गाजर के सेवन के फायदे और नुकसान | Best tips carrot benefit in hindi

गाजर खाने के फायदे क्या है (Best health benefit of carrot in hindi)

इसका (गाजर) का सेवन स्वास्थ्य के लिए लाभदायक होता है। गाजर को कच्चा खाने या गाजर का जूस पीने से शरीर में आवश्यक पोषक तत्वों की पूर्ति होती है। गाजर को सर्दियों का सुपरफूड भी कहा जाता है। इस आर्टिकल में जानते हैं गाजर खाने के फायदे (carrot benefit in hindi), गाजर में न्यूट्रीशन, गाजर का उपयोग करने के तरीके,गाजर का जूस पीने के फायदे (carrot juice benefit in hindi) और गाजर के नुकसान क्या है आइए जानते हैं गाजर खाने के फायदे और नुकसान Best tips for carrot benefit in hindi

गाजर के पोषक तत्व (Gajar nutrition in hindi)

यह खाने में स्वादिष्ट होने के साथ-साथ पोष्टिक भी होती है। इसमें कई तरह के पोषक तत्व पाए जाते हैं। गाजर में कैलोरी, कार्बोहाइड्रेट, फाइबर, शुगर, प्रोटीन के अलावा विटामिन ए, विटामिन सी, विटामिन के, पोटेशियम, कैल्शियम और आयरन जैसे सभी तरह के विटामिन और मिनरल्स पाए जाते हैं।

गाजर में एक मजबूत एंटीऑक्सीडेंट भी पाया जाता है जो शरीर के लिए बहुत लाभदायक होता है। कहा जाता है कि ऐसा कोई भी पोषक तत्व नहीं जो गाजर में नहीं पाया जाता है।

गाजर में मौजूद एंटी ऑक्सीडेंट गुण फ्री रेडिकल्स से बचाते हैं। गाजर का सेवन आंखों, डायबिटीज, ह्रदय और कैंसर जैसी बीमारियों से बचाने में भी फायदेमंद होता है। गाजर में पाए जाने वाले इन्ही पोषक तत्वों के कारण ही गाजर को सुपर फूड कहा गया है।

गाजर का सेवन करने के फायदे (carrot health benefit in hindi)

इम्यून सिस्टम मजबूत करने में 

गाजर बहुत पौष्टिक आहार है। यह शरीर को रोगों से लड़ने की शक्ति प्रदान करने के साथ-साथ इम्यूनिटी को मजबूत करने में भी मददगार होती है। इसमें पाया जाने वाला विटामिन C हमारे शरीर में एंटीबॉडी बनाने में मददगार होता है। गाजर में मौजूद अनेक पोषक तत्व शरीर को स्वस्थ रखने और बीमारियों से बचाए रखने में मदद करते हैं।

इसलिए सर्दियों के मौसम में गाजर का ताजा जूस नियमित पीने से शरीर को अनेक फायदे मिलते हैं तथा शरीर स्वस्थ रहता है।

ह्रदय रोग में 

यह हार्ट को स्वस्थ रखने के लिए बहुत फायदेमंद (carrot benefit) होती है। गाजर में पाया जाने वाला पोटैशियम ब्लड प्रेशर को नियंत्रित रखने में मददगार होता है। साथ ही इसमें मौजूद फाइबर वजन को नियंत्रित रखता है जिसके कारण दिल के रोगों के खतरे को कम किया जा सकता है। इसके अलावा गाजर में लाइकोपीन नामक तत्व होता है जो ह्रदय रोगों से बचाने में सहायक होता है।

गाजर का नियमित सेवन एंटीऑक्सीडेंटस को बढ़ाने में मददगार होता है। नियमित खानपान का हार्ट रोगों से बचाने में बड़ा योगदान होता है ह्रदय रोग में आहार चार्ट के लिए यह पढें-

वजन घटाने में 

गाजर में पोषक तत्वों के साथ-साथ फाइबर भी प्रचुर मात्रा में पाया जाता है इसलिए गाजर पेट सम्बंधी सभी तरह की समस्याओं से छुटकारा दिलाने के साथ साथ पाचन क्रिया को मजबूत बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। यह मल त्याग ने की क्रिया को भी उत्तेजित करने में मददगार है।

इन्ही कारणों से गाजर शरीर का वजन नियंत्रित रखने में भी मददगार होती है। ताजी गाजर के ज्यूस का नियमित सुबह के समय सेवन करना मोटापा घटाने में फायदेमंद होता है। गाजर के नियमित सेवन से ब्लड शुगर लेवल को भी नियंत्रित किया जा सकता है।

आंखों के लिए 

यह आँखों के स्वास्थ्य के लिए बहुत उपयोगी मानी जाती है। इसमें बीटा कैरोटीन प्रचुर मात्रा में पाया जाता है। साथ ही गाजर में विटामिन ए पाया जाता है। इसलिए यह आंखों की दृष्टि को बरकरार रखने में बहुत गुणकारी मानी जाती है। गाजर में पाया जाने वाला बीटा कैरोटीन तेज धूप के कारण आंखों में होने वाले नुकसान से बचाता है।

साथ ही यह मोतियाबिंद या आंखों में होने वाली अन्य समस्याओं से राहत दिलाने में मददगार होता है गाजर जूस या गाजर की सब्जी का नियमित सेवन करने से यह आंखों को स्वस्थ रखने के लिए फायदेमंद (carrot benefit) होती है।

स्किन के लिए 

गाजर में पाया जाने वाला बीटा कैरोटीन त्वचा को हेल्दी और चमकदार बनाने में भी उपयोगी होता है। यह स्किन को हाइड्रेटड रखने में भी मददगार होती है। यह पेट साफ रखने के साथ साथ शरीर से विषैले पदार्थों को बाहर निकलने में भी मददगार होती है।

जिसके कारण चेहरे के साथ साथ पूरे शरीर की त्वचा साफ, मुलायम व ग्लोइंग बनती है। और स्किन से दाग धब्बे, पिम्पल्स, कील मुंहासे, ब्लैकहेड्स जैसी समस्याओं से छुटकारा मिलता है।

इसका सलाद या जूस के रूप में सेवन करना स्किन व चेहरे की खूबसूरती बढ़ाने में मददगार होता है। इसके अलावा गाजर से फेस पैक भी बनाया जाता है इसके लिए गाजर के गुद्दे में शहद मिलाकर चेहरे या स्किन पर लगाने से फायदा होता है। स्किन को हेल्दी रखने के उपाय जानने के लिए यह पढें-

हड्डियों को मजबूत बनाने में

गाजर में भरपूर मात्रा में कैल्शियम होने के कारण इसके सेवन से हड्डियां मजबूत होती है। जोडों व हड्डियों के विकास व दर्द की समस्या से राहत दिलाने में गाजर बहुत फायदेमंद (carrot benefit) मानी जाती है क्योंकि इसमें कैल्शियम के साथ साथ अनेक पोषक तत्व पाए जाते हैं।

इसलिए हड्डियों, जोडों और मांशपेशियों को मजबूत व स्वस्थ रखने के लिए नियमित गाजर का सेवन सब्जी या जूस के रूप में करना फायदेमंद होता है। कुछ लोगों में हड्डियों से कट कट की आवाजें आने की समस्या होती है उनको नियमित गाजर के जूस का सेवन अवश्य करना चाहिए।

एनीमिया में 

शरीर के ब्लड में आयरन की कमी होने के कारण लाल रक्त कोशिकाएं कोशिकाओं का निर्माण पर्याप्त मात्रा में नहीं हो पाता है। जो एनीमिया रोग होने का कारण बनता है। इससे छुटकारा दिलाने में गाजर का सेवन बहुत फायदेमंद (carrot benefit) होता है। क्योंकि गाजर में भरपूर मात्रा में आयरन होने के साथ-साथ यह ब्लड में हीमोग्लोबिन की मात्रा में वृद्धि करने में भी सहायक होती है।

इसके लिए गाजर के जूस का नियमित सेवन करना तो फायदेमंद होता ही है। इसके अलावा गाजर को कद्दूकस करके दूध में उबालकर गाजर पाक बनाकर नियमित सेवन करने से एनीमिया रोग में रोग से छुटकारा मिलता है और शरीर स्वस्थ व ताकतवर बनता है। एनीमिया के बारे में अधिक जानने के लिए यह पढें- एनीमिया रोग क्या है

दांतों के लिए 

यह दांतों को स्वस्थ और मजबूत बनाएं रखने के लिए गाजर का सेवन करना लाभदायक होता है। क्योंकि इसमें कैल्शियम मौजूद होता है। इसको चबाकर लगातार खाने से मसूड़े मजबूत होते है तथा मसूड़ों से ब्लड निकलना भी बंद हो जाता है।

इसलिए दाँतो के स्वास्थ्य के लिए गाजर को बहुत गुणकारी माना जाता है। इसका ताज जूस बनाकर नियमित सेवन करना चाहिए। इसके अलावा गाजर को चबाकर खाने की प्रक्रिया को प्राकृतिक टूथब्रश भी कहा जाता है जिससे दांतों में पाई जाने वाली कैविटी को भी साफ रखने में मदद मिलती है।

कैंसर से बचाने में 

यह कैंसर जैसी खतरनाक बीमारी के खतरे से बचाने में मददगार होती है। क्योंकि इसमें पाए जाने वाले एंटीऑक्सीडेंट शरीर में हानिकारक फ्री रेडिकल्स से बचाने में मदद करने में सहायक होते हैं। गाजर में कैरोटिनॉयड व एंथोसायनिन एंटीऑक्सीडेंट पाये जाते है जो कैंसर से लड़ने व बचाने में बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाते है।

रिसर्च में पाया गया है कि गाजर में पाए जाने वाले  फाइटोन्यूट्रिएंट्स व अन्य घटक कैंसर के विकास को रोकने में सक्षम होते हैं। इसी कारण गाजर को कैंसर के खतरे को कम करने में फायदेमंद माना जाता है।

गाजर खाने का तरीका (How to eat carrot benefit in hindi)

इसका सेवन अनेक प्रकार से किया जाता है। भारतीय किचन में गाजर से अनेक प्रकार के व्यंजन बनाये जाते है। सर्दियों के मौसम में गाजर, पालक, चुकंदर, आंवला आदि का जूस बनाकर नियमित सेवन किया जाता है।

  • गाजर को नियमित सलाद के रूप में खाया जा सकता है।
  • दिन में एक गिलास गाजर का जूस पिया जा सकता है। इसका पल्प फेकना नही चाहिए बल्कि जूस का साथ मिलाना चाहिए।
  • रात के भोजन से पहले गाजर, चुकंदर व टमाटर का सूप पीना चाहिए।
  • गाजर से गाजर पाक या हलवा बनाकर खाना भी स्वास्थ्य वर्धक माना जाता है।
  • मधुमेह से पीड़ित रोगियों को इसका जूस पीने की बजाय गाजर को उबालकर खानी चाहिए।

मधुमेह रोग में डाइट प्लान जानने के लिए यह पढें-

ाजर के नुकसान (side effects of carrot in hindi)

इसका उचित मात्रा में सेवन (carrot benefit in hindi) करना स्वास्थ्य के लिए उत्तम और स्वास्थ्य वर्धक आहार है लेकिन गाजर का अधिक मात्रा में सेवन करने से इसके कुछ दुष्प्रभाव भी हो सकते है जैसे

  • गाजर में चीनी की मात्रा अधिक होती है इसलिए डायबिटीज के रोगियों को इसका सेवन उबालकर या सब्जी के रूप में ही करना चाहिए कच्ची गाजर या जूस का सेवन करने से बचना चाहिए।
  • इसमें बीटा कैरोटीन व विटामिन ए होने के कारण इसका उचित सेवन स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद है लेकिन अधिक सेवन करने से स्किन का रंग फीका पड़ सकता है।
  • गाजर का अधिक मात्रा में सेवन करने से पेट दर्द, गैस, पेट फूलना, दस्त या पाचन संबंधी समस्याएं हो सकती है।
  • स्तनपान कराने वाली महिलाओं को भी गाजर के जूस का अधिक मात्रा में सेवन करने से बचना चाहिए क्योंकि इसका अधिक सेवन स्तनों के दूध का स्वाद बदल सकता है।

FAQ

Q 1. गाजर को कैसे खाएं?

Ans  इसका सेवन अनेक तरीकों से किया जा सकता है। गाजर को कच्चा सलाद के रूप में भी खाया जाता है तथा इसका जूस निकालकर भी पिया जाता है। इसके अलावा गाजर की सब्जी, गाजर को उबालकर, हलवा बनाकर, गाजर पाक बनाकर, सूप आदि बनाकर इसका सेवन किया जाता है।

Q 2. गाजर के जूस के क्या फायदे हैं?

Ans  शरीर में जरूरत की विटामिन ए की पूर्ति के लिए नियमित एक कप गाजर जूस पर्याप्त होता है। गाजर के जूस में विटामिन ए के साथ साथ विटामिन सी, के, बी6 व विटामिन ई, पोटैशियम, मैग्नीशियम, कॉपर, जिंक और फॉस्फोरस भी प्रचुर मात्रा में होते हैं यह सभी तत्व शरीर के लिए महत्वपूर्ण होते है।

Q 3. गाजर कब खानी चाहिए?

Ans  इसका सेवन करने का सही समय इस बात पर निर्भर करता है कि गाजर का सेवन किसी शारीरिक समस्या में किया जा रहा है या स्वास्थ्य वर्धक आहार के रूप में किया जा रहा है। लेकिन इसके सेवन का सही समय सुबह खाली पेट इसका एक गिलास जूस पीना चाहिए तथा नास्ता या खाना खाने के बाद दोपहर बाद  तक भी गाजर का सलाद या जूस के रूप में सेवन किया जा सकता है। रात को गाजर का सेवन करने से बचना चाहिए।

यह आर्टिकल गाजर खाने के फायदे क्या है (Best tips for carrot benefit in hindi) आपको कैसा लगा, इसके बारे में आपके कोई सुझाव या सवाल हो तो Comment बॉक्स में जरूर लिखें तथा पोस्ट को शेयर भी करें।

इन्हें भी पढें

Leave a Comment

होठों को स्वस्थ रखने के उपाय हृदय रोग से बचने के घरेलु उपाय Heart Disease Treatment in hindi हींग खाने के फायदे Hing Benefits हाई ब्लड प्रेशर से राहत पाने के घरेलू उपाय | High blood pressure ka ilaj