Heat stroke treatment | गर्मियों में लू से बचने के आसान घरेलू उपाय

लू लगने के लक्षण व उपचार (Loo se bachne ke upay) लू से कैसे बचें

क्या आप भी Heat stroke यानि लू से बचना चाहते हैं तो जरूर आजमाएं यह आसान घरेलू उपाय गर्मियों के मौसम में अक्सर हवाएं गर्म हो जाती है। गर्मी के दिनों में दोपहर के समय चलने वाली इन तेज गर्म हवाओं को ही Heat stroke यानी लू कहा जाता है। इस लेख के जरिये आपको बताते है Heat stroke लू चलने के कारण व लू लगने के लक्षण तथा (Loo se kaise bache) गर्मी में लू से बचने के उपाय व गर्मी में लू से बचने के लिए क्या खाएं और लू लगने पर क्या करें घरेलू नुस्खे व टिप्स आइए जानते हैं लू से बचने के घरेलू उपाय Heat stroke treatment in hindi

गर्म हवाएं और लू चलने के कारण (Heat stroke ke karan)

पृथ्वी की सतह को गर्म करने और धरती पर गर्मी बढ़ाने में सूर्य का ही महत्वपूर्ण रोल होता है। जब सूर्य की किरणें तेज होकर धरती के जिस हिस्से पर सीधी पड़ती है वह हिस्सा गर्म हो जाता है। इसके विपरीत जिन हिस्सों पर यह किरणें तिरछी पड़ती है वह हिस्से ठंडे रहते हैं। सूर्य की सीधी किरणें पड़ने के कारण पृथ्वी की सतह गर्म हो जाती है और इससे हवा भी गर्म होने लगती है।

गर्म हवा अक्सर ठंडी हवाओं की अपेक्षा हल्की होती है इसलिए अधिक ऊपर उठती है और तेजी से चलती है। जिसके कारण गर्मी भी बढ़ती है और Heat stroke या लू लगने की संभावना भी अधिक बढ़ जाती है। गर्मी से बचने के लिए यह पढ़ें- गर्मी से बचने के लिए घरेलू उपाय

लू लगने के लक्षण (Heat stroke symptoms in hindi)

गर्मियों के मौसम में दोपहर के समय घर निकलते समय सावधानी ना बरतें के कारण लू लगने खतरा बढ़ जाता है। और इस मौषम में लू लगने के शरीर में अनेक प्रकार के लक्षण देखते हैं जैसे

  • अचानक तेज बुखार होना
  • पसीना अधिक आना व शरीर गर्म होना
  • स्किन में रूखापन व लाल होना
  • दिल की धड़कन तेज होना
  • सिर दर्द के साथ चक्कर आना
  • घबराहट होना व उल्टी आना
  • बॉडी का टेंपरेचर ज्यादा होना व सांसे गर्म होना
  • बदन में दर्द होना
  • कभी-कभी लू लगने के कारण बेहोशी भी हो जाती है।

ू लगने पर घरेलू उपचार (Home remedies for heat stroke in hindi)

अधिक गर्मी व लू के समय ठंडी तासीर वाले खाद्य व पेय पदार्थों का अधिक इस्तेमाल करना चाहिए। क्योंकि ठंडी तासीर के पदार्थों का सेवन करने से शरीर में ठंडक बनी रहती है तथा लू की समस्या (Heat stroke problem) का खतरा कम होता है। इसलिए जानते हैं ठंडी तासीर के पदार्थ कौन कौन से है और उनका उपयोग कैसे और कब करना फायदेमंद होता है।

बेल के शर्बत का सेवन

गर्मियों के मौसम में बैल अमृत के समान होती है क्योंकि इसकी तासीर ठंडी होने के साथ साथ इसमें अनेक पोषक तत्व और औषधीय गुण भी होते है। इसमें फाइबर व विटामिन सी भरपूर मात्रा में पाया जाता है। बेल शर्बत के नियमित सेवन से लू से बचाव होने के साथ-साथ अनेक रोगों से भी बचा जा सकता है और शरीर में ठंडक भी बनी रहती है।

इसके नियमित सेवन से डाइजेशन सिस्टम भी मजबूत होता है। इसके अन्य औषधीय गुण और स्वास्थ्य लाभ जानने के लिए पढ़ें – बेल क्या है इसके फायदे और औषधीय गुण

तरल पदार्थों का सेवन

बॉडी में एनर्जी बरकरार रखने और डिहाइड्रेशन से बचने के लिए पानी व लिक्विड पदार्थों का पर्याप्त मात्रा में सेवन करना जरूरी होता है। शरीर में पानी की कमी होने के कारण अनेक स्वास्थ्य सम्बंधी समस्याएं होने के साथ साथ लू लगने की संभावना भी अधिक बढ़ जाती है।

इसलिए गर्मी के समय लू व इन समस्याओं से बचने और बॉडी को हाइड्रेट रखने के लिए पानी का सेवन अधिक मात्रा में करना चाहिए तथा पानी के साथ साथ अन्य तरल पदार्थ जैसे जूस, लस्सी व छाछ, निंबू पानी, शरबत, गन्ने का रस जैसे तरल पेय पदार्थों का सेवन भी अधिक मात्रा में करना लू से बचाने के साथ अच्छी हेल्थ के लिए भी लाभदायक होता है।

पौष्टिक व सुपाच्य भोजन का सेवन

गर्मी के मौसम में हमेशा आसानी से पचने वाला व हल्के भोजन का ही सेवन करना चाहिए। साथ ही यह भोजन पोषक तत्वों से भरपूर होना चाहिए। जिससे शरीर की रोगों से लड़ने की शक्ति बरकरार रह सके क्योंकि देर से पचने वाले व भारी भोजन को पचाने के लिए हमारे शरीर के सभी अंगों को अधिक मेहनत करनी पड़ती है।

क्योंकि गर्मियों में शरीर को जितना ठंडा रखेंगे उतना ही पसीना भी कम निकलेगा और ऊर्जा भी बरकरार रहेगी व शरीर के लिए आवश्यक पोषक तत्व भी प्राप्त होते रहेंगे।

विटामिन सी युक्त पदार्थों का सेवन

यह विटामिन शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है क्योंकि जिनका इम्यून सिस्टम कमजोर होता है वह रोगों की चपेट में आने के साथ साथ लू की चपेट में भी बहुत जल्दी आ जाते हैं।

इसलिए विटामिन सी युक्त खाद्य या पेय पदार्थों का सेवन अधिक मात्रा में करना शरीर को स्वस्थ रखने के लिए आवश्यक होता है। विशेषकर गर्मियों के मौसम में यह और अधिक जरूरी हो जाता है। क्योंकि इस मौसम में पसीना अधिक आने के कारण बॉडी को पानी, मिनरल्स व विटामिन्स की अधिक आवश्यकता होती है।

लू से बचने के घरेलू नुस्खे (Loo se bachne ke gharelu nuskhe)

गर्मी में लू से बचने के लिए बहुत से घरेलू नुस्खे है जिनको अपनी दिनचर्या का हिस्सा बना कर इस Heat stroke की समस्या से बचा जा सकता है जैसे

  • कच्चे आम यानी कैरी का सेवन लू से बचाने में उपयोगी होता है। इसलिए कच्चे आम का शर्बत पीने से भी इस समस्या से छुटकारा पाया जा सकता है।
  • गर्मी में शरीर को हाइड्रेट रखने के लिए खीरा, ककड़ी, तरबूज के साथ साथ अंगूर, आलूबुखारा, लिच्ची, नारियल पानी जैसे पदार्थों का अधिक सेवन करना चाहिए।
  • बॉडी में ऊर्जा बनाए रखने के लिए नियमित पानी में ग्लूकोस पाउडर मिलाकर पीना भी इस मौसम में लाभदायक होता है।
  • इस गर्मी के मौसम में हीट स्ट्रोक से बचने के लिए लस्सी में धनिया पानी, कच्चे प्याज व जीरा डालकर पीना भी लाभदायक होता है।
  • कच्चे प्याज का नियमित सेवन करना भी लू से बचाने के लिए फायदेमंद होता है।
  • गर्मी में ठंडे दूध में बराबर मात्रा में पानी डालकर साथ मे शर्बत मिलाकर रोज पीने से भी शरीर को ठंडक पंहुचाने में मदद मिलती है।

लू से बचने के घरेलू टिप्स (Loo se bachne ke gharelu tips)

गर्मी के मौसम में लू लगने पर ज्यादातर लोग घरेलू उपाय अपनाकर ही इससे राहत पा लेते हैं। लेकिन लू (Heat stroke) से बचने के लिए कुछ घरेलू टिप्स भी है जिनको अपनी दिनचर्या का हिस्सा बनाकर इस समस्या से बचने में मदद मिलती है।

  • इस मौसम में जब भी घर से बाहर निकलना हो चेहरा और सिर को अच्छे से कपड़े से ढक कर ही निकले तथा आंखों पर काला चश्मा लगाकर ही बाहर निकले।
  • कुलर या ऐसी के सामने बैठे रहने के बाद तुरंत बाहर धूप में नहीं निकलने से बचना चाहिए।
  • अधिक समय तक भूखा नहीं रहना चाहिए, थोड़े थोड़े अंतराल से कुछ न कुछ हल्का फुल्का खा लेना फायदेमंद होता है।
  • गर्मी में जब भी घर से बाहर निकलें पानी की बोतल साथ रखें और थोड़े थोड़ समय बाद पानी का सेवन करना चाहिए।
  • शरीर में ठंडक बनाए रखने के लिए नींबू पानी का सेवन दिन में दो से तीन बार अवश्य करना चाहिए।

लू से बचने के लिए सावधानियां (Heat stroke precautions in hindi)

गर्मी में लू से बचने के लिए खानपान व घरेलू उपाय तथा नुस्खे आजमाने के साथ साथ कुछ सावधानियां रखना भी जरूरी होता है। गर्मी या Heat stroke के समय दिन में जब भी घर से निकले सूती व पूरी आस्तीन के कपड़े पहन कर तथा शरीर को पूरी तरह से ढक कर ही बाहर निकले।

घर से बाहर निकलने से पहले ठंडी तासीर के खाद्य या पेय पदार्थों का सेवन करने के बाद ही घर से निकलना लाभकारी माना जाता है। अगर तेज धूप में घर से बाहर निकलना हो तो छाता लेकर ही निकलने की कोशिश करनी चाहिए।

निष्कर्ष (Conclusion)

इस लेख में हमने जाना लू क्या है (what is heat stroke) और इसके लक्षण व कारण क्या है तथा लू से बचने के घरेलू उपाय व Loo se kaise bache घरेलू नुस्खे और हीट स्ट्रोक यानी लू से बचने के टिप्स (Heat stroke treatment tips) व सावधानियां कौन कौन सी है। इस आर्टिकल के बारे में आपके कोई सुझाव या सवाल हो तो आप हमें पूछ सकते हैं।

यह लेख आपको कैसा लगा कमेंट करके जरूर बताएं तथा पोस्ट को अपने परिवार व दोस्तों के साथ सोशल साइट्स पर शेयर जरूर करें।

इन्हें भी पढ़ें-

Share This Product

Leave a Comment