Anemia treatment | एनीमिया क्या है इसके लक्षण कारण और घरेलू इलाज

Anemia ka ilaj

खून की कमी के लक्षण, कारण और घरेलू उपचार {Anemia treatment in hindi}

आजकल अधिकांश महिलाओं में खून की कमी यानि Anemia के लक्षण सामान्य देखे जा सकते हैं। एनीमिया महिलाओं में होने वाली एक मुख्य समस्या है। खून की कमी को दूर करने के लिए अपने नियमित आहार में पोषक तत्वों के साथ-साथ आयरन युक्त खाद्य पदार्थों या विटामिन B-12 से युक्त खाद्य पदार्थों को शामिल करना आवश्यक होता है। निरोगी हेल्थ के इस आर्टिकल में जानेगे एनीमिया क्या है और एनीमिया में क्या खाना चाहिए (Home remedies for anemia) महिलाओं में खून की कमी का घरेलू इलाज। जानते है Anemia treatment in hindi एनीमिया रोग का घरेलू इलाज

एनीमिया क्या है (What is Anemia)

खून की कमी (Anemia) के कारण महिलाओं को कई तरह की शारीरिक समस्याओं का सामना करना पड़ता है। शरीर में सेल्स को एक्टिव रखने के लिए ऑक्सीजन की जरूरत होती है। ऑक्सीजन को शरीर के अंगों तक पहुंचाने का काम हिमोग्लोबिन का होता है। शरीर में आयरन की कमी होने के कारण सेल्स को ऑक्सीजन नहीं मिल पाती जिससे सेल्स कार्बोहाइड्रेट व वसा को जलाकर एनर्जी में बदलने में असमर्थ हो जाते हैं। इससे शरीर की बॉडी और ब्रेन की कार्य क्षमता पर प्रभाव पड़ता है इसे ही एनीमिया रोग (Anemia disease) कहा जाता है।

खून की कमी के लक्षण क्या है (Symptoms of Anemia)

रक्त में हीमोग्लोबिन के स्तर में कमी या इसके असामान्य होने पर शरीर को पर्याप्त मात्रा में ऑक्सीजन नहीं मिल पाती है। इसके कारण शरीर में थकान व कमजोरी के साथ और भी बहुत से लक्षण दिखाई देते हैं जैसे

  • त्वचा का पीला या सफेद होना
  • सांस लेने में समस्या होना
  • दिल की धड़कन का असामान्य होना
  • सिर दर्द के साथ साथ चक्कर आना
  • हाथों और पैरों का ठंडा हो जाना
  • छाती में दर्द होना
  • पीठ व कमर में दर्द होना
  • मासिक धर्म का असामान्य होना
  • जीभ, नाखूनों व पलकों में सफेदी का होना
  • बालों का झड़ना
  • नकसीर छूटना

खून की कमी के कारण क्या है (What is the cause of anemia in hindi)

एनीमिया का प्रमुख कारण आयरन युक्त खाद्य पदार्थों का पर्याप्त मात्रा में सेवन नहीं करना होता है क्योंकि रक्त में लाल रक्त कणों के निर्माण में लौह तत्व (आयरन) महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। Anemia के और भी बहुत से कारण होते हैं जैसे

  • बार बार गर्भधारण करने के कारण
  • रक्त का नुकसान (महावारी में अधिक रक्तस्राव) के कारण
  • पेट में कीड़ों के कारण
  • दस्त व खूनी दस्त के कारण
  • मलेरिया या पेट के अल्सर के कारण
  • शरीर में आयरन की कमी के कारण
  • कैल्शियम का अधिक मात्रा में सेवन के कारण
  • लंबे समय तक किसी बीमारी के कारण भी समस्या हो सकती है।

एनीमिया में क्या खाना चाहिए (Anemia diet plan in hindi)

Anemia treatment in hindi

दूध में अंजीर का सेवन

रक्त में हीमोग्लोबिन की मात्रा बढ़ाने के लिए दूध और अंजीर एक उत्तम आहार होता है। क्योंकि अंजीर में भरपूर मात्रा में आयरन होता है। इसके अलावा अंजीर में विटामिन्स, फाइबर, कैल्शियम और मिनरल्स आदि प्रचुर मात्रा में पाए जाते हैं। जो एनीमिया (Khoon ki kami) से राहत दिलाने में उपयोगी होते हैं।

इसके लिए धीमी आंच पर दूध में अंजीर और इलायची को डालकर अच्छी तरह से उबाल लें और नियमित रात को सोने से पहले अंजीर को चबाकर खाएं और दूध पी लेने से कुछ ही दिनों में ब्लड में हीमोग्लोबिन का स्तर बढ़ने लग जाता है। व रोगप्रतिरोधक क्षमता भी मजबूत होती है। यह पढ़ें – अंजीर खाने के फायदे और औषधीय गुण 

चुकंदर का सेवन

महिलाओं और पुरुषों में होने वाले सभी प्रकार के खून की कमी Anemia की समस्या से छुटकारा पाने के लिए चुकंदर का सेवन बेहद फायदेमंद होता है। इसके लिए चुकंदर, गाजर और शकरकंद का ताजा ज्यूस निकालकर इसमें एक चम्मच शहद मिलाकर नियमित सेवन करना लाभदायक होता है। जल्दी राहत पाने के लिए इसका सेवन दिन में दो बार करना मददगार होता है।

काले तिल का सेवन

काला तिल आयरन से भरपूर होता है। जिससे एनीमिया या खून की कमी की समस्या में राहत मिलती है। एक से दो चम्मच तिल को 2 घंटे के लिए पानी में भिगोकर रख दें भीगने के बाद तिल का पेस्ट बनाकर इसमें एक चम्मच शहद मिलाकर इसको दूध में फैट कर नियमित सुबह के समय सेवन करने से खून की कमी की समस्या से छुटकारा मिलने के साथ-साथ महिलाओं के मासिक धर्म संबंधी समस्याओं में भी राहत मिलती है।

अनार का सेवन

महिलाओं में खून की कमी (Anemia) के साथ-साथ अन्य शारिरिक और मानसिक समस्याओं से राहत दिलाने के लिए अनार बहुत उपयोगी होता है। यह स्किन पर भी ग्लो लाता है। नियमित एक कप अनार के ज्यूस में एक चम्मच शहद और कुछ मात्रा में दालचीनी पाउडर मिलाकर सेवन करना लाभदायक होता है। अगर ताजे अनार ना मिले तो सूखे अनार के बीजों के एक से दो चम्मच पाउडर गरम दूध में मिलाकर सेवन करने से लाभ मिलता है।

आयरन युक्त आहार का सेवन

खून की कमी की समस्या से ग्रसित महिलाओं को अपनी नियमित डाइट में अधिक मात्रा में आयरन युक्त आहार का सेवन करना लाभदायक होता है। इसके लिए अपनी डाइट में पालक, केला, ब्रोकली, अनार और बेरीज, खजूर, बादाम, अखरो,ट पाइन नट्स, कद्दू के बीज, अलसी के बीज और दालों का सेवन उचित मात्रा में करना लाभदायक होता है।

विटामिन सी युक्त आहार का सेवन

खून की कमी से राहत पाने के लिए विटामिन सी युक्त फूड्स को अपनी नियमित डाइट में शामिल करना चाहिए। इसके लिए संतरा, कीवी, केला, बादाम, सेव, टमाटर, स्ट्रौबरी, लहसुन, मशरूम आदि विटामिन सी से भरपूर खाद्य पदार्थ होते हैं। इसलिए इनको अपने आहार में शामिल करके शरीर को स्वस्थ बना सकते हैं व खून की कमी दूर कर सकते हैं।

गिलोय का सेवन

शरीर को स्वस्थ रखने में गिलोय का काफी योगदान होता है। एनीमिया से राहत पाने के लिए गिलोय घनवटी शहद में मिलाकर खाने से लाभ मिलता है। इसके अलावा गिलोय की 2 इंच ताजी डंडी को रात भर पानी में भिगोकर रखें सुबह इस पानी का नियमित सेवन करने से लाभ मिलता है। यह भी पढ़ें – गिलोय जूस पीने के फायदे क्या है 

जीवन शैली में बदलाव

शरीर में होने वाली खून की कमी (Anemia) की समस्या से छुटकारा पाने के लिए घरेलू इलाज (Anemia treatment) और खानपान में बदलाव के साथ साथ जीवनशैली में भी कुछ बदलाव करना जरूरी होता है।

  • खाना बनाने के लिए लोहे के बर्तनों का उपयोग करना चाहिए क्योंकि लोहे के बर्तन में भोजन पकाने से भोजन लोह तत्व को अवशोषित करता है।
  • खून की कमी दूर करने के लिए सुबह के समय दूध में घी डालकर नियमित सेवन करना लाभदायक होता है।
  • खून की कमी में महिलाओं को ज्यादा खट्टा मसालेदार खाने से बचना चाहिए क्योंकि ऐसे खाद्य पदार्थ पित्त को असंतुलित करते हैं।
  • नीम और तुलसी की ताजी पत्तियों का सेवन करने से खून की कमी की समस्या में राहत मिलती है। क्योंकि नीम आयरन से भरपूर होता है और तुलसी आयरन, विटामिन सी से भरपूर होती है इन में एंटीऑक्सीडेंट गुण भी पाए जाते हैं।
  • दालों व सब्जियों के सूप का नियमित सेवन करना लाभदायक होता है।
  • शरीर की पाचन क्रिया को सुचारू रखें फास्ट फूड, जंक फूड, मिर्च मसालेदार खाद्य पदार्थों का सेवन करने से बचना चाहिए।
  • छाछ में जीरा डालकर नियमित सेवन करने से पाचन में तंत्र में सुधार के साथ-साथ रक्त में हीमोग्लोबिन के स्तर में भी सुधार होता है।
  • गहरे पीले व गहरे हरे रंग की पत्तेदार सब्जियों व फलों का उचित मात्रा में सेवन करना लाभदायक होता है।
  • नियमित योग व व्यायाम करना लाभदायक होता है।

FAQ

Q 1 एनीमिया रोग का प्रमुख कारण क्या है?

Ans  शरीर में खून की कमी, हीमोग्लोबिन का स्तर कम होना और लाल रक्त कोशिकाओं के उत्पादन में कमी आदि के कारण एनीमिया रोग होता है।

Q 2 एनीमिया कैसे ठीक होता है?

Ans  इस समस्या से छुटकारा पाने के लिए भरपूर मात्रा में प्रोटीन युक्त खाद्य और पेय पदार्थों का सेवन करना चाहिए। इसके अलावा ताजे फलों और फलों के जूस का भी उचित मात्रा में सेवन करना लाभकारी होता है। इसके अलावा हरी पत्तेदार सब्जियां, चुकंदर, शकरकंद और अंकुरित अनाज खाने से एनीमिया रोग ठीक होता है।

Q 3 आयरन की कमी कैसे पूरी होती है?

Ans आयरन की पूर्ति के लिए काले तिल, खजूर, व्हीटग्रास, मोरिंगा (सहजन), किसमिस, चुकंदर, गाजर, पालक आदि आयरन से भरपूर पदार्थों का सेवन करना चाहिए। इसके अलावा दाले और साबुत अनाज का सेवन करने से भी शरीर मे आयरन की कमी को पूरा किया जा सकता है। ड्राई फ्रूट्स और बीजों का सेवन करने से भी राहत मिलती है।

निष्कर्ष (Conclusion)

आज इस लेख में हमने जाना एनीमिया क्या है शरीर में खून की कमी के कारण, लक्षण और एनीमिया रोग का घरेलू इलाज  (Anemia treatment plan) और खून की कमी को दूर करने के घरेलू उपाय कौन कौन से है तथा इस रोग (Anemia) में जीवन शैली में क्या बदलाव करने जरूरी होते है। इस आर्टिकल के बारे में आपके कोई भी सुझाव या सवाल हो तो कमेंट में लिख सकते है।

इस आर्टिकल में लिखी गई तमाम जानकारियों को सूचनात्मक उद्देश्य से लिखा गया है अतः किसी भी सुझाव को आजमाने से पहले चिकित्सक से परामर्श अवश्य कर लेवे

यह लेख एनीमिया क्या है इसका घरेलू इलाज (Treatment for anemia patient in hindi) आपको कैसा लगा Comment करें और लेख को अपने दोस्तों को शेयर भी करें।

इन्हें भी पढ़ें~

1 thought on “Anemia treatment | एनीमिया क्या है इसके लक्षण कारण और घरेलू इलाज”

Leave a Comment