कब्ज का घरेलू इलाज | Home remedies for constipation in hindi

कब्ज के लक्षण, कारण और घरेलू उपाय (Constipation treatment in hindi)

Home remedies for constipation

एक बार फिर से आपका निरोगी हेल्थ में स्वागत है दोस्तों आज हम जानेगे पुरानी कब्ज का रामबाण इलाज, Constipation यानि कब्ज क्यों होती है, इसके लक्षण और Kabj ka ilaj क्या है। आज के समय में उचित खानपान न करने व जंक फूड, फास्ट फूड, बर्गर, पिज्जा आदि का ज्यादा सेवन करने के कारण कब्ज की समस्या एक आम समस्या बन गई है। Constipation treatment समय पर न किया जाये तो लंबे समय तक रहने वाली कब्ज गंभीर बीमारियों का कारण बन जाती है इसलिए जानिए कब्ज का घरेलू इलाज Home remedies for constipation in hindi

आजकल ज्यादातर रोग पाचन तंत्र यानि Digestive system के ठीक से काम न करने से उत्पन्न होते हैं। आयुर्वेद के अनुसार उचित खानपान और कब्ज दूर करने के उपाय करके कब्ज का रामबाण इलाज किया जा सकता है। हमारे नियमित खानपान में कुछ ऐसे पदार्थ होते है जिनको अपनी नियमित दिनचर्या में अपनाकर कब्ज (Constipation) के साथ-साथ और भी बहुत सी बीमारियों से बचा जा सकता है आइए जानते हैं कब्ज का परमानेंट इलाज Home remedies for constipation in hindi

कब्ज दूर करने के उपाय | Home remedies for constipation in hindi

कब्ज क्या है  (What is constipation)

अनियमित जीवनशैली और आहार-विहार के कारण आजकल कब्ज की समस्या आम हो गई है। अगर कब्ज की बीमारी का समय पर इलाज न किया जाए तो इसके कारण बहुत से रोग उत्पन्न होते है। Constipation problem एक पाचन संबंधी समस्या है जो सभी उम्र के लोगों को प्रभावित करती है।

कब्ज के रोगी को मल त्याग के लिए बार बार जाना और जोर लगाना पड़ता है जिससे बवासीर की समस्या होने का खतरा बढ़ जाता है। आज के इस आर्टिकल में पाचन तंत्र की कार्य क्षमता बढ़ाने और kabj ka gharelu upay यानि कब्ज से राहत पाने के कुछ घरेलू उपायो के बारे में विस्तार पूर्वक जानते हैं। इसलिए संपूर्ण जानकारी के लिए लेख को अंत तक जरूर पढ़ें।

कब्ज के लक्षण  (Symptoms of constipation)

आज के समय होने वाली मुख्य बीमारी कब्ज के बहुत से लक्षण हो सकते हैं। लेकिन कुछ के बारे में जानते हैं जैसे

  • पेट और पेंडू में दर्द व भारीपन रहना
  • पेट में गैस की समस्या उत्पन्न होना
  • मल का सूखा व कठोर (सख्त) हो जाना
  • सिर में दर्द और भारीपन रहना
  • गैस बदहजमी जैसी समस्याएं उत्पन्न होना
  • पैरों और पिंडलियों में लगातार दर्द रहना
  • मुंह में छाले होना और दुर्गंध आना
  • Skin problem यानि त्वचा पर कील मुंहासे या फुंसियां होना
  • किसी भी काम में मन न लगना और आलस्य बना रहना

कब्ज के कारण  (Causes of constipation in hindi)

इस समस्या (Constipation problem) होने के बहुत से कारण होते हैं जैसे

  • अपने नियमित भोजन में फाइबर युक्त आहार की कमी होने के कारण
  • तेल में तली हुई व मिर्च मसालेदार चीजों का ज्यादा सेवन करने के कारण
  • मैदा या मैदे से बने आहार का सेवन करने के कारण
  • तरल पेय पदार्थों व पानी का सेवन उचित मात्रा में न करने के कारण
  • भोजन करने का समय अनियंत्रित होने के कारण
  • चाय, कॉफी, तंबाकू व सिगरेट आदि का अधिक सेवन करने के कारण
  • रात को देर तक जागने के कारण
  • अधिक तनाव ग्रस्त जीवन शैली व चिंता के कारण
  • हार्मोन के असंतुलन के कारण
  • नशीले पदार्थों के सेवन करने के कारण
  • अनुचित या अधिक मात्रा में दवाओं का सेवन करने के कारण
  • शौच की अनियमित आदतों के कारण
  • शारीरिक गतिविधियां न करने के कारण भी गैस, बदहजमी व कब्ज की समस्या उत्पन्न हो सकती है।

कब्ज दूर करने के घरेलू उपाय (Home remedies for constipation in hindi)

कब्ज दूर करने में आँवला

आंवला कब्ज, अपच और पेट से जुड़ी समस्याओं को दूर करने का काम करता है। यह पेट में जलन और एसिडिटी जैसी समस्याओं से भी छुटकारा दिलाने में मददगार होता है। आंवला पेट के कीड़ों को मारकर पेट साफ करता है। इसका का प्रयोग आंवला ज्यूस, आंवला पाउडर, आंवला मुरब्बा, आंवला कैंडी, अचार आदि के रूप में किया जाता है।

आंवला के फायदे अनेक है क्योंकि इसमें प्रचुर मात्रा में विटामिन, मिनरल, न्यूट्रिएंट्स और फाइबर होता है। kabj ka gharelu ilaj या कब्ज की समस्या से छुटकारा पाने के लिए आंवला का किसी भी रूप में इस्तेमाल करना लाभदायक होता है।

कब्ज दूर करने में अंजीर

अंजीर में प्रचुर मात्रा में फाइबर पाया जाता है। अंजीर में घुलनशील फाइबर होते हैं जो कब्ज की समस्या को कम करते हैं। सूखे अंजीर में कैल्शियम प्रचुर मात्रा में पाई जाती है। इसके अलावा अंजीर में विटामिन ए, विटामिन बी और मिनरल्स भी पाए जाते हैं। अंजीर को पानी में भिगोकर खाना Purani kabj ka ilaj करने के लिए सबसे भरोसेमंद घरेलू उपाय होता है।

इसलिए रात को सोने से पहले दो से तीन सूखे अंजीर को पानी में भिगोकर छोड़ दें और सुबह के समय इन अंजीर को चबाकर खाएं और पानी पी ले ऐसा नियमित करने से पाचन तंत्र में सुधार होकर कब्ज की समस्या से राहत मिलती है।

अलसी के बीज

अलसी के बीजों में फाइबर और ओमेगा 3 फैटी एसिड के साथ-साथ बहुत से औषधीय गुण पाए जाते हैं। Alsi ke fayde होने के कारण इसका नियमित सेवन करने से कब्ज और दस्त दोनों समस्याओं में आराम मिलता है। इसके अलावा अलसी के बीजों में प्रचुर मात्रा में ओमेगा 3 फैटी एसिड, प्रोटीन, फाइबर, विटामिंस और मिनरल्स पाए जाते हैं।

यह शरीर को स्वस्थ रखने के साथ-साथ पेट की समस्याओं से राहत और कब्ज से छुटकारा दिलाने में बहुत उपयोगी होते हैं। कब्ज से राहत पाने के लिए एक चम्मच अलसी के बीजों को रात को पानी में भिगोकर रखें सुबह खाली पेट इसका नियमित सेवन करने से कब्ज बहुत लाभ होता है।

त्रिफला चूर्ण

त्रिफला चूर्ण पेट की किसी भी समस्या से छुटकारा दिलाने के लिए एक कारगर औषधि होता है। रात को सोने से पहले एक चम्मच त्रिफला चूर्ण का गुनगुने पानी के साथ नियमित सेवन करने से कितनी भी पुरानी कब्ज की समस्या हो छुटकारा मिल जाता है।

इसके अलावा 10 ग्राम अजवायन, 10 ग्राम त्रिफला चूर्ण और 10 ग्राम सेंधा नमक को मिलाकर पाउडर बनाकर इस मिश्रण का 3 ग्राम की मात्रा में नियमित गुनगुने पानी के साथ सेवन करने से कब्ज के साथ-साथ गैस, बदहजमी, अपच जैसी बहुत सी समस्याओं से छुटकारा मिल जाता है।

यह पढ़ें पेटदर्द के घरेलू इलाज क्या है

उच्च फाइबर

अपने नियमित आहार में फाइबर की कमी कब्ज का मुख्य कारण होता है। फाइबर हमारी आंतों के लिए एक प्रकार की आवश्यक सामग्री है। जो की आंत में पानी की मात्रा की पूर्ति करके मल को बाहर निकालने में मददगार है। इसलिए फाइबर की पूर्ति के लिए मोटे अनाज,चोकर युक्त आटा, फाइबर युक्त फल व सब्जियां और अंकुरित अनाज आदि का सेवन पर्याप्त मात्रा में करना चाहिए।

इसके अलावा नियमित ताजे फलों का ज्यूस और हींग व जीरा डालकर छाछ का सेवन करने से कब्ज की समस्या से छुटकारा मिलता है और पाचन क्रिया सुचारू होकर शरीर स्वस्थ रहता है।

कब्ज में नींबू पानी

नींबू हमारी सेहत के लिए काफी उपयोगी होता है। पाचन तंत्र के लिए नींबू का रस काफी मददगार होता है। नींबू का रस हमारे शरीर से विषाक्त तत्व बाहर निकालने का काम करता है। और आँतो को मजबूत करके कब्ज की समस्या से छुटकारा दिलाता है। इसके लिए नींबू पानी या लेमन टी का नियमित सुबह के समय सेवन करने से kabj ka ilaj या कब्ज से छुटकारा पाया जा सकता है।

यह पढ़ें ~ पाचन शक्ति बढ़ाने के घरेलू उपाय

कब्ज दूर करने के उपाय | Home remedies for constipation in hindi

कब्ज से राहत दिलाने में योग व व्यायाम : Kabj ka ilaj ke liye exercise

नियमित व्यायाम-प्राणायाम करने, पैदल चलने और शारीरिक गतिविधियां करने से पाचन तंत्र मजबूत होकर कब्ज से छुटकारा मिलता है क्योंकि व्यायाम करने से आंतों की गतिविधियों में सुधार होकर भोजन आसानी से पचता है और शरीर में पानी की भी पूर्ति होती है। जिससे कब्ज से छुटकारा मिलता है और पाचन क्रिया में सुधार होता है।

इसलिए योग व व्यायाम को अपनी नियमित दिनचर्या का हिस्सा बनाएं। व भोजन करने के बाद अपने सामर्थ्य अनुसार पैदल अवश्य चलना चाहिए।

गैस, एसिडिटी और कब्ज का घरेलू उपचार ( Kabj treatment in hindi)

  • किशमिश को 4 घंटे पानी में भिगोकर उसके बाद इसका सेवन करने से कब्ज की समस्या से राहत मिलती है।
  • इसबगोल का सेवन भी कब्ज में रामबाण इलाज होता है। एक चम्मच इसबगोल का गुनगुने दूध या पानी के साथ रात को सोते समय सेवन करने से कब्ज से छुटकारा मिलता है।
  • कब्ज से छुटकारा पाने के लिए रात को सोने से पहले एक गिलास पानी में एक चम्मच शहद मिलाकर इसका नियमित सेवन करने से इस से छुटकारा पाया जा सकता है।
  • सुबह खाली पेट गुनगुने पानी में नींबू का रस और सेंधा नमक मिलाकर नियमित सेवन करने से पेट अच्छे से साफ होता है। और कब्ज से राहत मिलती है।
  • कब्ज की समस्या से राहत पाने के लिए अमरुद, नाशपाती, पपीता, अनानास आदि फलों का सेवन करना लाभदायक होता है। इन का नियमित सेवन करने से गैस व पेट की समस्याओं से राहत मिलने के साथ-साथ त्वचा में भी निखार आता है।
  • इस से ग्रसित रोगी को रात को सोने से पहले गुलाब के फूलों से बने गुलकंद का सेवन गर्म दूध के साथ नियमित करना लाभदायक होता है।
  • कब्ज की समस्या से छुटकारा दिलाने में फाइबर सबसे कारगर औषधि होता है। इसलिए उच्च फाइबर युक्त पदार्थ जैसे सेम, गाजर, चौकर युक्त आटे की रोटी, ताजे फल, पत्तेदार सब्जियां, नट्स, सीड्स, ब्रोकली, मटर आदि का नियमित सेवन करना लाभदायक होता है।
  • इस में ज्यादा से ज्यादा मात्रा में तरल पदार्थों का सेवन करना लाभदायक होता है। इसलिए नियमित 10 से 12 गिलास पानी पिए व फलों का ज्यूस और सलाद का सेवन प्रचुर मात्रा में करना कब्ज से छुटकारा दिलाने में बहुत लाभदायक होता है।

FAQ : Kabj ka ilaj me sawal jawab

Q 1 – आजकल कब्ज की समस्या ज्यादा होने के कारण क्या है?

Ans – पहले के समय में लोग शारीरिक परिश्रम करते थे व शुद्ध भोजन और समय पर भोजन करते थे लेकिन आजकल व्यस्त दिनचर्या के कारण शारीरिक एक्टिविटी ना करने व मिलावटी भोजन करने के कारण कब्ज की समस्या होती है। रोजाना कब्ज की दवाई खाने के बजाय कब्ज की बीमारी से राहत पाने के लिए घरेलू व आयुर्वेदिक उपायो को अपनाना चाहिए।

Q 2- कब्ज और बदहजमी से बचने के लिए कौन सा चूर्ण खाएं?

Ans – आयुर्वेद में ज्यादातर औषधिया वात, पित्त और कफ नाशक होती है। लेकिन त्रिफला एकमात्र ऐसी औषधि है। जो तीनों को एक साथ संतुलित करती है। अगर आपको कब्ज की शिकायत है तो रात को एक चम्मच त्रिफला गर्म पानी के साथ लेकर ऊपर से दूध पिए कई बार घर से बाहर का खाने के कारण बदहजमी, गैस व कब्ज की समस्या होने पर त्रिफला का सेवन करने से लाभ मिलता है।

Q 3 – कब्ज से छुटकारा पाने के प्राकृतिक उपाय क्या है ?

Ans – प्राकृतिक तरीकों से भोजन को पचाने के लिए सब्जी में हींग का प्रयोग करना लाभदायक होता है। इसके अलावा सोंठ, काली मिर्च और पिपली को बराबर मात्रा में मिलाकर पीसकर पाउडर करके रख लें सुबह-शाम इसका नियमित सेवन करने से Kabj ka ilaj यानि कब्ज ठीक हो जाती है।

निष्कर्ष

आज के लेख में हमने Kabj ka ilaj यानि कब्ज की समस्या से परमानेंट राहत पाने के लिए Home remedies for constipation in hindi के बारे में विस्तार से जाना इस लेख के बारे में आपके कोई भी सवाल या सुझाव हो तो कमेंट में जरूर लिखें।

इस आर्टिकल में लिखी गई तमाम जानकारियों को सूचनात्मक उद्देश्य से लिखा गया है अतः किसी भी सुझाव को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से परामर्श अवश्य कर लेवें।

यह लेख कब्ज दूर करने के उपाय – Home remedies for constipation in hindi आपको कैसा लगा Comment जरूर कर के बताएं और Share भी करें ताकि किसी जरूरतमंद को लाभ मिल सके।

-: लेख को अंत तक पढ़ने के लिए धन्यवाद :-

इन्हें भी पढ़ें-

Share This Product

Leave a Comment