जैसे

  • मूत्र त्याग के समय दर्द होना
  • यूरिन के साथ रक्त का आना
  • घबराहट के साथ उल्टी का आना
  • मूत्र में दुर्गंध आना
  • बार-बार जलन के साथ मूत्र त्याग की इच्छा होना
  • यूरिन ना आना और जलन होना
  • बुखार आना व पसीना आना
  • पीठ के निचले हिस्से में दर्द होना
  • पेट में दर्द के साथ ऐठन होना  यह  पढ़े~ पेट दर्द के घरेलू उपाय 

गुर्दे में पथरी होने के कारण क्या है (What causes kidney stone in hindi)

आज के समय में अनियमित खानपान के कारण और दूषित जल के कारण गुर्दे की पथरी की समस्या आम समस्या हो गई है। लेकिन बि कोलाई (B Coli) नामक बैक्टीरिया इसका मुख्य कारण माना जाता है। आइए जानते हैं किडनी की पथरी किन कारणों से होती है।

  • शरीर में पानी की कमी के कारण
  • शारीरिक गतिविधियों के अभाव के कारण
  • यूरिन में केमिकल की अधिकता के कारण
  • शरीर में मिनरल की कमी के कारण
  • विटामिन डी के अधिक होने के कारण
  • फास्ट फूड, जंक फूड का अधिक सेवन करने के कारण

गुर्दे की पथरी का घरेलू इलाज (Kidney stone treatment in hindi)

अनार के फायदे

पथरी के रोगी को अनार के जूस का नियमित सेवन करना चाहिए क्योंकि अनार में मौजूद पोटैशियम उन मिनरल क्रिस्टलस को शरीर में बनने से रोकता है। जो गुर्दे की पथरी बनाने का काम करते हैं। अनार में पाए जाने वाले क्षारीय गुणों के कारण यह पथरी को बनने से रोकता है। साथ ही यह यूरिन में एसिड के स्तर को भी कम करता है। इसलिए गुर्दे की पथरी की समस्या से निजात पाने (Kidney stone treatment in hindi) के लिए अनार और अनार के जूस का नियमित सेवन करना लाभदायक होता है।

गोखरू के फायदे

किडनी में पथरी की समस्या (Kidney stone treatment in hindi) में गोखरू बहुत ही लाभकारी होता है। आयुर्वेद में इसे किडनी के लिए रामबाण औषधि माना गया है। गोखरू के बीज, फल, तना और जड़ का इस्तेमाल किडनी की पथरी में किया जाता है। गोखरू मूत्र रोगों के लिए भी दवा के रूप में काम करता है। यह शरीर से विषाक्त तत्वों को निकालने के साथ-साथ ब्लड भी साफ करता है।

गोखरू के बीजों का चूर्ण बनाकर इसका नियमित सुबह के समय खाली पेट सेवन करने से कुछ ही दिनों में गुर्दे की पथरी टुकड़े होकर निकल जाती है। और किडनी स्वस्थ रहती है। इसका नियमित सेवन करने से किडनी की पथरी से निजात पाने के साथ ही यह डायलिसिस, किडनी ट्रांसप्लांट जैसी समस्याओं में भी लाभदायक होता है। इसके फलों के चूर्ण का इस्तेमाल शहद के साथ मिलाकर करना भी गुर्दे की पथरी की समस्या में बहुत ही कारगर होता है। यह पढ़े~किडनी रोग से बचने के उपाय

तरबूज के फायदे

तरबूज में बहुत से ऐसे तत्व पाए जाते हैं। जो किडनी को मजबूत बनाने में सहायता करते हैं। इसमें पोटैशियम भरपूर मात्रा में पाया जाता है। और इसमें बहुत अधिक मात्रा में पानी भी होता है। यह यूरिन में एसिड के लेवल को सामान्य रखता है। पथरी की समस्या Kidney stone treatment in hindi के लिए तरबूज के रस में आधा चम्मच धनिया पाउडर मिलाकर इसका नियमित सेवन करना लाभदायक होता है।

इसके अलावा तरबूज के सूखे हुये बीजों का चूर्ण बनाकर एक चम्मच की मात्रा में नियमित सेवन करने से पथरी की समस्या में लाभ मिलता है। यह पढ़े~फैटी लिवर का रामबाण इलाज

सेव का सिरका के फायदे

सेव के सिरके में सिट्रिक एसिड पाया जाता है जो गुर्दे की पथरी को छोटे छोटे कणों में तोड़कर मूत्र मार्ग से बाहर निकलने का काम करता है। सेव का सिरका शरीर से विषाक्त तत्वों को बाहर निकलने में भी काफी सहायक होता है।

साथ ही यह यूरिन में किसी प्रकार के इंफेक्शन को दूर करके मूत्र मार्ग में होने वाली जलन की समस्या से भी राहत दिलाता है। किडनी स्टोन की समस्या होने पर गुनगुने पानी मे दो चम्मच सेव का सिरका मिलकर सुबह खाली पेट नियमित इसका सेवन करने से लाभ मिलता है।

किडनी स्टोन से बचने के उपाय (Tips for Kidney stone treatment in hindi)

गुर्दे की पथरी का इलाज (Kidney stone treatment in hindi) समय पर करवाना जरूरी होता है। क्योंकि ज्यादा समय तक गुर्दे में पथरी रहने के कारण किडनी की कार्य क्षमता पर बहुत प्रभाव पड़ता है। ऐसी समस्या से बचने के लिए अपने आहार और जीवनशैली में बदलाव लाकर व कुछ घरेलू नुस्खे आजमा कर बचा जा सकता है जैसे

  • जंक फूड, फास्ट फूड, डिब्बाबंद खाद्य पदार्थ और नमक का अधिक सेवन करने से बचना चाहिए।
  • टमाटर के बीज, बैंगन के बीज, चावल, उड़द की दाल और चने आदि का अधिक सेवन नहीं करना चाहिए।
  • ज्यूस, पानी व लिक्विड पदार्थों का सेवन अधिक मात्रा में करना चाहिए।
  • प्रोटीन युक्त आहार का सेवन भी अधिक नहीं करना चाहिए।
  • मूंगफली, पालक, चुकंदर, पनीर, जिमीकंद और चॉकलेट का सेवन नहीं करना चाहिए। क्योंकि इनमें ऑक्जेलेट कैल्शियम अधिक होता है।

इस आर्टिकल में लिखी गई तमाम जानकारियों को सूचनात्मक उद्देश्य से लिखा गया है। अतः किसी भी सुझाव को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से परामर्श अवश्य कर लेवें।

यह आर्टिकल Kidney stone treatment in hindi आपको कैसा लगा Comment करके जरूर बताएं और share भी करें ताकि किसी जरूरतमंद को इसका लाभ मिल सके।

इन्हें भी पढ़ें-

 

Leave a Comment

होठों को स्वस्थ रखने के उपाय हृदय रोग से बचने के घरेलु उपाय Heart Disease Treatment in hindi हींग खाने के फायदे Hing Benefits हाई ब्लड प्रेशर से राहत पाने के घरेलू उपाय | High blood pressure ka ilaj