Hepatitis kya hai | हेपेटाइटिस के लक्षण, कारण बचने के उपाय सम्पूर्ण जानकारी

Share This Product On

Hepatitis kya hai

क्या होता है हेपेटाइटिस इसके लक्षण और उपचार : Hepatitis kya hai in hindi

हेपेटाइटिस रोग को लिवर का संक्रमण या लिवर की सूजन के रूप में देखा जाता है। अनुमानुसार भारत में लगभग 4 करोड़ से अधिक लोग हेपेटाइटिस रोग से पीड़ित है। और इनमें से अधिकतर लोग इस बीमारी Hepatitis kya hai के बारे में नहीं जानते क्योंकि हेपेटाइटिस के लक्षण बहुत ही सूक्ष्म होते हैं इस लेख में जानेंगे Hepatitis kya hai हेपेटाइटिस के लक्षण, कारण और हेपेटाइटिस से बचने के घरेलू उपाय क्या है। आइए जानते है Hepatitis kya hai हेपेटाइटिस से बचने के घरेलू उपाय

हेपेटाइटिस क्या होता है / Hepatitis kya hai

हेपेटाइटिस एक लिवर से संबंधित बीमारी होती है। इससे लिवर में सूजन आ जाती है तथा इसके कारण कोशिकाओं को भी हानि पहुंचती है इस वायरस के मुख्य रूप से पांच स्ट्रेन होते हैं जिनको अल्फाबेट से पहचाना जा सकता है। अगर इस बीमारी का समय रहते इलाज नहीं किया जाए तो यह रोग कैंसर में परिवर्तित हो सकता है।

हेपेटाइटिस का बी और सी स्ट्रेन अनेक लोगों में क्रोनिक रोग का कारण बनता जा रहा है। इससे कैंसर और लिवर सोरायसिस होने का खतरा बना रहता है। बच्चों को जन्म के बाद हेपेटाइटिस की वैक्सीन लगवा कर इस रोग के खतरे से बचाया जा सकता है।

यह भी पढ़ें – फैटी लिवर क्या है और इसके लक्षण, कारण और घरेलू उपचार क्या है

हेपेटाइटिस के प्रकार : Types of hepatitis in hindi

इसके प्रकार की बात करें तो यह वायरस मुख्यतः पांच स्ट्रेन या प्रकार में होता है जैसे हेपेटाइटिस ए, बी, सी, डी और ई। कौनसे प्रकार का हेपेटाइटिस किस कारण से होता है और उससे शरीर पर क्या प्रभाव हो सकते है

हेपेटाइटिस ए व ई दूषित जल व दूषित भोजन के सेवन के कारण होता है।

हेपेटाइटिस बी इन्फेक्टेड रक्त के, अप्राकृतिक व असुरक्षित यौन संबंध, वायरल इंफेक्शन के कारण फैलता है।

हेपेटाइटिस सी वायरस HCV के कारण होता है ब्लड ट्रांसफ्यूजन या इन्फेक्टेड इंजेक्शन, नीडल के कारण हो सकता है। किसी कारण से ब्लड चढ़ाने से भी इसका खतरा बना रहता है।

हेपेटाइटिस डी का खतरा उन लोगों को अधिक रहता है जो हैपेटाइटिस बी का शिकार बनते हैं। तथा इन दोनों के साथ में होना और भी खतरनाक होता है।

हेपेटाइटिस बी HEV वायरस के कारण होता है। ज्यादातर मामलों में इस रोग से संक्रमित होने में इसका ही मुख्य योगदान होता है यह दूषित भोजन व पानी के कारण ही ज्यादा होता है।

हेपेटाइटिस के लक्षण : Symptoms of hepatitis in hindi

इस रोग हेपेटाइटिस के शुरुआती लक्षण बहुत अधिक स्पष्ट नहीं दिखाई पड़ते हैं। इस रोग के बहुत से लक्षण होते हैं जिनमें से मुख्य है जैसे

  • शरीर में लगातार हल्का बुखार रहना
  • उल्टियां व लूज मोशन होना
  • यूरिन का रंग चेंज होना डार्क पीला पड़ जाना
  • आंखे पीली होना
  • नाखून पीले होना
  • त्वचा का रंग पीला पड़ना
  • पेट के ऊपरी हिस्से में दर्द होना।
  • अनावश्यक थकान महसूस होना
  • पैरों में सूजन
  • मांसपेशियों में दर्द होना
  • भूख कम लगना
  • अचानक शरीर का वजन घटना

hepatitis kya hai

हेपेटाइटिस के कारण : Causes of hepatitis in hindi

हेपेटाइटिस को गैर वायरल और वायरल हेपेटाइटिस के वर्ग के अनुसार विभाजित किया जा सकता है। यह रोग जानलेवा भी हो सकता है इस रोग के होने के बहुत से कारण होते हैं।

गैर वायरल हेपेटाइटिस का मुख्य कारण अनियंत्रित जीवनशैली, अल्कोहल का अधिक प्रयोग, मोटापा तथा विषाक्त पदार्थों व दूषित वातावरण के संपर्क के कारण शरीर का इम्यून सिस्टम कमजोर होने से होता है।

वायरल हेपेटाइटिस मुख्यतः हैपेटाइटिस ए, बी और सी के इंफेक्शन के कारण ही होता है। वायरल के संक्रमण से होने के अलावा दूषित जल संक्रमित भोजन आदि इसके कारण होते हैं। अधिक शराब पीने से होने वाली मौतों में इस हैपेटाइटिस का काफी योगदान होता है।

दवाओं के साइड इफेक्ट्स के कारण भी हैपेटाइटिस का खतरा बना रहता है कुछ दवाओं के अधिक सेवन से लिवर सेल्स में सूजन होने लगती है और हेपेटाइटिस का खतरा बढ़ जाता है।

यह भी पढ़ें – इम्यून सिस्टम मजबूत करने के घरेलू उपाय क्या है 

हेपेटाइटिस का इलाज कैसे करें : Treatment of hepatitis in hindi

हेपेटाइटिस का उपचार इसके स्ट्रेन या प्रकार के अनुसार भिन्न-भिन्न तरीकों से किया जा सकता है। एक्यूट हेपेटाइटिस कुछ समय में धीरे धीरे कम होने लगता है और इससे संक्रमित रोगी को राहत मिलने लगती है।

इसके विपरीत क्रोनिक हैपेटाइटिस के उपचार के लिए चिकित्सक के संपर्क में रहना और दवाओं की आवश्यकता होती है। क्योंकि इसमें लिवर के खराब होने या ट्रांसप्लांट जैसी समस्याएं होने का खतरा बना रहता है।

गैर वायरल हेपेटाइटिस का इलाज करने के लिए जीवनशैली व अपने खानपान की आदतों में बदलाव करना फायदेमंद होता है। साथ ही इसके लिए कुछ सामान्य दवाओं का उपयोग किया जाता है जो प्रतिरक्षा प्रणाली को दबाकर लिवर पर होने वाले हमले को रोकती है।

हेपेटाइटिस में सावधानियां : Precaution of hepatitis in hindi

हैपेटाइटिस रोग के कारण लिवर को होने वाले नुकसान से बचने के लिए अगर इसके सामान्य लक्षण दिखाई दे तो इन लक्षणों के आधार पर डॉक्टर से डिस्कस करना चाहिए तथा लिवर ठीक से काम कर रहा है या नहीं कर रहा है इसके लिए लिवर फंक्शन टेस्ट करवाना या अल्ट्रासाउंड प्रशिक्षण के द्वारा भी हैपेटाइटिस के स्ट्रेन का निर्धारण करने में मदद मिलती है।

हेपेटाइटिस से बचने के उपाय : Way to avoid hepatitis in hindi

इससे बचने के लिए छोटे बच्चों को जन्म के बाद समय पर इसकी वैक्सीन लगवानी चाहिए, हेपेटाइटिस बी और सी से बचने के लिए इस वायरस के संक्रमण को फैलने से रोकने के प्रयास करने से राहत मिल सकती है।

इस संक्रमण से बचाव के लिए अपनी पर्सनल वस्तुएं जैसे टूथब्रश, रेजर आदि किसी के साथ शेयर ना करें।

जो लोग टैटू बनवाते हैं उनको विशेष ध्यान रखना चाहिए सुरक्षित उपकरणों का ही प्रयोग करके टैटू आदि बनवाने चाहिए।

लड़कियों के कान या नाक में छेद करवाते समय विशेष ध्यान रखना चाहिए इसके लिए प्रयोग में लिए जाने वाले उपकरण इंफेक्शन फ्री होने चाहिए।

शारीरिक संबंध बनाते वक्त विशेष सावधानियां रखने की आवश्यकता इस संक्रमण के बचने के लिए होती है।

FAQ

Q 1. हेपेटाइटिस कितने दिन में ठीक होता है?

Ans इसके ठीक होने में इसके स्ट्रेन के अनुसार समय लगता है वैसे शुरुआती 6 महीने तक हैपेटाइटिस इंफेक्शन को एक्यूट मानते हैं इस समय के दौरान सही इलाज और सही खानपान से ज्यादातर लोग ठीक हो जाते हैं ।लेकिन अगर 6 महीने बाद भी हैपेटाइटिस पॉजिटिव आता है तो यह क्रोनिक हेपेटाइटिस में बदल जाता है जो कि लंबे समय तक रहने वाला माना जाता है।

Q 2. हेपेटाइटिस रोग क्यों होता है

Ans यह एक प्रकार का संक्रमण कारी रोग होता है जो वायरस से होता है और यह संक्रमण रक्त के द्वारा या विषाक्त पदार्थों के संपर्क या उपयोग से फैलता है। हैपेटाइटिस से संक्रमित के साथ असुरक्षित संबंध रखने उस से संक्रमित वस्तुओं का सेवन करने आदि से फैलता है।

निष्कर्ष

आज के इस लेख में हमने विस्तारपूर्वक जाना कि Hepatitis kya hai हेपेटाइटिस के लक्षण तथा यह किन कारणों से फैलता है और इससे बचने के क्या उपाय है और इस संक्रमण में कौन कौन सी सावधानियां बरतने की अधिक आवश्यकता होती है। इस लेख के बारे में आपके कोई भी सुझाव या सवाल हो तो आप नीचे कमेंट बॉक्स में लिख सकते हैं।

यह लेख Hepatitis kya hai इससे बचने के घरेलू उपाय आपको कैसा लगा नीचे कमेंट में अवश्य बताना तथा पोस्ट को अपने परिवार के लोगों व दोस्तों के साथ शेयर अवश्य करना ताकि इस संक्रमण के बारे में ज्यादा से ज्यादा लोगों तक उचित जानकारी पहुंचाने में मदद मिल सके।

:- लेख को अंत तक पढ़ने के लिए धन्यवाद :-

इन्हे भी पढ़ें

Share This Product On

Leave a Comment