कैल्शियम की कमी कैसे पूरी करें | Calcium deficiency treatment in hindi

कैल्शियम की कमी दूर करने के घरेलू उपाय (How to improve calcium deficiency in hindi) कैल्शियम की कमी कैसे दूर करें

कैल्शियम हमारे शरीर के लिए बहुत आवश्यक होती है। शरीर में कैल्शियम की कमी (Calcium deficiency in hindi) होने पर अनेक तरह की समस्याएं उत्पन्न होने लगती है। हड्डियों की मजबूती और विकास के लिए कैल्शियम जरूरी होता है। हरी सब्जियां, दूध, दही, पनीर व बादाम कैल्शियम के मुख्य स्रोत हैं। निरोगी हेल्थ के इस आर्टिकल में जानेंगे शरीर में कैल्शियम की कमी क्या है इसके लक्षण, कारण और शरीर में कैल्शियम बढ़ाने के लिए क्या खाएं व Calcium deficiency treatment in hindi आइए जानते हैं कैल्शियम कैसे बढ़ाए (Calcium deficiency treatment at home in hindi)

हमारे शरीर में हड्डियों व दांतों को मजबूत बनाएं रखने के साथ-साथ मांसपेशियों को बेहतर बनाएं रखने में भी कैल्शियम महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। शारीरिक विकास और मसल्स बनाने में कैल्शियम सहायक होता है। ह्रदय के साथ साथ शरीर के अन्य हिस्सों को भी सुचारू रूप से कार्य करने के लिए कैल्शियम की आवश्यकता होती है।

कैल्शियम की कमी दूर करने के लिए नियमित डेयरी प्रोडक्ट्स का अधिक सेवन करें इसके लिए दूध, दही, पनीर, मक्खन आदि चीजों को अपनी नियमित डाइट में शामिल करना चाहिए। बच्चों को नियमित एक गिलास दूध पीने की आदत डालें। इस लेख में बताये गए घरेलू उपायों से शरीर में कैल्शियम की कमी को दूर (Calcium deficiency treatment in hindi) किया जा सकता है अंत तक जरूर पढ़ें

कैल्शियम की कमी क्या है (What is calcium deficiency in hindi)

यह (कैल्शियम) एक महत्वपूर्ण मिनरल (खनिज) होता है। हमारे शरीर का 99 प्रतिशत कैल्शियम दांतों व हड्डियों में ही होता है। बाकी बचा हुआ एक प्रतिशत कैल्शियम मांसपेशियों का संकुचन, धमनियों का विस्तार व संकुचन, तंत्रिका तंत्र प्रणाली आदि महत्वपूर्ण कार्यों में सहायक होता है।

जब हमारा शरीर पर्याप्त मात्रा में कैल्शियम प्राप्त नही कर पाता है तो शरीर के ब्लड में कैल्शियम का स्तर कम होना कैल्शियम की कमी कहलाता है। कैल्शियम की कमी को Hypocalcemia भी कहा जाता है। इसकी कमी होने से हड्डियों व जोड़ो में दर्द की समस्या होती है यह पढ़ें- जोड़ो में दर्द का घरेलू इलाज 

कैल्शियम की कमी के लक्षण (Symptom of calcium deficiency in hindi)

शरीर में कैल्शियम की कमी होने पर हड्डियां व दांत कमजोर होने के साथ-साथ कई अन्य बीमारियां भी हो जाती है। शरीर में कैल्शियम की कमी के लक्षण है जैसे

  • हड्डियों का कमजोर व दर्द होना
  • मांसपेशियों में ऐंठन होना
  • याददाश्त कमजोर होना
  • दांत कमजोर व दांतों में दर्द होना
  • शरीर का सुन्न होना
  • हाथों व पैरों की उंगलियों में झनझनाहट होना
  • जोड़ों में कट कट की आवाज आना
  • लगातार सुस्ती व थकावट महसूस करना
  • भूख न लगना या कम लगना
  • नाखून कमजोर होना
  • महिलाओं में मासिक धर्म का अनियंत्रित हो ना
  • बालों का कमजोर होना व झड़ना भी कैल्शियम की कमी का लक्षण होता है।

कैल्शियम की कमी के कारण (Causes of calcium deficiency in hindi)

शरीर मे आवश्यक पोषक तत्वों की कमी के कारण कैल्शियम की कमी हो जाती है। इसकी कमी के और भी बहुत से कारण हो सकते हैं जिनमें से प्रमुख कारण निम्नलिखित है जैसे

  • खून में प्रोटीन का स्तर कम होना
  • पोष्टिक भोजन न करना
  • हार्मोन का असामान्य तरीके से बदलना
  • दवाओं का साइड इफेक्ट होना
  • आंत, किडनी व पाचन सम्बंधी रोग के कारण
  • शरीर मे विटामिन डी या फॉस्फेट की कमी के कारण
  • जेनेटिक कारणों से भी शरीर में कैल्शियम की कमी हो सकती है।

कैल्शियम की कमी के लिए क्या खाना चाहिए (Calcium deficiency treatment at home in hindi)

 

आंवला का सेवन

आंवला में प्रचुर मात्रा में कैल्शियम पाया जाता है। साथ ही यह विटामिन सी का भी अच्छा स्रोत होता है। जो शरीर की रोगों से लड़ने की शक्ति बढ़ाता है। आंवले का सेवन किसी भी रूप में करना स्वास्थ्य के लिए लाभदायक होता है। कैल्शियम की पूर्ति के लिए आंवले का ज्यूस के साथ गाजर व पालक का ज्यूस मिलाकर सेवन करने से लाभ होता है।

इसके अलावा आंवला चूर्ण में मिश्री मिलाकर सेवन करना भी स्वास्थ्य के लिए उत्तम होता है। यह पढ़ें- आंवला का सेवन कैसे करें

अंजीर का सेवन

अंजीर कैल्शियम का अच्छा स्रोत होता है। अंजीर में मैग्नीशियम, पोटेशियम, जिंक, मैग्नीज, आयरन, कॉपर, कैल्शियम, प्रोटीन के साथ-साथ एंटीऑक्सीडेंट की भी अच्छी मात्रा पाई जाती है तथा इसमें फाइबर भी प्रचुर मात्रा में पाया जाता है।

इसलिए अंजीर का सेवन करना स्वस्थ रहने के लिए उपयोगी होता है। नियमित दो या तीन अंजीर को दूध के साथ सेवन करने से शरीर में अनेक पोषक तत्वों की पूर्ति के साथ कैल्शियम की कमी को पूरा किया जा सकता है।

बादाम का सेवन

ड्राईफ्रूट्स का नियमित उपयोग स्वस्थ व निरोगी रहने और इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाने में लाभदायक है। और बादाम का सेवन  शरीर में कैल्शियम की पूर्ति करने के साथ जरूरी पोषक तत्वों की भी पूर्ति करने में सहायक होता है। बादाम खाने से शरीर में काफी हद तक कैल्शियम की कमी को पूरा किया जा सकता है।

इसके लिए बादाम को भिगोकर या दूध में फैट कर खाया जा सकता है यह कैल्शियम की कमी के कारण होने वाली याददाश्त कमजोर होने की समस्या से छुटकारा दिलाकर मेमोरी पावर भी तेज करता है। यह पढ़ें- दिमाग तेज कैसे करें

तिल का सेवन

तिल भी कैल्शियम से भरपूर होता है एक चम्मच तिल में 80 से 90 MG कैल्शियम पाया जाता है। इसलिए शरीर में कैल्शियम की कमी को पूरा करने के लिए तिल को किसी भी रूप में सेवन किया जा सकता है। तिल को भिगोंकर दूध के साथ सेवन किया जाए या तिल का पाऊडर बनाकर भी दूध में मिलाकर सेवन करना लाभदायक होता है।

खसखस का सेवन

पोस्त दाना या खसखस शरीर मे ऊर्जा और गर्माहट रखने में मददगार होता है। इसमें कैल्शियम भी भरपूर मात्रा में पाया जाता है। इसलिए गर्मियों में खसखस को रात को पानी मे भिगोंकर सुबह कूटकर पेस्ट बनाकर दूध में मिलाकर सेवन करना कैल्शियम की कमी दूर करने में कारगर उपाय है। सर्दियों में इसको रात को सोने से पहले दूध में उबालकर पीने से कैल्शियम की पूर्ति करने में यह लाभदायक होता है।

खजूर का सेवन

खजूर शरीर के शारीरिक विकास और कमजोरी दूर करने के साथ साथ कैल्शियम की पूर्ति करने में भी उपयोगी होता है। इसके लिए खजूर को दूध में उबालकर नियमित सेवन करने से शरीर मे कैल्शियम की कमी दूर होती है।

खजूर का सर्दियों के मौसम में नियमित सेवन करने से सर्दी से बचाने और शारीरिक दुर्बलता दूर करने भी मददगार होता है। तथा इससे रोगप्रतिरोधक क्षमता भी मजबूत होती है। यह पढ़ें- शारीरिक दुर्बलता दूर करने के उपाय

फलों का सेवन

फलों और फलों का जूस पौष्टिक होने के साथ साथ शरीर को अनेक रोगों से बचाने में भी उपयोगी होता है। कुछ ऐसे फल है जिन का नियमित सेवन करने से शरीर में होने वाली कैल्शियम की कमी की समस्या से बचा जा सकता है।

इसके लिए केला, संतरा, मौसमी, चुकंदर, पपीता आदि का उपयोग या इनका का जूस निकालकर नियमित सेवन करने से शरीर में कैल्शियम की कमी दूर करने में मदद मिलती है।

कैल्शियम की कमी से बचने के उपाय ( Home remedies for calcium deficiency in hindi)

नियमित आहार में कुछ ऐसे खाद्य या पेय पदार्थों को शामिल किया जाये जिनसे शरीर में जरूरी कैल्शियम की पूर्ति की जा सकती है। जीवनशैली और खाने-पीने की कुछ आदतों में बदलाव व कुछ सावधानियां रखने से शरीर में कैल्शियम की कमी होने से बचा जा सकता है जैसे

हेल्थी डाइट

शरीर में कैल्शियम की कमी से बचने का कारगर उपाय हेल्थी डाइट अपनाना होता है। इसके लिए हरी पत्तेदार सब्जियां, दूध, दही, पनीर, छाछ, फ्रूट्स, ड्राईफ्रूट्स आदि चीजों का नियमित सेवन करना लाभदायक होता है।

इसके अलावा दालों में भी कैल्शियम की अच्छी मात्रा पाई जाती है। इसलिए दालों, सब्जियों व फ्रूटस के सूप को भी हेल्थी डाइट का हिस्सा बनाना चाहिए।  फलों में सेव, संतरा, स्टोबेरी  पपीता आदि का सेवन करना चाहिए।

विटामिन डी

नियमित डाइट या भोजन से कैल्शियम रोकने के लिए विटामिन डी उपयोगी होता है इसलिए शरीर में कैल्शियम की कमी को पूरा करने में विटामिन डी महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। अपने आहार में ऐसी चीजों को शामिल करें जिनमें विटामिन डी की मात्रा अधिक हो जैसे दूध, मक्खन, पनीर, ड्राई फ्रूट्स आदि

इसके अलावा नियमित धूप में बैठना भी विटामिन डी की पूर्ति में मददगार होता है। यह पढ़ें- विटामिन डी की कमी क्या है

शारीरिक एक्टिविटीज

नियमित शारीरिक एक्टिविटी या एक्सरसाइज करने वाले लोगों में कैल्शियम की कमी की समस्या बहुत कम होती है। इसलिए नियमित योग, व्यायाम, एक्सरसाइज व तेज कदमों से चलना, मॉर्निंग वॉक, साइक्लिंग, स्विमिंग आदि गतिविधियां करने से शरीर में कैल्शियम की कमी दूर होती है व शरीर स्वस्थ रहता है।

कैल्शियम की कमी में सावधानी

शरीर में कैल्शियम की कमी दूर करने के उपाय (Calcium deficiency treatment in hindi) जानने के बाद जानते है इस बीमारी में कौन कौन सी सावधानियां है जिनको अपनाकर इससे बचा जा सकता है।

  • नमक शरीर में कैल्शियम के स्तर को प्रभावित करता है। इसलिए नमक का सेवन कम करना चाहिए।
  • अधिक चीनी या मीठी चीजों का सेवन भी कम मात्रा में करना चाहिए क्योंकि चीनी शरीर में कैल्शियम कम करती है। यह पढ़ें- चार व्हाइट फूड का करें परहेज
  • धूम्रपान करने के कारण भी शरीर में कैल्शियम का स्तर सामान्य से कम हो जाता है। इसलिए धूम्रपान करने से बचना चाहिए।
  • अल्कोहल, कैफीन तथा नमक अधिक कैल्शियम के अवशोषण में रुकावट पैदा करते हैं। इसलिए इन चीजों का उपयोग करने से बचना चाहिए।

FAQ

Q 1. कैल्शियम की कमी होने पर क्या खाना चाहिए?

Ans  शरीर में कैल्शियम की कमी दूर करने के लिए खाने में दूध, दही, पनीर, मक्खन, बादाम आदि को शामिल करना लाभदायक होता है। इसके अलावा सोयाबीन में भी कैल्शियम और आयरन भरपूर मात्रा में होता है तथा दूध के साथ केला खाने से भी मदद मिलती है।

Q 2. बच्चों में कैल्शियम की कमी कैसे दूर करें?

Ans  बच्चों में कैल्शियम की कमी दूर करने के लिए घरेलू उपचार में दूध का प्रयोग सबसे बेहतर और आसान तरीका है। दूध या दूध से बनी चीजों में कैल्शियम प्रचुर मात्रा में होती है। इसलिए बच्चों को नियमित दूध या दूध से बनी चीजें जैसे पनीर मक्खन, दही आदि का उचित मात्रा में सेवन करना चाहिए।

इस लेख कैल्शियम की कमी कैसे दूर करें (Calcium deficiency treatment in hindi) के बारे में आपके कोई सुझाव या सवाल हो तो Comment बॉक्स में अवश्य लिखें और पोस्ट को शेयर भी करें तथा Bell आइकॉन दबाएं।

इन्हें भी पढ़ें-

Leave a Comment