Amla uses in hindi | सर्दियों में आंवला का सेवन कैसे करें- Nirogi Health

सर्दियों में आंवले का सेवन करने के तरीके (Amla ka sevan kaise karen)

आंवला का सेवन (Amla uses in hindi) करना स्वास्थ्य के लिए बेहद लाभदायक होता है। आंवला खाने से शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है। लोग आंवले का मुरब्बा अपनी डाइट में जरूर शामिल करते हैं। कुछ लोग आंवले का जूस पीते (Raw amla uses in hindi) हैं तो कुछ लोगों को आंवले का अचार अच्छा लगता है। निरोगी हेल्थ के इस आर्टिकल में जानेगे आंवला का सेवन किन किन तरीको से किया जा सकता है आइए जानते है आंवला का सेवन कैसे करें (Amla uses in hindi )

आंवला में पोषक तत्व (Amla nutrition in hindi)

अनेक पोषक तत्वों का भंडार होता है यह कई तरह की बीमारियों से लड़ने में भी हमारी मदद करता है। आंवला  में कैल्शियम, विटामिन सी, फास्फोरस, प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट, एंटी ओक्सीडेंट जैसे अनेक तत्व पाए जाते हैं। जो स्वस्थ और निरोगी हेल्थ के लिए आवश्यक न्यूट्रिशन व मिनरल्स होते है।

आयुर्वेद के अनुसार आंवले को पोषक तत्वों से भरपूर माना गया है आंवले को किसी भी रूप में सेवन (amla uses in hindi) किया जा सकता है इसे जूस, चूर्ण, अचार, या मुरब्बे के रूप में भी खा सकते हैं। आंवले में प्रचुर मात्रा में कैल्शियम और प्रोटीन होता है जिससे हड्डियां और मांसपेशियां मजबूत होती है।

इसलिए इसका सेवन सर्दियों में खुद को स्वस्थ रखने के लिए किया जाना लाभकारी होता है। आइए जानते हैं आंवले को अपनी नियमित डाइट में कैसे शामिल किया जा सकता है (Amla uses in hindi)

आंवला जूस (Amla juice)

आंवले का जूस स्वास्थ्य के लिए बहुत लाभदायक होता है इसे आसानी पर घर पर ही बना सकते हैं। इसे बनाने के लिए सबसे पहले आंवले को अच्छी तरह से धो लें। उसके बाद मिक्सी में इसका जूस निकालकर सेवन करें रोजाना सुबह खाली पेट इसका जूस का सेवन करने से पाचन तंत्र दुरुस्त रहता है।

यह त्वचा से संबंधित समस्याओं को भी दूर करता है। आंवले के जूस का नियमित सेवन करने से इम्यून सिस्टम भी मजबूत होता है।

आंवले का चूर्ण (Amla powder)

इस को अपनी नियमित डाइट में चूर्ण के रूप से भी शामिल किया जा सकता है। इससे भी स्वास्थ्य के लिए आंवला में मौजूद सभी जरूरी पोषक तत्व मिलते हैं। इसके लिए आंवले को छोटे-छोटे टुकड़ों में काट लें इसके बाद इन्हें कुछ दिनों के लिए धूप में सुखाने के लिए रख दें।

सूख जाने के बाद इसको और छोटे टुकड़ों में काट लें और मिक्सर में डालकर पीस लें। इस तरह तैयार आंवले के चूर्ण का सेवन किसी भी समय किया जा सकता है। स्वाद के लिए इसमें मिश्री भी मिलाई जा सकती है इससे स्वास्थ्य को अनेक लाभ होते हैं।

आंवले का मुरब्बा (amla murabba)

सर्दियों में अधिकांश लोग आंवले के मुरब्बे का सेवन करते हैं। आंवले का मुरब्बा स्वास्थ्य के लिए बहुत लाभकारी होता है। यह त्वचा, सेहत और बालों को लाभ पहुंचाता है। बच्चे भी इसे शौक से खाते हैं बच्चों की डाइट में इसको जरूर शामिल करना चाहिए। आंवला मुरब्बा को सेवन करने का सबसे अच्छा तरीका खाली पेट होता है यह कोलेजन विंघटन से भी बचा सकता है।

आंवला कैंडी (amla candy)

बच्चे अक्सर आंवले को जूस, मुरब्बे या फिर चूर्ण के रूप में खाना पसंद नहीं करते हैं। ऐसे में उनके लिए आंवले की कैंडी का सेवन किया जा सकता है। क्योंकि कैंडी बच्चों को बहुत पसंद होती है वह इसे शौक से खाते हैं। घर पर बने आंवला कैंडी स्वादिष्ट होने के साथ-साथ पोस्टिक भी होते हैं। बच्चों की डाइट में आँवले को कैंडी के रूप में शामिल कर सकते हैं। बच्चे इस कैंडी को किसी भी समय खा सकते हैं।

आंवले की चटनी व अचार (amla chutney,achar)

अधिकांश लोग आंवले को अचार के रूप में अपनी डाइट में शामिल करते हैं। आंवले का अचार भी सेहत के लिए बहुत अच्छा माना जाता है। वहीं अगर किसी को आचार पसंद नहीं है तो इसकी चटनी बनाकर भी खा सकते हैं। इसका सेवन नाश्ते, लंच, डिनर या किसी भी समय कर सकते हैं।

 

आंवले के स्वास्थ्य लाभ (amla svasthya labh)

  • आंवला विटामिन सी एंटीऑक्सीडेंट्स और प्रोटीन का अच्छा स्रोत होता है यह मेटाबॉलिज्म को बढ़ाता है।
  • इस में प्रचुर मात्रा में फाइबर पाया जाता है इसलिए यह कब्ज की समस्या से छुटकारा दिलाने में भी उपयोगी होता है।
  • आंवला जूस को नियमित डाइट में शामिल करने से ओरल हेल्थ स्वस्थ रहती है। यह मसूड़ों को मजबूत बनाता है और सांसों की बदबू को भी दूर करता है।
  • यह लिवर टॉनिक का भी काम करता है आंवला कमजोर और फैटी लिवर के लिए भी फायदेमंद होता है। इसका नियमित सेवन करने से लिवर की कार्य क्षमता बढ़ने के साथ साथ लिवर हेल्थी और मजबूत भी होता है।
  • आंवला डायबिटीज रोगियों के लिए भी काफी फायदेमंद होता है। शुगर रोग में आंवले का सेवन करने से ब्लड शुगर लेवल को नियंत्रित रखा जा सकता है।
  • मुंह में छालों की समस्या को दूर करने के लिए भी आंवले का सेवन किया जा सकता है। मुंह में छाले होने पर गर्म पानी में आंवले का रस डालकर नियमित सेवन करने से लाभ मिलता है।
  • हार्ट रोगों से बचाव के लिए भी आंवले का सेवन किया जा सकता है यह खट्टे फलों में आता है। यह ह्रदय के जोखिम को कम करने में लाभकारी होता है।
  • आंवला बच्चों के शारीरिक विकास के साथ साथ वजन बढ़ाने में उपयोगी होता है।
  • यह पाचन तंत्र को मजबूत करने में फायदेमंद होता है। इसके नियमित सेवन से भूख बढ़ती है और पाचन शक्ति में सुधार होता है।

आंवला में विटामिन सी

  • इसका किसी भी रूप में उपयोग करने से यह शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है। अच्छी इम्युनिटी शरीर को बीमारियों से लड़ने में मदद करती है। यह सर्दी, खांसी और जुकाम से बचाता है सर्दियों में आंवला खाने से वायरस का संक्रमण से छुटकारा मिलता है।
  • यह बाल झड़ने, रूसी, डेंड्रफ जैसी समस्याओं से राहत दिलाता है और कम उम्र में बालों के सफेद होने की समस्या से छुटकारा दिलाने में भी आंवला कारगर माना जाता है।
  • आंवला मोटापा घटाने का भी कारगर उपाय होता है इसके नियमित सेवन से शरीर की फैट को कम करने भी मदद मिलती है।
  • यह शरीर मे उम्र बढ़ने के प्रभाव को भी नियंत्रित करता है। आंवला बढ़ती उम्र के कारण शरीर मे होने वाले परिवर्तन को कम करने का काम करता है।
  • यह खून को भी शुद्ध करने में मददगार होता है। क्योंकि इसमें रक्त को शुद्ध करने वाले गुण पाए जाते हैं। यह त्वचा को साफ करने के साथ साथ मुहांसों को भी रोकता है। इसके सेवन से त्वचा चमकदार बनती है।
  • आंवला चेहरे की झुर्रियां, दाग धब्बे, पिम्पल्स, मुंहासे जैसी समस्याओं से राहत दिलाता है और चेहरे पर ताजगी व निखार लाने में मददगार होता है।

आवंला ज्यूस के फायदे

आप आंवले का सेवन (Amla uses in hindi)ऊपर बताए गए तरीकों में से किसी भी तरह से कर सकते हैं। लेकिन सर्दियों के मौसम में इसका उपयोग अवश्य करना चाहिए। वैसे तो आंवले का ज्यूस अधिक फायदेमंद होता है लेकिन अगर किसी को इसका ज्यूस पसंद नहीं हो तो अन्य तरीकों से भी इसे अपनी नियमित डाइट में शामिल किया जा सकता है।

इस आर्टिकल आंवला का सेवन कैसे करें (Amla uses in hindi) के बारे में आपके कोई सवाल या सुझाव हो तो Comment बॉक्स में लिखें और पोस्ट को अपने परिवार व दोस्तों के साथ शेयर अवश्य करें।

इन्हें भी पढ़ें-

Leave a Comment