Flax seeds in hindi | अलसी के फायदे औषधीय गुण और उपयोग कैसे करें

Flax seeds benefits in hindi

सेहत के लिए गुणकारी और स्वास्थ्यवर्धक है अलसी : Benefits of flax seeds in hindi

अलसी पोषक तत्वों से भरपूर और स्वास्थ्य के लिए सम्पूर्ण आहार मानी जाती है। प्राचीन समय से ही शरीर को स्वस्थ रखने और अनेक रोगों से बचने के लिए अलसी का उपयोग यानि Uses of flax seeds in hindi किया जाता रहा है। आयुर्वेद चिकित्सा पद्धति में Flax seeds का काफी महत्व माना जाता है। इस लेख में जानेंगे अलसी के औषधीय गुण, सेवन विधि, मात्रा और फायदे Benefits of flax seeds क्या है तथा अलसी का सेवन किन रोगों से बचाने में फायदेमंद होता है आइए जानते हैं Benefits of flax seeds in hindi

कहते हैं ना पहला सुख निरोगी काया, निरोगी तो सभी रहना चाहते हैं परंतु क्या सभी स्वस्थ हैं। स्वस्थ रहने के लिए खानपान और जीवनशैली पर ध्यान देना ही एकमात्र उपाय है इसलिए जीवन चर्या में पोषक तत्वों से भरपूर अलसी (Flax seeds in hindi) को शामिल करने से स्वस्थ रहने में काफी मदद मिल सकती है। रोज Alsi khane ke fayde अत्यधिक होने के कारण इसको सुपरफूड भी कहा जाता है।

क्या है अलसी : what is flax seeds

अलसी का बोटनिकल नाम लिनम यूजीटेरिसियम है यह रबी की फसल है अलसी के पौधे में नीले रंग के फूल आते हैं तथा इसका तना सीधा होता है अलसी का बीज आकार में तिल के बीज से थोड़ा बड़ा व चपटा भूरे रंग का तथा चिकना होता है।

अलसी के बीजों का प्रयोग ज्यादातर औषधि के रूप में किया जाता है इसके बीजों से तेल भी निकाला जाता है। अलसी के बीजों का अलग अलग तरह से उपयोग किया जाता है साथ ही इसके तेल का प्रयोग भी कई प्रकार की स्वास्थ्य संबधी समस्याओं से छुटकारा पाने और हैल्थी रहने में किया जाता है।

स्वास्थ्य के लिए अलसी का महत्व : Importance of flax seeds in hindi

विश्व स्वास्थ्य संगठन अलसी को सुपर स्टार फूड का दर्जा देता है आयुर्वेद में अलसी को दैनिक भोजन माना गया है आठवीं शताब्दी में फ्रांस के सम्राट चार्ल मेग्ने अलसी के चमत्कारों से बहुत अधिक प्रभावित थे तथा चाहते थे कि उनकी जनता निरोगी हेल्थ और दीर्घायु रहें

इसके लिए नियमित अलसी का सेवन करें इसके लिए उन्होंने कानून भी बना दिया था महात्मा गांधी ने भी इसके दिव्य गुणों को पहचान कर स्वस्थ व समृद्ध रहने के लिए इसका नियमित सेवन करने की सलाह दी थी विश्व विख्यात हृदय रोग विशेषज्ञ डॉक्टर त्रेहान ने भी नियमित अलसी खाने की सलाह दी है।

अलसी में पोषक तत्व : Flax seeds nutritional value

अलसी पोषक तत्वों का खजाना है जानते हैं प्रति 100 ग्राम Flax seeds में कौन-कौन से पोषक तत्व किस मात्रा में पाए जाते हैं।

कैलोरी                        –           534

प्रोटीन                         –          18.29 ग्राम

कार्बोहाइड्रेट               –          28.88 ग्राम

फाइबर                       –           27.3 ग्राम

विटामिन                      –           थायामीन, विटामिन B5, विटामिन B6, B-12 फोलेट, नायसिन, राइबोफ्लेविल

खनिज                         –           कैल्शियम, तांबा, लोहा, मैग्नीशियम, मैग्नीज, फॉस्फोरस, पोटेशियम, सेलेनियम तथा जिंक

वसा                             –           42.16 ग्राम

ओमेगा 3

एल्का लिनोलेनिक एसिड   –     18.1 ग्राम

ओमेगा

6 बिनोनिक एसिड       –           7.7 ग्राम संतृप्त वसा 4.3 ग्राम

एंटीऑक्सीडेंट  लिगनेन लाइकोपीन, ल्युरिन और जिया जेन्थिन

अलसी में 30 से 40 प्रतिशत तेल 25 प्रतिशत प्रोटीन, फाइबर, विटामिन बी, सेलेनियम, कैल्शियम, मैग्नीशियम, क्रोमियम कॉपर, जिंक, पोटेशियम, लोहा, फॉलेट, लाइफो फ्रिन आदि तत्व पाए जाते हैं। अलसी में मौजूद तेल में 36 से 50 प्रतिशत ओमेगा-3 अल्फा लिनोलेनिक एसिड होता है अलसी में लगभग 25 प्रतिशत ओमेगा 3 फैटी एसिड होता है।

ओमेगा 3 और ओमेगा 6 दोनों शरीर के लिए बहुत आवश्यक होते हैं। लेकिन यह दोनों ही शरीर में नहीं बनते हमें इनकी पूर्ति अपने भोजन के द्वारा या खाद्य पदार्थों से ही करनी होती है। अलसी इनका बहुत अच्छा स्रोत होती है। ओमेगा 3 अलसी के अलावा मछली, अखरोट, बादाम आदि में भी पाया जाता है।

ओमेगा 6 की अधिक मात्रा शरीर के लिए हानिकारक होती है। हमारे भोजन में इस्तेमाल अधिकतर सामग्री में तेल, फास्ट फूड, जंक फूड तथा आधुनिक व्यंजन ओमेगा 6 फैटी एसिड से भरपूर होते हैं।

रोगों से बचने में अलसी के फायदे / Flax seeds benefits in hindi

हमारे द्वारा नियमित ग्रहण किए जाने वाले अधिकतर भोजन में ओमेगा-3 बहुत कम मात्रा में होने और ओमेगा 6 प्रचुर मात्रा में होने के कारण हम High blood pressure यानि उच्च रक्तचाप, हृदयाघात, स्ट्रोक, डायबिटीज, मोटापा, गठिया, अवसाद, दमा, कैंसर आदि बीमारियों के शिकार होते हैं।

इसलिए शरीर में ओमेगा का संतुलित मात्रा में होना इन रोगों से बचने के लिए जरूरी होता है। ओमेगा-3 की यह कमी 30 – 30 ग्राम अलसी खाकर आसानी से पूरी की जा सकती है यह ओमेगा 3 ही अलसी को सुपर स्टार फूड का दर्जा दिलाते हैं।

ह्रदय रोगों के खतरे से बचाए अलसी

अलसी हमारे रक्तचाप को संतुलित रखती है अलसी खून में अच्छे कोलेस्ट्रॉल की मात्रा को बढ़ाती है और ट्राइग्लिसराइड्स व खराब कोलेस्ट्रोल की मात्रा को कम करती है। Flax seeds दिल की धमनियों में खून के थक्के बनने से भी रोकती है।

यह हृदयाघात व स्ट्रोक जैसी बीमारियों से बचाव करती है और ह्रदय की गति को नियंत्रित रखती है। इसलिए हार्ट से सम्बंधित रोगों से बचने के लिए अपनी नियमित डाइट में अलसी को जरूर शामिल करना चाहिए।

कैंसर रोग के खतरे से बचाये अलसी

अलसी में दूसरा महत्वपूर्ण पोष्टिक तत्व लिगनेन होता है। यह लिगनेन का सबसे बड़ा स्रोत है अलसी में लिगनेन अन्य खाद्य पदार्थों से कई गुना अधिक होते हैं।

लिगनेन जीवाणु वायरस, फफूद और कैंसर के प्रतिरोधी होते हैं। लिगनेन हमें प्रोस्टेट, बच्चेदानी, स्तन, आंत, त्वचा आदि के कैंसर से बचाते हैं। यदि मां के स्तन में दूध नहीं आ रहा है तो उसे तुलसी खिलाने के 24 घंटे के भीतर दूध आने लगता है। अमेरिका में किए गए शोध में पता चला है कि अलसी में 27 से ज्यादा कैंसर रोधी तत्व मौजूद होते हैं।

फाइबर से भरपूर अलसी के फायदे

अलसी में फाइबर भी अच्छी मात्रा में पाया जाता है जिससे Flax seeds कब्ज, बवासीर, भगंदर के पीड़ितों को बहुत आराम पहुंचाती है। कब्ज के लिए अलसी ईसबगोल की भूसी से ज्यादा लाभदायक होती है। अलसी पित्त की थैली में पथरी नहीं बनने देती और पथरी है तो भी धीरे-धीरे घुलने लगेगी और निकल जाएगी।

स्किन संबधी रोगों में अलसी के फायदे : Flax seeds benefits for skin

एक चम्मच अलसी का रोजाना सेवन करना स्किन के लिए भी फायदेमंद होता है। अलसी Skin problems यानि त्वचा की बीमारियां जैसे मुंहासे, एग्जिमा, दाद खाज, खुजली में भी काफी लाभदायक होती है।

अलसी खाने व इसके तेल की मालिश करने से त्वचा के दाग, धब्बे, झाइयां, झुर्रियां आदि दूर होते हैं। अलसी आपको युवा बनाए रखती है इसलिए रोज अलसी खाने से आप अपनी उम्र से 10 वर्ष छोटे दिखने लगते हैं।

तनाव दूर करने में अलसी के फायदे

अलसी हमारे मन को शांत रखती है इसके सेवन से चित प्रसन्न रहता है विचार अच्छे आते हैं तथा तनाव दूर होता है। बुद्धिमता व स्मरण शक्ति बढ़ती है क्रोध आना कम होता है अलसी के सेवन से मन और शरीर में एक दैविक शक्ति और ऊर्जा का प्रवाह होता है। मानसिक स्वास्थ्य को बेहतर बनाये रखने के लिए एक चम्मच अलसी का रोजाना सेवन करना लाभकारी होता है।

शुगर कंट्रोल करने में अलसी

अलसी पोषक तत्वों का भंडार होने के कारण यह डायबिटीज रोग में भी बहुत फायदेमंद होती है। एक चम्मच सुबह और एक चम्मच शाम को नियमित तौर पर अलसी का इस्तेमाल किया जाए तो कुछ ही समय मे डायबिटीज कंट्रोल होने लगती है। क्योंकि अलसी ब्लड शुगर को नियंत्रित रखती है। डायबिटीज के रोग में शरीर में आई हुई कमजोरी को दूर करके स्वास्थ्य लाभ पहुंचाती है।

अलसी का सेवन मोटापा में : Flax seeds for weight loss

अलसी मोटापे के रोगों में भी बहुत राहत देती है क्योंकि अलसी के सेवन से लंबे समय तक पेट भरा हुआ रहता है और देर तक भूख नहीं लगती साथ ही अलसी में फाइबर की मात्रा अधिक होने के कारण यह Digestive system को बेहतर बनाने में फायदेमंद साबित होती है।

इसलिए अलसी का किसी भी रूप में नियमित सेवन करना वजन नियंत्रित करने और मोटापे को घटाने में सहायक होता है।

Flax seeds in hindi

अलसी का सेवन और मात्रा : How to eat flax seeds in hindi

अलसी शरीर के लिए आवश्यक व संपूर्ण आहार है। इसलिए हमें प्रतिदिन 30 से 60 ग्राम अलसी का सेवन अवश्य करना चाहिए। अलसी का सेवन कैसे भी किया जाए यह हेल्थ के लिए गुणकारी है।

अलसी को चबाकर खाएं इसका चूर्ण बनाकर खाएं, अलसी को भिगोकर भी खाया जाता है तथा इसकी सब्जी बनाकर खाना भी स्वास्थ्यवर्धक और रोगों से बचाने में फायदेमंद होता है।

रोज 30 से 60 ग्राम अलसी को मिक्सी के चटनी जार में पीसकर आटे में मिलाकर रोटी, परांठा, बाटी आदि बनाकर खाएं। लेकिन Flax seeds को पीसकर नहीं रखना चाहिए इसे रोजाना जरूरत अनुसार ही पीसे क्योंकि पीस कर रखने से अलसी खराब हो जाती है।

क्या है अलसी के नुकसान : Flax seeds side effects

अलसी के फायदे (Benefits of flax seeds in hindi) के बारे में जाने के बाद अब इसके नुकसान के बारे में जाने भले ही अलसी स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद क्यों न हो लेकिन अगर इसका सही तरीके से और सही मात्रा में इस्तेमाल नहीं किया इसके नुकसान हो सकते हैं।

1. दस्त लगने की समस्या होना

2. आंतों में सूजन या ब्लॉकेज की समस्या होना

3. ब्लड प्रेशर लो होना

4. महिलाओं में अनियमित मासिक चक्र

5. एलर्जी की समस्या होना

6. प्रेग्नेंसी में अलसी खाने से पीरियड आने का खतरा रहता है।

FAQ

Q 1. अलसी के बीज के क्या फायदे है?

Ans फ्लेक्स सीड्स का रोज सेवन करना सेहत के लिए बहुत गुणकारी माना जाता है इससे कमजोरी दूर होने के साथ साथ इम्यून सिस्टंम भी मजबूत होता है। अलसी के बीज खाने से अनेक रोगों से बचे रहने के साथ संपूर्ण स्वास्थ्य के लिए यह लाभदायक होते है।

Q 2. अलसी को कब और कैसे खाएं?

Ans वैसे तो अलसी को कभी भी खाया जा सकता है लेकिन सुबह खाली पेट एक चम्मच अलसी का सेवन गुनगुने पानी से करने वजन कंट्रोल रहता है तथा डायबिटीज, ह्रदय रोग, कब्ज, पाचन सिस्टम, स्किन व बालों के आलावा यह कैंसर जैसी खतरनाक बीमारी से भी बचाती है।

निष्कर्ष

दोस्तों आज के इस लेख में हमनें जाना Flax seeds यानि अलसी में कौन कौन से पोषक तत्व मौजूद होते है और हेल्थ के लिए अलसी के फायदे यानी Health benefits of Flax seeds in hindi क्या है तथा रोज अलसी खाने से किन रोगों से बचा जा सकता है। इस लेख के बारे में आपके कोई भी सुझाव या सवाल हो तो कमेंट में लिख सकते हैं।

यह आर्टिकल अलसी के फायदेFlax seeds in hindi आपको कैसा लगा जरूर बताएं ताकि ऐसी ही स्वास्थ्य वर्धक जानकारियां आप तक यही ही पहुंचाने की प्रेरणा मिलती रहें पोस्ट को शेयर भी करें।

-: लेख को अंत तक पढ़ने के लिए धन्यवाद :-

इन्हें भी पढें

Share This Product

Leave a Comment