वजन बढ़ाने के लिए डाइट प्लान | Weight gain diet chart | in hindi

शरीर को मोटा कैसे करें (Weight gain diet plan in hindi) शरीर को मोटा करने का तरीका

एक बार फिर आपका स्वागत है जानिए Weight gain diet chart in hindi, स्वस्थ, सेहतमंद और निरोगी रहने के लिए वजन का संतुलित होना बहुत आवश्यक होता है। जितना महत्वपूर्ण मोटापा कम करना है उतना ही महत्व वजन बढ़ाने का भी होता है। जिनका वजन कम होता है वह अपना वजन बढ़ाने के लिए बहुत सी दवाओं के साथ-साथ घरेलू नुस्खे और Weight gain diet भी अपनाते रहते हैं।

निरोगी हेल्थ के इस लेख में वजन बढ़ाने के लिए डाइट प्लान (Weight gain diet chart) के बारे में जानते हैं। जिससे शरीर में प्रोटीन, कैलोरी, फैट, वसा और विटामिन की पूर्ति हो सके आइए जानते हैं वजन बढ़ाने के लिए डाइट प्लान | Weight gain diet chart | in hindi

मोटा होने के लिए आहार चार्ट (Weight gain tips in hindi)

शरीर का वजन बढ़ाने के लिए कैलोरी का अधिक सेवन करने की आवश्यकता होती है। इसलिए अपनी नियमित डाइट (Weight gain diet)  में पोषक तत्वों युक्त भोजन को शामिल करना फायदेमंद होता है। इससे वजन बढ़ाने में मदद मिलने के साथ-साथ शरीर भी स्वस्थ व निरोगी रहता है।

दुबले पतले लोगों का इम्यून सिस्टम (Immune system) काफी कमजोर हो जाता है और शरीर किसी भी प्रकार के रोगों से लड़ने में नाकाम होने लगता है। इसी कारण दुबले लोग जल्दी बीमार पड़ते हैं। इसलिए दुबले लोग अपना वजन बढ़ाने के लिए बहुत तरह के उपाय करते हैं।

वजन बढ़ाने के लिए डाइट प्लान | Weight gain diet chart | in hindi

अगर आप भी अपने आत्मविश्वास को मजबूत करने और वजन बढ़ाने के लिए Weight gain diet और घरेलू उपाय आजमाना चाहते हैं तो पोस्ट को लास्ट तक पढ़ते रहिए

Contents

वजन कम होने के कारण क्या है (What causes weight loss in hindi)

पुरुषों और महिलाओं का सामान्य वजन उनकी उम्र व कद के अनुसार निर्धारित किया गया है। इसलिए उम्र और कद के हिसाब से अगर वजन कम है तो इसके मुख्य कारण है जैसे

  • भोजन में असंतुलन होने के कारण
  • एंजाइम में कमी के कारण
  • लिवर में खराबी के कारण
  • दवाओं का अधिक सेवन करने के कारण
  • किडनी की किसी बीमारी के कारण
  • मेटाबॉलिज्म की खराबी के कारण
  • थायराइड और हार्मोन अनियंत्रित होने के कारण
  • टीबी, कैंसर और एड्स (HIV)जैसी बीमारियों के कारण भी वजन कम होने लगता है।

वजन बढ़ाने के लिए आहार चार्ट (Weight gain diet chart in hindi)

सुबह

सुबह उठकर नित्य कर्म से निवृत्त होने के बाद सबसे पहले फुल फैट वाले दूध से बना मिल्क शेक या बादाम शेक पीना लाभदायक होता है।

सुबह का नाश्ता

Morning breakfast में कम फैट के मक्खन के साथ ब्रेड खा सकते हैं। या एक कटोरी दलिया का सेवन कर सकते हैं। इसके अलावा अंकुरित अनाज के साथ कोई भी एक फल खाना स्वास्थ्य के लिए लाभदायक होता है। इसके अलावा दही के साथ पराठा खाना भी उचित होता है।

दोपहर का भोजन 

दोपहर के भोजन में एक कटोरी सब्जी और दाल के साथ चपाती और एक कटोरी चावल के साथ भोजन करना चाहिए भोजन करते समय देसी घी का सेवन सब्जी में डाल कर व चपाती पर लगाकर अवश्य करना चाहिए। इसके अलावा मिक्स सलाद और दही या छाछ का सेवन करना भी लाभदायक होता है।

शाम का नाश्ता 

शाम के नाश्ते में केला शेक पी सकते हैं या एक कटोरी भुनी हुई सोयाबीन व कुछ बादाम खा कर अपनी इच्छा अनुसार चाय या कॉफी का सेवन कर सकते हैं।

रात का भोजन

रात के भोजन में एक कटोरी सब्जी, एक कटोरी सूप, चपाती और सलाद का सेवन करना लाभदायक होता है। रात का भोजन हल्का और आसानी से पचने वाला होना चाहिए।

सोने से पहले

रात को सोने से पहले दूध में हल्दी और शहद मिलाकर पीने से वजन तेजी से बढ़ता है। इसके अलावा दूध में बादाम, पिस्ता, अखरोट और किशमिश डालकर उबालकर पीना लाभदायक होता है।

यह भी पढें~  रोजाना ड्राईफ्रूट्स खाने के फायदे

वजन बढ़ाने के लिए क्या खाना चाहिए (Home remedies for weight gain in hindi)

सोयाबीन का सेवन (Soybean weight gain diet)

यह प्रोटीन का एक अच्छा स्रोत है। इसमें मैग्नीशियम, विटामिन के, और फास्फोरस भरपूर मात्रा में पाया जाता है। सोयाबीन का नियमित सेवन करने से मांसपेशियां मजबूत होती है। और वजन भी तेजी से बढ़ता है और शरीर स्वस्थ रहता है।

मसूर की दाल का सेवन (Masur weight gain diet)

शाकाहारी लोगों के लिए बेस्ट प्रोटीन रिच फूड्स में मसूर की दाल एक अच्छा आहार है। मसूर की दाल में प्रोटीन का एक बेहतरीन विकल्प होता है।

इसके अलावा इसमें पाए जाने वाले पोषक तत्व दिल को स्वस्थ और हेल्दी बनाने, पाचन क्रिया को सुचारु करने और ब्लड शुगर को नियंत्रित करने में मसूर की दाल मददगार होती है।

केला का सेवन (Banana weight gain diet)

केले में भरपूर मात्रा में कैलोरी होने के कारण यह शरीर को एनर्जी प्रदान करने के साथ-साथ वजन बढ़ाने में भी कारगर होता है। बच्चों, पुरुषों और महिलाओं को दो से चार केले खाकर दूध पीने से दुबलेपन की समस्या दूर होती है और शरीर मोटा होता है।

केले का सेवन बनाना शेक के रूप में भी किया जा सकता है। अगर शारीरिक एक्टिविटी आदि करने के बाद केले और दूध का सेवन करते हैं तो वजन बढ़ाने में ज्यादा लाभदायक होता है।

बादाम का सेवन (Almonds weight gain diet)

यह भी बच्चों, पुरुषों और महिलाओं के लिए पोषक तत्वों का खजाना होता है। यह वजन बढ़ाने के साथ-साथ दिमाग तेज करके याददाश्त भी बढ़ाता है।

रात को सोने से पहले 8 से 10 बादाम को पानी में भिगोकर रखें सुबह इनका छिलका उतार दें व बादाम गिरी की पेस्ट बनाकर इस पेस्ट मैं मक्खन और शक्कर मिलाकर इसका सेवन पराठे या ब्रेड के साथ करना लाभदायक होता है। इसके (बादाम का सेवन) नियमित सेवन से वजन तेजी से बढ़ता है।

वजन बढ़ाने के लिए डाइट प्लान | Weight gain diet chart | in hindi

किशमिश का सेवन (Raisins weight gain diet)

इसमें फाइबर, आयरन और कैल्शियम भरपूर मात्रा में पाया जाता है। यह हमें ऊर्जा प्रदान करती है। इसमें एंटी ऑक्सीडेंट और हाइड्रो न्यूट्रिएंट्स गुण होने के कारण यह शरीर का वजन बढ़ाने में उपयोगी होती है।

किशमिश के 10 से 15 पीस को रात को पानी में भिगोकर सुबह इनको चबाकर खाएं और इसके पानी के साथ दूध मिलाकर नियमित सेवन करने से शरीर में पोषक तत्वों की पूर्ति होती है। और वजन तेजी से बढ़ता है।

अश्वगन्धा और शतावर चूर्ण का सेवन (Ashwagandha weight gain diet)

शतावर और अश्वगंधा एक आयुर्वेदिक औषधि होती है। इनका दूध के साथ नियमित सेवन करने से शरीर में पोषक तत्वों की कमी की पूर्ति होती है। और शरीर सुडौल और स्वस्थ बनता है।

शतावर में पाए जाने वाले तत्व शरीर के पाचन तंत्र में सुधार करने के साथ-साथ यह पेट संबंधी समस्याओं के लिए एक उत्तम औषधि है।

इसके साथ अश्वगंधा कई बीमारियों को ठीक करने के साथ साथ रोग प्रतिरोधक क्षमता भी मजबूत बनाता है। इसका नियमित दूध के साथ सेवन करने से शारीरिक कमजोरी दूर होती है। और शरीर को दुबलेपन से छुटकारा मिलता है।

यह भी पढ़ें ~ शारिरिक कमजोरी दूर करने के उपाय

वजन कम होने के कारण होने वाली समस्याएं (Weight loss disadvantages in hindi)

दुबलापन या वजन कम होने से शरीर में अनेक प्रकार की स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं उत्पन्न होने लगती है जैसे

इम्यून सिस्टम कमजोर होना (Immune system weight gain diet)

वजन घटने से रोग प्रतिरोधक क्षमता कमजोर हो जाती है। और व्यक्ति जल्द ही अनेक बीमारियों की चपेट में आ सकता है। वजन कम होने से अक्सर थकान, सुस्ती और कमजोरी का कारण इम्यून सिस्टम का कमजोर होना होता है।

यह भी पढ़ें ~ रोग प्रतिरोधक क्षमता कैसे बढ़ाएं

हड्डियां कमजोर होना (Weak Bone weight gain diet)

वजन कम होने से शरीर की हड्डियों पर बहुत विपरीत प्रभाव पड़ता है। वजन घटने से शरीर में कैल्शियम की कमी होने लगती है। और हड्डियां हल्की तथा कमजोर होने लगती है।

एनीमिया की समस्या होना (Anemia weight gain diet)

हमारे शरीर में आयरन की कमी होने के कारण एनीमिया जैसी समस्याएं उत्पन्न होती है। वजन कम वाले लोगों को ठीक से भोजन न करने के कारण अक्सर थकावट और कमजोरी महसूस होती रहती है।

शरीर में जरूरी पोषक तत्वों की कमी के कारण शरीर में ऊर्जा की कमी रहती है और खून की कमी होने से एनीमिया जैसी समस्याएं उत्पन्न होती है।

यह भी पढें ~ एनीमिया रोग क्या है और इसका घरेलू उपचार 

प्रजनन संबंधी समस्या होना (Fertility weight gain diet)

प्रजनन क्षमता को बरकरार रखने के लिए स्वस्थ वजन बनाए रखना आवश्यक होता है। वजन कम होने से खासकर महिलाओं में प्रजनन क्षमता पर काफी विपरीत असर पड़ता है। बहुत ज्यादा कम वजन वाली महिलाओं में ओव्यूलेशन नहीं हो पाता है।

यह भी पढ़ें ~ PCOS kya hai और इसका घरेलू इलाज

जीवन शैली में बदलाव ( Lifestyle change in weight gain diet)

  • फास्ट फूड, जंक फूड, पिज्जा, बर्गर व तेल में तले हुए मसालेदार खाद्य पदार्थों का सेवन नहीं करना चाहिए।
  • ओट्स को प्रोटीन का बहुत ही अच्छा स्रोत माना जाता है। इसलिए इनका पर्याप्त मात्रा में सेवन करना चाहिए।
  • कब्ज, गैस एसिडिटी या पाचन संबंधी समस्याएं होने पर तुरंत इलाज करवाना चाहिए।
  • शरीर के वजन को संतुलित रखने के लिए उचित मात्रा में लिक्विड का सेवन करना चाहिए।
  • योग, व्यायाम व शारीरिक एक्टिविटी को अपने जीवन का हिस्सा बनाना चाहिए।
  • समय पर पौष्टिक भोजन करना चाहिए और जब भी भूख महसूस हो कुछ न कुछ जरूर खाना चाहिए।

FAQ

Q 1. जल्दी वजन बढ़ाने के लिए क्या खाना चाहिए?

Ans  शरीर का जल्दी वजन बढ़ाने (weight gain diet)के लिए अपनी नियमित दिनचर्या में कुछ चीजों को शामिल करना चाहिए जैसे दूध और केला, दूध में शहद मिलाकर पीना, मीठा दलिया में दूध मिलाकर खाना, ड्राई फ्रूटस दूध में मिलाकर पीना। इसके अलावा दालों के साथ सोयाबीन मिलाकर रात को पानी मे भिगोकर सुबह चबाकर खाना भी वजन में वृद्धि करने में सहायक होता है।

Q 2. दुबले पतले शरीर को मोटा कैसे बनाएं?

Ans  इसके लिए अपने नियमित भोजन में कार्बोहाइड्रेट और वसायुक्त आहार को शामिल करना चाहिए। घी और मक्खन को भी अपने नियमित आहार में ज्यादा प्रयोग करना चाहिए। ड्राई फ्रूटस में अंजीर, किशमिश, बादाम, मुंगफली, भीगे हुए काले चने, सोयाबीन आदि का सेवन दूध के साथ नियमित करने से दुबले पतले लोग भी मोटे तगड़े बन जाते हैं।

Q 3. क्या चीज खाने से शरीर मोटा होता है?

Ans  दूध, दही, छाछ और घी का भरपूर मात्रा में सेवन करने से शरीर मोटा होता है। क्योंकि घी में फैट और कैलोरी पाया जाता है। इसके अलावा साबुत अनाज, नट्स आदि का सेवन भरपूर मात्रा में करने से भी शरीर का वजन तेजी से बढ़ता है। पनीर का भी नियमित सेवन करने से शरीर में प्रोटीन और फैट बढ़ता है।

Q 4. क्या केला खाने से बॉडी बनती है?

Ans दूध के साथ केला खाने से शरीर में विटामिन, आयरन, प्रोटीन, फाइबर, मिनरल, फॉलिक एसिड और पोटेशियम के साथ साथ और भी बहुत से पौषक तत्वों की पूर्ति होती है। यह शरीर को ताकतवर बनाते हैं। इनके सेवन से वजन बढ़ने (weight gain diet) के साथ-साथ शरीर को और भी लाभ होते हैं।

इस आर्टिकल Weight gain diet chart in hindi में लिखी गई तमाम जानकारियों को सूचनात्मक उद्देश्य से लिखा गया है अतः किसी भी सुझाव को आजमाने से पहले चिकित्सक से परामर्श अवश्य कर लेवे।

यह लेख वजन बढ़ाने के लिए डाइट प्लान Weight gain diet chart in hindi कैसा लगा Comment करें और अपने दोस्तों को Share भी करें।

-: लेख को अंत तक पढ़ने के लिए धन्यवाद :-

इन्हें भी पढ़ें-

Share This Product

Leave a Comment