हींग खाने के फायदे क्या है | Hing khane ke fayde nuksan in hindi

हींग के गुण और फायदे क्या है (Hing eating benefits and side effects in hindi) हींग के 14 फायदे

आयुर्वेद में हींग (Asafoetida) का अपना एक विशेष स्थान है। हींग एक ऐसी उत्तम औषधि है जिसका प्रयोग भोजन में मसाले के तौर पर किया जाता है। हींग के फायदे ( Hing benefits in hindi) और हींग में औषधीय गुण अधिक होने के कारण हींग का सेवन अनेक रोगों में किया जाता है। इस आर्टिकल में हम जानेंगे हींग क्या है, हींग के गुण और हींग के स्वास्थ्य लाभ तथा हींग खाने के फायदे (Hing benefits in hindi) और हींग के नुकसान (Hing khane ke fayde nuksan) क्या है आइए जानते हैं हींग के गुण और फायदे क्या है  (Hing benefits in hindi)

Contents

हींग का प्रयोग ना सिर्फ भोजन को स्वादिष्ट बनाता है बल्कि इससे कई बीमारियों से भी छुटकारा मिलता है।  इसके सेवन से पेट के कीड़ों, शरीर में गांठ, पुराने जुखाम, बवासीर, पेट की समस्या, गैस, कब्ज, दर्द, अरुचि, पथरी, मधुमेंह, पेशाब संबंधी रोग, हृदय रोग, अपच, भूख की कमी, सूखी खांसी,  श्वसन संबंधी रोग तथा उल्टी आदि बीमारियों में लाभ मिलता है।

इसके साथ ही सुबह खाली पेट हींग का पानी पीना पेट की सभी समस्याओं से छुटकारा दिलाता है। आयुर्वेद में बताया गया है कि हींग स्वास्थ्य के लिए काफी लाभदायक (Hing khane ke labh in hindi) है।

हींग क्या है (what is hing in hindi)

यह (Asafoetida) एक प्रकार की पेड़ की जड़ो से निकलने वाली गोंद होती है। हींग प्राप्त करने के लिए इसके पेड़ की जड़ को तने से काट लिया जाता है फिर इसमें से एक गाढ़ा रस प्राप्त होता है जो बाद में जमकर गोंद का रूप धारण कर लेता है। एक पौधे से आमतौर पर ढाई सौ ग्राम हींग प्राप्त होती है।

हींग की पहचान

यह भूरे रंग की तेज खुशबू वाली व चमड़ी पर लगाने से जलन पैदा करने वाली होती है। दानेदार हींग को उत्तम माना जाता है। असली हींग की पहचान इसकी सुगन्ध लेने पर तेज खुशबू के साथ नाक में जलन भी होती है। असली हींग को हीरा हींग भी कहा जाता है। हींग को असाफोएटिडा (Asafoetida) के नाम से भी जाना जाता है।

हींग के गुण (Hing ke gunn)

आयुर्वेद में हींग को वात नाशक माना गया है। अपनी तेज खुशबू के कारण Asafoetida रोगाणु नाशक भी होती है। इसके साथ इसमें वात एवं बलगम को खत्म करने के गुण भी मौजूद होते हैं। इसकी तासीर गर्म होती है। व पाचन शक्ति को बढ़ाती है। छोटे बच्चे व बड़ों के पेट में कीड़ों को भी मारती है। पेट के रोगाणुओं को भी खत्म करती । ये दर्द नाशक भी होती है। यह पढ़ें ~ पेट दर्द का घरेलू उपचार 

इसके अलावा अफारा, बदहजमी, दिल के रोग, गैस, खांसी, कफ़, पेट के बहुत सारे रोग आदि के लिए हींग बहुत ही गुणकारी (Hing nutritional benefits in hindi) होती है। हींग के प्रयोग से मासिक धर्म से संबंधित समस्याएं भी ठीक हो जाती है। हींग का प्रयोग करने के फायदों (Hing khane ke fayde nuksan) के साथ साथ हींग से अनेक प्रकार की आयुर्वेदिक औषधियां बनाई जाती है तथा इसका प्रयोग आयुर्वेद की अनेक औषधियों में किया जाता है।

हींग का सेवन करने के फायदे (Eating hing benefits and side effects in hindi)

पेट सम्बंधी समस्याओं में हींग का सेवन

हींग पेट में होने वाली किसी भी प्रकार की समस्याओं का इलाज करने के लिए एक उत्तम उपाय है। इसमें एंटी इन्फ्लेमेटरी, एंटी ऑक्सीडेंट और एंटी फ्लैटूलेंट जैसे गुण पाए जाते हैं जो पेट दर्द, पेट में अल्सर अपच, बदहजमी, गैस, पेट में कीड़े, पेट खराब रहना, पेट फूलना, आंतों की सूजन आदि समस्याओं से राहत दिलाने में उपयोगी होती है। हींग का सेवन करने से फूड पॉइजन जैसी समस्याओं से भी राहत मिलती है। यह पढ़ें ~ पेट में अल्सर लक्षण, कारण और उपचार

माइग्रेन व सिर दर्द में हींग के फायदे

हींग में एंटी इन्फ्लेमेटरी गुण पाया जाता है इसके कारण ही सिर की रक्त वाहिकाओं की सूजन को कम करने में मददगार होती है। इसका सेवन करने से सिर दर्द की समस्या से भी छुटकारा मिलता है। हींग तनाव कम करने के साथ-साथ माइग्रेन जैसी समस्याओं से छुटकारा दिलाने में भी उपयोगी होती है।

इसके लिए एक गिलास पानी में थोड़ा सा हींग डालकर इसको धीमी आंच पर उबलने दे, जब पानी आधा गिलास  बच जाए तो इसको छानकर इसका थोड़ी थोड़ी मात्रा में दिन में कई बार सेवन करने से माइग्रेन, तनाव, सिरदर्द जैसी समस्याओं से छुटकारा पाया जा सकता है।

गैस बनने पर हींग का सेवन

गैस बनने पर जलन व पेट में दर्द होता है। ऐसे में 5 ग्राम हींग घी में भून लें। फिर इसमें कालीमिर्च, पीपल, काला जीरा, व सेंधा नमक प्रत्येक को पांच 5 ग्राम की मात्रा में मिलाकर चूर्ण बनाकर रखें। इस मिश्रण का चुटकी भर शहद के साथ लेने से गैस की समस्या में आराम मिलता है। इसके अलावा इसके (Asafoetida) सेवन से पेट का अफारा व दर्द से छुटकारा पाने में भी मदद मिलती है।

भूख न लगने पर हींग का उपयोग

भूख कम या न लगने पर 10 ग्राम नींबू का रस, 5 ग्राम अंगूर का रस, 5 ग्राम अदरक का रस, आधा ग्राम छोटी इलायची के दाने, 10 ग्राम मुनक्का, 10 ग्राम किशमिश, 5 ग्राम सौंफ का अर्क, 5 ग्राम पुदीना, आधा ग्राम पिपरमेंट इन सबको मिलाकर पीस लें। फिर 50 ग्राम मिश्री मिला लें। इस मिश्रण को 5ml गुलाब जल में घोट लें, फिर इसमें 10 ग्राम असली हींग मिला लें।

यह मिश्रण बहुत ही स्वादिष्ट व गुणकारी होता है। यह पाचन तंत्र को ठीक करके भूख बढ़ाता है। तथा पेट की तमान तरह की समस्याओं से छुटकारा दिलाने में हींग बहुत फायदेमंद औषधि मानी जाती है।

कब्ज में हींग का सेवन

कब्ज की समस्या से छुटकारा दिलाने में यह बहुत उपयोगी होती है। इसलिए कब्ज दूर करने के लिए 10 ग्राम हींग चूर्ण, 10 ग्राम छोटी हरड़, 10 ग्राम मीठा सोडा इन सबको मिलाकर मिश्रण बना लें। इस चूर्ण को आधा या एक चम्मच मात्रा में गुनगुने पानी के साथ नियमित रात को सोने से पहले सेवन करें। इसके सेवन से कब्ज में काफी हद तक आराम मिलता है। यह पढ़ें ~ कब्ज का रामबाण इलाज

दस्त लगने पर हींग का उपयोग

खाना ठीक से ना पचने, बदहजमी होने या दस्त की समस्या होने पर हींग, जायफल, काली मिर्च, केसर प्रत्येक की 5 – 5 ग्राम मात्रा को गाय के दूध में अच्छी तरह से घोटाई करें। अच्छे से घोटने के बाद चने के दाने के बराबर गोलियां बना लें। इन गोलियों को लस्सी के साथ तीन-तीन घंटे बाद एक एक गोली का सेवन करने से दस्त में राहत मिलती है। किसी भी प्रकार के दस्त की समस्या से छुटकारा दिलाने में यह गोली लाभदायक होती है।

जोड़ो में दर्द होने पर हींग का सेवन

कमर, घुटनों व जोड़ों के दर्द से राहत पाने के  लिए 5 ग्राम हींग, 5 ग्राम लहसुन, व 5 ग्राम सेंधा नमक लेकर इन सब को सरसों के तेल में भून लें । इस तेल की दर्द वाली जगह पर मालिश करने के बाद गर्म पट्टी बांध लें। इससे शरीर में होने वाले किसी भी प्रकार के दर्द में काफी हद तक राहत मिलेगी। यह पढ़ें ~ जोड़ो में दर्द का घरेलू इलाज 

खूनी दस्त होने पर हींग का उपयोग

अगर दस्त में खून आ रहा हो तो 5 ग्राम सौंफ और 2 ग्राम हींग को देसी घी में भून लें। भूनने के बाद इसमें 5 ग्राम बबूल (कीकर) की गोंद, 5 ग्राम बेलगिरी वह 10 ग्राम मिश्री मिलाकर उन सब का चूर्ण बनाकर रख लें। इस चूर्ण की 5-5 ग्राम की मात्रा सुबह-शाम गुनगुने जल के साथ सेवन करने से खूनी दस्त में आराम मिलता है।

अपच होने पर हींग का सेवन

खाना ठीक से न पचने के कारण अपच हो जाती है। अपच होने की स्थिति में हींग का सेवन करना बहुत ही फायदेमंद होता है। अगर अपच, गैस व बदहजमी की शिकायत हो तो एक कप पानी में कुछ मात्रा में हींग मिलाकर इसका सेवन करें। इससे अपच, बदहजमी, गैस की समस्या में लाभ होता है। इसका नियमित कुछ दिनों तक सेवन करने से पाचन क्रिया मजबूत होती है। यह पढ़ें ~ पाचन शक्ति बढ़ाने के घरेलू उपाय 

सांस संबंधी समस्या होने पर हींग का सेवन

हींग का इस्तेमाल श्वसन मार्ग से जुड़ी समस्याओं के समाधान के लिए भी किया जाता है। अगर बलगम, छाती में दर्द, गैस की समस्या या सांस लेने में किसी प्रकार की समस्या या परेशानी होती है तो इसका सेवन पानी में घोलकर या हींग वटी के रूप में कर सकते हैं। इससे सांस संबंधी समस्या में आराम मिलता है। इससे फेफड़े भी मजबूत व स्वस्थ होते हैं।

मोटापा कम करने में हींग का उपयोग

आजकल मोटापा आम समस्या बनती जा रही है। हर कोई मोटापे के कारण परेशान है। इससे बचने के लिए नियमित गुनगुने पानी में हींग व नींबू का रस मिलाकर सुबह उठते ही खाली पेट सेवन करने से इस समस्या से छुटकारा पाने में मदद मिलती है। इसके साथ एक चम्मच शहद भी मिलाया जा सकता है। इसके लगातार सेवन करने से मोटापा की समस्या से छुटकारा पाने में आसानी होगी तथा शरीर स्वस्थ रहेगा। यह पढ़ें ~ वजन घटाने के लिए डाइट प्लान

अस्थमा में हींग का सेवन

हींग में एंटीवायरल ओर एंटीबायोटिक गुण पाए जाते हैं। जो अस्थमा, ब्रोंकाइटिस, सुखी खांसी आदि समस्याओं में राहत दिलाने में उपयोगी है। यह छाती की जकड़न को दूर करने और कफ से छुटकारा दिलाने में मदद करती है। अस्थमा या सांस संबंधी समस्याओं से छुटकारा पाने के लिए हींग, सौंठ और थोड़ा सा शहद गुनगुने पानी में मिलाकर नियमित इस्तेमाल करने से इस समस्या से छुटकारा पाने में मदद मिलती है।

पेट में कीड़े होने पर हींग का सेवन

अक्सर बच्चों के पेट में कीड़े होने की समस्या होती रहती है। बच्चे या बड़े किसी के भी पेट में कीड़ों की समस्या होने पर 3 ग्राम हींग घी में भून लें। वायबडिंग, अजमोद, जवाखार, सौंठ, पीपल, बड़ी हरड़ व सेंधा नमक, प्रत्येक की 3-3 ग्राम मात्रा लेकर कूट पीसकर छानकर मिलाकर चूर्ण बना लें। इस चूर्ण को 3-3 ग्राम की मात्रा में सुबह-शाम लेने से पाचन तंत्र मजबूत होता है तथा पेट में कीड़ों की समस्या से छुटकारा मिलता है।

ज्यादा हींग खाने के नुकसान (Eating hing side effects in hindi)

यह स्वास्थ्य पर सकारात्मक प्रभाव डालने वाली एक बहु उपयोगी औषधि है। लेकिन इसका सेवन करने के फायदों (Hing khane ke fayde) के साथ साथ स्वास्थ्य पर कुछ दुष्प्रभाव (Hing ke nuksan) भी हो सकते हैं आइए जानते हैं इससे होने वाले कुछ नुकसान के बारे में

  • हींग का सेवन करने से किसी किसी को गैस, दस्त, पेट मे जलन जैसी समस्याएं हो सकती है।
  • कुछ लोगों को हींग का सेवन करने से त्वचा संबंधी समस्याएं भी हो सकती है।
  • जिन लोगों को हाई बीपी या लो बीपी संबंधी समस्या रहती है उन लोगों को हींग का सेवन करने से बचना चाहिए।
  • गर्भवती या स्तनपान करवाने वाली महिलाओं को हींग का सेवन करने से बचना चाहिए।
  • हींग का अधिक मात्रा में सेवन करने से घबराहट व चक्कर आने जैसी समस्याएं उत्पन्न हो सकती है।
  • कुछ लोगों को हींग का सेवन करने से एलर्जी जैसी समस्याएं भी हो सकती है।

FAQ

Q 1. हींग का सेवन कैसे करें?

Ans  इसका सेवन करने के लिए एक गिलास गुनगुने पानी में हींग डाल कर पीने से पाचन संबंधी समस्याओं से राहत मिलती है। इसके अलावा यह सिर दर्द ने भी उपयोगी होती है। क्योंकि हींग में एंटी इन्फ्लेमेटरी गुण होते हैं जो सिर दर्द से राहत दिलाने में उपयोगी है।

Q 2. हींग के क्या नुकसान है?

Ans  अधिक मात्रा में और लंबे समय तक हींग का सेवन करने से पेशाब में जलन, गले में संक्रमण और महिलाओं में मासिक धर्म संबंधी शिकायत हो सकती है। इसके अलावा इसका अधिक मात्रा में सेवन करने से त्वचा संबंधी समस्याएं भी उत्पन्न होने का खतरा रहता है। हींग खाने के फायदों के साथ साथ इसके नुकसान (Hing ke nuksan) भी ऊपर बताये गए है

Q 3. क्या हींग से गर्भपात हो जाता है?

Ans  हींग की तासीर गर्म होती है जो वात और कफ विकार दूर करने के साथ-साथ यह पित्त को बढ़ाती है। पेट में होने वाली दर्द की समस्या से राहत पाने के लिए इसका सेवन किया जा सकता है लेकिन गर्भवती महिलाओं को इसका सेवन करने से बचना चाहिए क्योंकि इनके सेवन से गर्भपात भी हो सकता है।

निष्कर्ष

इस आर्टिकल में हमने जाना हींग क्या है, हींग के औषधीय गुण और हींग खाने के फायदे और नुकसान तथा हींग का सेवन किन रोगो से बचने के लिए किया जा सकता है।  यह लेख हींग खाने के फायदे और नुकसान (Hing khane ke fayde nuksan in hindi) आपको कैसा लगा तथा इसके बारे में आपके कोई सुझाव या सवाल हो तो Comment बॉक्स में अवश्य लिखें तथा पोस्ट को सोशल मीडिया पर अपने परिवार व दोस्तों के साथ शेयर भी जरूर करें।

इस आर्टिकल हींग खाने के फायदे (Hing benefits in hindi) में दी गई स्वास्थ्य से जुड़ी तमाम जानकारियों को सूचनात्मक उद्देश्य से लिखा गया है अतः किसी भी प्रयोग को करने से पहले अपने चिकित्सक से परामर्श अवश्य कर लेंगे।

इन्हें भी पढ़े-

 

Share This Product

Leave a Comment

Apple benefits : अगर रोज खाएंगे सेब तो इन बिमारियों से बच सकते है Baal kaise badhaye | बालों को तेजी से लंबा करने के घरेलू उपाय Bacchon ko kya khilaye | बच्चों को हेल्दी बनाने के लिए क्या खिलाएं Back pain exercise tips in hindi | कमर दर्द के लिए आसान एक्सरसाइज