Cinnamon powder | सेहत के लिए गुणकारी है दालचीनी जानिए इसके अद्भुत फायदे

दालचीनी के फायदे और उपयोग : Dalchini benefits and side effect in hindi

दालचीनी का प्रयोग (Cinnamon powder) किचन में मसाले के रूप में किया जाता है लेकिन आयुर्वेद चिकित्सा में दालचीनी (Dalchini powder) को स्वास्थ्य के लिए गुणकारी औषधि माना गया है। दालचीनी का सेवन बीमारियों से बचाए रखने और शरीर को स्वस्थ रखने में काफी मददगार होता है। इस लेख में हम चर्चा करेंगे कि दालचीनी क्या है इसके प्रकार, पोषक तत्व, Dalchini ke fayde औषधीय गुण तथा इसका उपयोग कब कैसे और किन रोगों से बचने के लिए किया जाता है जानते हैं cinnamon powder यानि दालचीनी खाने के फायदे 

दालचीनी का किसी भी रूप में उपयोग करना स्वास्थ्य के लिए लाभदायक होता है Cinnamon powder पेट संबंधी रोगों से छुटकारा दिलाने, पाचन तंत्र मजबूत करने, डायबिटीज व कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित रखने जैसी अनेक बीमारियों से राहत दिलाने में उपयोगी होती है। दालचीनी को अलग अलग नामों से तो जाना जा सकता है लेकिन हेल्थ के लिए दालचीनी के स्वास्थ्य लाभ (Dalchini ke fayde) एक जैसे ही होते हैं। दालचीनी के उपयोग से अनेक प्रकार के रोगों से बचने में मदद मिलती है।

दालचीनी क्या है : What is Cinnamon

यह एक हराभरा रहने वाले झाड़ी नुमा पेड़ के तने की छाल होती है। दालचीनी के पेड़ से सुगंध आती रहती है। यह एक प्रकार का मसाला होती है Dalchini का प्रयोग विभिन्न प्रकार की दवाओं में भी किया जाता है। दालचीनी से तेल (Dalchini oil) भी निकाला जाता है दालचीनी के पेड़ के पत्तो को तेजपत्ता कहा जाता है।

इसका वैज्ञानिक नाम सिनमोमम झेलनिकम होता है। दालचीनी को अंग्रेजी में Cinnamon और संस्कृत में त्वाक के नाम से जाना जाता है। वैसे तो दालचीनी का पूरा पेड़ ही औषधीय गुणों का भंडार है लेकिन अधिकतर इसके पेड़ की छाल का प्रयोग किया जाता है।

दालचीनी के फायदे / Dalchini ke fayde

सेहतमंद रहने और अनेक स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं से राहत पाने के लिए दालचीनी को काफी मददगार औषधि माना गया है इसका सेवन स्वास्थ्य के लिए काफी उपयोगी होता है।

  • डाइजेस्टिव सिस्टम संबंधित समस्याओं के लिए दालचीनी कारगर होती है।
  • सर्दी खांसी, जुकाम, गले सम्बंधी समस्याओं के लिए यह रामबाण दवा है।
  • महिलाओं में होने वाली हेल्थ संबंधी समस्याओं में दालचीनी फायदेमंद होती है।
  • पुरुषों की शारीरिक कमजोरी दूर करने में दालचीनी लाभदायक औषधि है।
  • मोटापा घटाने और बढ़े हुए पेट को कम करने में मददगार होती है।
  • डायबिटीज और ह्रदय रोगों के खतरे को कम करती है।
  • त्वचा सम्बंधी समस्याओं से छुटकारा दिलाने में उपयोगी होती है।
  • मेंटल हेल्थ को बेहतर बनाने और याददाश्त तेज करने में सहायक होती है।

दालचीनी में मौजूद पोषक तत्व : cinnamon nutrition in hindi

दालचीनी अनेक पोषक तत्वों से भरपूर होती है इसमें प्रोटीन, विटामिन ए, विटामिन सी, कार्बोहाइड्रेट, पोटेशियम, फास्फोरस, सोडियम, थायमीन, रिबोफ्लेविन, नियासीन जैसे तत्व मौजूद होते हैं। दालचीनी में एंटीऑक्सीडेंट्स, एंटीइंफ्लेमेटरी (Anti-inflammatory), एंटीवायरल तथा एंटी फंगल प्रॉपर्टीज मौजूद होती है।

इसमें पॉलीफेनॉल भी होता है इसलिए Dalchini इम्यूनिटी बढ़ाने के साथ-साथ रूमेटाइड अर्थराइटिस में भी लाभकारी होती है। इसमें मौजूद इन्हीं पोषक तत्वों के कारण यह लिवर की कार्य क्षमता बढ़ाने और याददाश्त तेज करने के साथ-साथ बहुत सी स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं के फायदेमंद होती है।

Contents

दालचीनी के प्रकार : Type of dalchini in hindi

मुख्य रूप से दालचीनी दो प्रकार की होती है लेकिन इसके दोनों प्रकारों के बीच कोई अधिक बड़ा अंतर नहीं होता लेकिन इन दोनों के स्वाद में थोड़ा अंतर होता है। दालचीनी के प्रकार निम्न है जैसे

  1. रेगुलर सिनमन – Cassia

कैशीअ यानि रेगुलर दालचीनी आमतौर पर घरों में यूज होने वाली होती है यह दालचीनी स्वाद में अधिक तीखी होती है।

  1. सीलोन – Ceylon

यह स्वाद में तीखी कम तथा कम खुशबू वाली होती है इसको ट्रयू सिनमन के नाम से जाना जाता है। इस दालचीनी का प्रयोग दवाओं में अधिक किया जाता है तथा यह रेगुलर से महंगी भी होती है।

महिलाओं के लिए दालचीनी के फायदे : Dalchini ke fayde mahilaon ke liye

महिलाओं में होने वाले किसी भी तरह के रोगों से राहत पाने के लिए दालचीनी का उपयोग करना लाभकारी होता है। महिलाओं में प्रजनन क्षमता को प्रभावित करने वाले कारणों से राहत दिलाने में दालचीनी बहुत मदद करती है। अनियंत्रित पीरियड्स, एंडोमेट्रियोसिस, गर्भाशय में फाइब्रॉयड्स के उपचार में भी दालचीनी का प्रयोग किया जा सकता है।

महिलाओं में लिकोरिया की समस्या अधिक होती है तथा इससे भी राहत पाने के लिए गुनगुने पानी में दालचीनी पाउडर (Cinnamon powder) डालकर उपयोग करना लाभदायक माना जाता है। महिलाओं में मासिक धर्म के दौरान होने वाली स्वास्थ्य सम्बंधी समस्याओं से राहत दिलाने में दालचीनी को लाभकारी औषधि माना जाता है। इसलिए महिलाओं को दालचीनी का किसी भी रूप में उपयोग करना फायदेमंद साबित होता है।

पुरुषों के लिए दालचीनी के फायदे : Dalchini ke fayde purushon ke liye

दालचीनी का नियमित सेवन पुरुषों में होने वाली अनेक तरह की समस्याएं दूर करने में फायदेमंद होता है। दालचीनी में मौजूद आवश्यक पोषक तत्व जैसे पोटेशियम, सेलेनियम, मैग्नीशियम, विटामिंस आदि होने के कारण नियमित इसका सेवन दूध के साथ करने से पुरुष स्वास्थ्य बेहतर होता है। दालचीनी पुरुषों की कमजोरी दूर करके शारीरिक ताकत को बढ़ाती है।

रोजाना दालचीनी का इस्तेमाल करने से पुरुषों में टेस्टोस्टेरोन स्राव में भी वृद्धि होती है तथा प्रजनन गुणों में बढ़ोतरी करने में यह काफी मददगार होती है। शारीरिक दुर्बलता दूर करने के लिए दालचीनी पाउडर को दूध या पानी में मिलाकर पीने से फायदा होता है। दालचीनी पुरुषों में मर्दाना कमजोरी दूर करके बॉडी स्टैमिना में बढ़ोतरी करती है।

दालचीनी खाने के फायदे : Cinnamon powder benefits in hindi

cinnamon powder dalchini in hindi

वजन घटाने में दालचीनी (Cinnamon for weight loss)

शरीर के बढ़े हुए वजन या बाहर निकले हुए पेट को कम करने के लिए दालचीनी का सेवन करना काफी लाभदायक होता है। शरीर में अतिरिक्त फेट और कार्बोहाइड्रेट को डाइजेशन करने में दालचीनी का पानी पीना फायदेमंद होता है। इसका नियमित सेवन करने से शरीर में अतिरिक्त फेट को जमा होने से रोकने में मदद मिलती है।

रोजाना सुबह के समय गुनगुने पानी में दालचीनी पाउडर डालकर या Cinnamon powder को पानी में उबालकर पीने से मोटापे की समस्या से छुटकारा पाने और तेजी से वजन घटाने में काफी मदद मिलती है।

ब्लड शुगर को कंट्रोल करने में दालचीनी

दालचीनी ब्लड शुगर के स्तर को नियंत्रित करने में काफी सहायक होती है। इसलिए मधुमेह रोगी अपने नियमित डाइट में दालचीनी को शामिल करके शुगर लेवल को काफी हद तक नियंत्रित कर सकते हैं क्योंकि दालचीनी में पाया जाना जाने वाला पॉलिफिनॉल्स सिरम इंसुलिन व ग्लूकोज के स्तर को कम करने और डायबिटीज के खतरे से बचाने में मददगार होता है। इसलिए शुगर के रोगी दालचीनी को अपने आहार में शामिल करके इस मधुमेह रोग से आसानी से राहत पा सकते हैं।

हार्ट अटैक का खतरा कम करें दालचीनी

दालचीनी कोलेस्ट्रोल के स्तर को नियंत्रित रखने और दिल को मजबूती प्रदान करने में काफी सहायक होती है। नियमित दालचीनी का सेवन करने से एल डी एल कोलेस्ट्रोल, ट्राइग्लिसराइड्स, सिरम ग्लूकोस, टोटल कोलेस्ट्रॉल आदि नियंत्रित रहते हैं तथा ह्रदय रोगों का खतरा काफी कम होता है। यह हमारे हार्ट को स्वस्थ रखने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है।

पाचन तंत्र मजबूत करने में दालचीनी

पेट के तमाम तरह के रोगों छुटकारा पाने व पाचन संबंधी समस्याओं से छुटकारा पाने के लिए दालचीनी का प्रयोग प्राचीन समय से ही किया जाता है क्योंकि दाल चीनी में एंटीमाइक्रोबियल्स गुण मौजूद होते हैं जो पेट के संक्रमण व बैक्टीरिया से लड़ने और छुटकारा दिलाने में फायदेमंद है। इसको रोज सुबह पानी में मिलाकर पीने से पाचन क्रिया मजबूत होती है।

स्किन के लिए दालचीनी के फायदे

स्किन में होने वाली किसी भी तरह की समस्या से छुटकारा दिलाने और त्वचा को स्वस्थ रखने में दालचीनी काफी मददगार मानी जाती है इसमें मौजूद एंटीइंफ्लेमेटरी (Anti-inflammatory) किसी भी प्रकार के चर्म रोगों से बचाने में मदद करते हैं। दालचीनी एंटीबैक्टीरियल गुणों से भरपूर होने के कारण कील-मुंहासे, दाग-धब्बे, पिंपल्स, ब्लैकहेड्स से छुटकारा दिलाती है। आंखों के नीचे होने वाले काले घेरों को हटाने में दालचीनी पाउडर सहायक है तथा स्किन को कोमल और जवां बनाए रखती है।

मानसिक स्वास्थ्य के लिए दालचीनी के फायदे

मेंटल हेल्थ को बेहतर रखने और मस्तिष्क को ताकत देने के लिए दालचीनी काफी फायदेमंद होती है। यह स्ट्रेस को कम करके याददाश्त को बढ़ाती है। इसलिए पढ़ने वाले बच्चों या जो लोग दिमाग से संबंधित काम करते हैं उनके लिए दालचीनी का उपयोग काफी फायदेमंद होता है। इसके सेवन से मानसिक रोगों से छुटकारा मिलता है।

मांसपेशियों व जोडों के लिए दालचीनी

मांसपेशियों में सूजन या जकड़न जैसी समस्याओं को कम करने के लिए भी दालचीनी का उपयोग करना फायदेमंद होता है। यह जोड़ों में होने वाले दर्द को कम करने या जोड़ों की सूजन से राहत दिलाने में भी काफी मददगार होती है। दालचीनी का किसी भी रूप में नियमित सेवन रूमेटाइड अर्थराइटिस के लक्षणों को कम करने में भी काफी मदद करता है।

दालचीनी पानी के फायदे : cinnamon water benefits in hindi

नियमित दालचीनी पाउडर को पानी में मिलाकर या पानी में उबालकर पीने से रोग प्रतिरोधक क्षमता काफी मजबूत होती है। सुबह खाली पेट दालचीनी का पानी रोज पीने से तेजी से वजन घटता है तथा यह भूख को कम करके पेट भरे भरे का एहसास कराती है। दालचीनी का पानी पीने से पेट संबंधित तमाम तरह के रोगों से छुटकारा मिलता है तथा डाइजेस्टिव सिस्टम मजबूत होता है।

cinnamon powder dalchini in hindi

दालचीनी के स्वास्थ्य लाभ : Dalchini benefits in hindi

यह हेल्थ के लिए काफी गुणकारी औषधि मानी गयी है इसलिए इसके स्वास्थ्य लाभ भी अनगिनत होते हैं। दालचीनी का नियमित किसी भी रूप में सेवन करना बीमारियों से बचाए रखने और शरीर को हेल्दी रखने में लाभकारी होता है जानिए Dalchini ke fayde यानि दालचीनी के कुछ अन्य फायदे

  • दालचीनी को पानी के साथ मिलाकर सिर में लगाने यानी लेप करने से सिर दर्द दूर होता है।
  • मौखिक स्वच्छता व दांतों संबंधी समस्याओं में दालचीनी का प्रयोग लाभदायक होता है।
  • दालचीनी पाउडर का उपयोग दूध के साथ करने से वीर्य वृद्धि करने में सहायक होती है।
  • स्किन सम्बंधी तमाम तरह की समस्याओं से राहत पाने के लिए दालचीनी पाउडर और नींबू का रस तथा थोड़ा सा शहद मिलाकर लगाने से फायदा होता है।

दालचीनी का उपयोग कैसे करें : Dalchini powder uses in hindi

इसका उपयोग अलग-अलग तरीकों से किया जा सकता है इसके लिए दालचीनी पाउडर, दालचीनी की चाय तथा पानी में दालचीनी डालकर इसका सेवन किया जा सकता है। इसके अलावा अनेक रेसिपी में या साग सब्जी आदि में भी मसाले के रूप में दालचीनी का उपयोग किया जाता है।

इसका उपयोग हमेशा सीमित मात्रा में किया जाना ही स्वास्थ्य के लिए लाभदायक होता है अधिक मात्रा में दालचीनी का इस्तेमाल करने से कुछ स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है।

दालचीनी का सेवन कब करना चाहिए : Dalchini ka sevan kab kare

वैसे तो दालचीनी का सेवन कभी भी किया जा सकता है लेकिन सुबह खाली पेट दालचीनी का सेवन करने से पेट संबंधी समस्याएं जैसे पेट में जलन, दर्द, गैस, ब्लोटिंग प्रॉब्लम तथा कब्ज जैसी समस्याओं से छुटकारा मिलता है।

पेट में होने वाले किसी भी प्रकार के संक्रमण की समस्या से छुटकारा पाने के लिए सुबह खाली पेट दालचीनी का सेवन करना लाभदायक होता है। दालचीनी को पानी में घोलकर या पानी में उबालकर पीने से इम्यून सिस्टम मजबूत होता है। इसके दूध के साथ सेवन करने से शारीरिक शक्ति बढ़ती है।

दालचीनी के नुकसान : Side effect of cinnamon in hindi

दालचीनी का प्रयोग हमेशा सीमित मात्रा में ही किया जाना फायदेमंद है अधिक मात्रा में सेवन सेहत के लिए नुकसानदेह हो सकता है क्योंकि दालचीनी में कूमरीन (Coumarin) नामक कंपाउंड होता है जो कई बीमारियों का कारण बनता है। कूमरीन का अधिक इस्तेमाल करने से लिवर डैमेज होने या कैंसर का खतरा बढ़ जाता है।

  • दालचीनी ब्लड प्रेशर को कम करती है इसलिए जिन लोगों को लो ब्लड प्रेशर की समस्या है उनको दालचीनी का सेवन चिकित्सक के परामर्श अनुसार ही करना चाहिए।
  • अधिक मात्रा में दालचीनी का सेवन करने से ब्लड शुगर भी कम हो सकता है।
  • दालचीनी का सेवन अधिक मात्रा में करने से सांस संबंधी समस्याओं का खतरा बढ़ जाता है।
  • अधिक मात्रा में दालचीनी का उपयोग करने से मुंह में छालों की समस्या होने का खतरा बना रहता है।
  • दालचीनी का अधिक इस्तेमाल करने से पेट संबंधी समस्या, पेट दर्द, चक्कर आना, उल्टी या जी मिचलाना जैसी समस्याएं हो सकती है।

FAQ : Dalchini के बारे में पूछे जाने वाले सवाल

Q 1. दालचीनी कौन सी बीमारी में काम आती है?

Ans – इसका उपयोग अनेक बीमारियों में करने से लाभ मिलता है। दालचीनी का रोजाना उपयोग करने से स्किन सम्बंधी समस्याओं यानि Skin Problems से बचाव करने में काफी मदद मिलती है। त्वचा के साथ-साथ दालचीनी बालों से जुड़ी तमाम समस्याओं से छुटकारा दिलाने में भी उपयोगी होती है। नियमित आहार में दालचीनी का उपयोग करने से जोड़ों का दर्द, गठिया, सांस सम्बंधी समस्याएं भी आसानी से दूर होती है।

Q 2. सुबह खाली पेट दालचीनी खाने से क्या होता है?

Ans – खाली पेट दालचीनी का पानी पीने से पेट संबंधित तमाम तरह के रोग दूर होकर पाचन सिस्टम मजबूत होता है। इससे गैस, एसिडिटी प्रॉब्लम, अपच, कब्ज, ब्लोटिंग आदि समस्याओं से छुटकारा पाने में भी मदद मिलती है।

निष्कर्ष

दोस्तों आज इस लेख में हमने जाना दालचीनी क्या है, इसमें मौजूद पोषक तत्व तथा औषधीय गुण कौन-कौन से है, दालचीनी के फायदे तथा Cinnamon powder का सेवन करने के तरीके कौनसे हैं इस लेख के बारे में अगर आपके कोई भी सवाल या सुझाव हो तो आप कमेंट बॉक्स में लिख सकते हैं।

आशा करते हैं यह आर्टिकल Dalchini ke fayde आपके लिए उपयोगी होगा तथा पसन्द जरूर आया होगा इसलिए कॉमेंट करके बताएं तथा इसको अपने दोस्तों व परिवार के लोगों के साथ शेयर अवश्य करें और आपके फीडबैक का भी इंतजार रहेगा।

-: लेख को अंत तक पढ़ने के लिए धन्यवाद :-

इन्हें भी पढें –

Share This Product

में श्रवण बिश्नोई Nirogi Health का Founder और एक Professional Blogger हूँ। में आयुर्वेद चिकित्सा पद्धति पर आधारित स्वास्थ्य से संबधित जानकारियां इस ब्लॉग पर नियमित Publish करता रहता हूँ।

Leave a Comment