Home remedies for cough and cold in hindi | कैसे बचें बदलते मौसम में सर्दी-जुकाम से जानिए बेस्ट घरेलू उपाय

Share This Product On

Home remedies for cough and cold change weather

बदलते मौसम में खांसी जुकाम से बचने के घरेलू उपाय Badalte mausam ke liye health tips

बरसात का मौसम शुरू होते ही मौसम में बदलाव के कारण बार बार जुकाम, खांसी, छींके आना जैसी समस्याएं होना आम बात होती है। इस बदलते मौसम में इन समस्याओं से कैसे बचें या बचने के लिए लोग तरह-तरह के उपाय आजमाते रहते हैं। लेकिन इस लेख में हम बात करेंगे कि मौसम में बदलाव के कारण होने वाली इन सर्दी जुकाम जैसी समस्याओं से बचें रहने के लिए घरेलू उपाय या Home remedies for cough and cold कौन-कौन से हैं तथा इन समस्या से छुटकारा पाने के लिए कौन से घरेलू नुस्खे आजमाना फायदेमंद होता है। Home remedies for cough and cold in hindi

Home remedies for cough and cold

बदलते मौसम में सर्दी जुकाम से कैसे बचें / Home remedies for cough and cold in hindi

मौसम में बदलाव के समय होने वाली यह सामान्य समस्याएं होती है इसलिए इनको लेकर अधिक तनाव देने की आवश्यकता नहीं होती क्योंकि ज्यादातर लोगों में बरसात के मौसम में यह समस्या होती है। और इनसे बचने के लिए सामान्य से उपाय और घरेलू नुस्खे ही मददगार हो सकते हैं।

इस मौसम में कुछ सावधानियां बरतने की आवश्यकता और खानपान की आदतों में बदलाव किया जाना जरूरी होता है। क्योंकि बदलते मौसम में दवा से ज्यादा घरेलू नुस्खे दिनचर्या में बदलाव तथा स्वस्थ रहने की अच्छी आदतें और कुछ जरूरी सावधानी रखना इन समस्याओं से बचाने में फायदेमंद है।

बदलते मौसम में इन समस्याओं के होने के कारण

शरीर का इम्यून सिस्टम कमजोर होने के कारण या शरीर में विटामिन डी की कमी होने से संक्रमण शरीर को बहुत जल्दी अपनी चपेट में लेता है। जिसके कारण सर्दी, जुखाम, खांसी, बुखार जैसी समस्याएं हो सकती है।

इस मौसम में रहने वाली नमी या उमस भरा वातावरण भी बीमारियों का खतरा बढ़ाता है। इससे शारीरिक समस्याओं के साथ साथ स्किन व बालों से सम्बंधित समस्याएं भी अधिक होती है। इनसे बचने के लिए कुछ सावधानियों के साथ साथ घरेलू उपाय व नुस्खों को आजमा कर अपने आप को सुरक्षित रखा जा सकता है।

यह भी पढ़ें – मानसून में स्किन व बालों की देखभाल करने के घरेलू उपाय

बदलते मौसम में स्वास्थ्य की देखभाल करने के उपाय : Health care tips in changing weather in hindi

अदरक की चाय

इस मौसम में तुलसी व अदरक वाली चाय का सेवन करना इन समस्याओं से बचाने में काफी मददगार होता है। इसलिए अदरक और तुलसी की चाय अवश्य पीनी चाहिए। बरसात के समय घर में बनने वाली सामान्य चाय में भी थोड़ी सी मात्रा में अदरक और तुलसी कूट कर अवश्य डालें। अदरक और तुलसी इस मौसम में होने वाली समस्याओं से तो बचाएगी ही साथ में इनसे रोग प्रतिरोधक क्षमता भी मजबूत होती है।

हल्दी वाला दूध

हल्दी वाला दूध शरीर में एंटीबायोटिक की तरह काम करता है और इस बदलते मौसम में तो हल्दी का दूध औषधि का काम करेगा। क्योंकि हल्दी में एंटीबायोटिक और एंटीबैक्टीरियल गुण मौजूद होते हैं, वही दूध में प्रचुर मात्रा में कैल्शियम पाया जाता है। जोकि हड्डियों के साथ-साथ सेहत के लिए भी बहुत फायदेमंद होता है। इसलिए इस बदलते मौसम में सर्दी, खांसी, जुखाम आदि से बचाने में हल्दी का दूध काफी मददगार होता है।

लौंग का प्रयोग

लौग की तासीर गर्म होती है और आयुर्वेद में इसे गर्म प्रवृत्ति का भी माना गया है। इसलिए बरसात के मौसम में जुखाम, खांसी, सर्दी, गले में दिक्कत होने पर लौंग का सेवन करना फायदेमंद होता है। इसके लिए एक या दो लौंग को पीसकर शहद में मिलाकर चाटने से गला साफ होने के साथ-साथ खांसी, जुखाम, बुखार, सर्दी आदि समस्याओं में तुरंत ही फर्क नजर आने लग जाता है।

पौष्टिक आहार

बदलते मौसम में अपने खानपान का विशेष ध्यान रखने की आवश्यकता होती है। इस मौसम में इम्यून सिस्टम मजबूत करने वाले फलों व खाद्य पदार्थों का अधिक सेवन करना चाहिए।

शरीर को स्वस्थ व निरोगी रखने में पौष्टिक आहार का बहुत महत्व होता है। चाहे कोई भी मौसम हो अपने नियमित आहार में पर्याप्त मात्रा में पोषक तत्व युक्त पदार्थों को शामिल करना चाहिए। विशेषकर बरसात में या बदलते हुए मौसम में तो यह और भी ज्यादा आवश्यक हो जाता है। साथ ही पौष्टिक भोजन इस समय शरीर में होने वाली विटामिन डी की कमी को दूर करने में भी रामबान औषधि होता है।

इसके लिए गाय का दूध, मशरूम, साबुत अनाज, हरी सब्जियां, ऑरेंज जूस, बादाम, मिल्क सोफा जैसे पदार्थों को अपने नियमित आहार में शामिल करना चाहिए।

नमी से बचे रहें

बरसात के मौसम में वातावरण में चारों तरफ नमी बनी रहती है। जिसके कारण सर्दी, खांसी, जुखाम जैसी समस्याओं का खतरा अधिक बना रहता है। साथ ज्यादा नमी से बालों में रूसी बाल झड़ने जैसी समस्याएं भी अफ़हीक होती है। इसलिए इस मौसम में ज्यादा नमी से बचाव रखना जरूरी होता है और इसके लिए घर को सूखा रखने की कोशिश करें, कपड़ों को धूप में अच्छी तरह से सुखाएं। और सुबह के समय जब भी धूप निकले धूप में जरूर बैठना चाहिए।

यह भी पढ़ें – बालों में रूसी (Dandruff) का रामबाण घरेलू इलाज

भाप अवश्य लेनी चाहिए

भाप लेना सेहत के साथ-साथ स्किन के लिए भी बहुत फायदेमंद होता है। बारिश के मौसम में नियमित भाप लेने से सर्दी, जुखाम, खांसी व गले में समस्याएं होने से बचा जा सकता है। भाप लेने से बंद नाक भी आसानी से खुल जाती है। साथ ही स्वास की नली या  नाक में आई हुई सूजन भी इससे दूर होती है इसलिए बारिश के मौसम में अगर किसी प्रकार की समस्या है तो गर्म पानी से भाप अवश्य लेनी चाहिए।

Home remedies for cough and cold

बदलते मौसम में सर्दी जुकाम खांसी से कैसे बचें (Badalte mausam ke liye health tips)

– बारिश के मौसम में सर्दी-जुखाम होने पर गुनगुना पानी पीना लाभदायक होता है।

– सर्दी जुकाम से राहत पाने के लिए हल्दी और नमक के पानी दिन में दो-तीन बार गरारे अवश्य करने चाहिए।

– एक चम्मच शहद में आधा चम्मच सौठ का चूर्ण मिलाकर खाना खाने से आधा घंटा पहले सुबह शाम दोनों समय लें।

– मौसम में बदलाव के समय अधिक ठंडे पदार्थ जैसे फ्रिज का ठंडा पानी, आइसक्रीम, कोल्ड ड्रिंक आदि का सेवन करने से बचना चाहिए। क्योंकि इन से गला खराब या जुखाम होने का खतरा अधिक रहता है।

– बदलते मौसम में अधिक तली भुनी चीजें चाट मसालें, बाजार की वस्तुएं, पिज्जा, बर्गर, समोसा, कचोरी आदि खाने से भी बचना चाहिए।

निष्कर्ष

आज हमने जाना मौसम में बदलाव के समय होने वाली सेहत से जुड़ी समस्याएं और Home remedies for cough and cold change weather यानि बदलते मौसम में सर्दी जुकाम से बचने के कैसे बचें घरेलू उपाय क्या है। इस लेख के बारे में आपके कोई सुझाव या सवाल हो तो कमेंट बॉक्स में लिख सकते हैं।

यह आर्टिकल बदलते मौसम में सर्दी-जुकाम से कैसे बचें (Home remedies for cough and cold in hindi) आपको कैसा लगा कमेंट में जरूर बताएं और इस लेख शेयर भी जरूर करें। ताकि मौसम में बदलाव के समय किसी जरूरतमंद तक यह जानकारी पहुंच सके।

:- लेख को अंत तक पढ़ने के लिए धन्यवाद :-

इन्हें भी पढ़ें

Share This Product On

Leave a Comment