फेफड़ो को मजबूत करने के उपाय I Lungs ko Majboot Kaise Rakhe I in hindi

फेफड़ों को मजबूत करने के लिए क्या खाना चाहिए (Tips for healthy lungs in hindi)

फेफड़े शरीर के श्वसन तंत्र का अहम हिस्सा होते है। फेफड़े शरीर के सभी अंगो तक ऑक्सीजन पहुंचने का काम करते है। अनेक बीमारियों से बचाने और संक्रमण से लड़ने में हमारे फेफड़े महत्वपूर्ण भूमिका निभाते है। इस लेख में हम आपको फेफड़ों को मजबूत रखने के घरेलु उपाय और कुछ ऐसे तरीकों के बारे में बता रहे हैं जिन्हें अपनाकर अपने फेफड़ों को मजबूत और स्वस्थ रख सकते हैं। आइये जानते है फेफड़ों को मजबूत रखने के क्या खाएं व फेफड़ो को मजबूत करने के उपाय I Lungs ko Majboot Kaise Rakhe I in hindi

लंग्स यानि फेफड़े शरीर में ब्लड के जरिए ऑक्सीजन पहुंचाने का काम करते हैं। इसलिए फेफड़ो की क्षमता बढ़ाने के साथ साथ इन्हे स्वस्थ (healthy lungs) और मजबूत रखना बहुत आवश्यक हो जाता है। फेफड़े हमारे शरीर के महत्वपूर्ण अंगों में से एक है। जो सभी शारीरिक कार्यों के लिए आक्सीजन प्रदान करके हमें स्वस्थ रखते हैं।

फेफड़ो को मजबूत व स्वस्थ रखने के लिए अपनी नियमित डाइट में कुछ ऐसे खाद्य व पेय पदार्थ को शामिल करना जरूरी है जिनसे शरीर को हैल्दी रखने के साथ फेफड़ो को भी हैल्दी रखा जा सके इसके आलावा फेफड़ो को स्ट्रांग रखने के लिए जीवनशैली में बदलाव और कुछ सावधानिया भी रखने की आवश्यकता होती है

फेफड़े कमजोर होने के लक्षण (symptoms of lung problems in hindi)

किसी को अगर साँस लेने में किसी प्रकार की समस्या उत्तपन होती हो तो यह फेफड़ो के कमजोर होने का ही लक्षण होता है। इसके आलावा लंग्स कमजोर होने के और भी कई लक्षण होते है जैसे

  • छाती में दर्द
  • बलगम
  • अचानक वजन घटना
  • सांस में बदलाव
  • लगातार खाँसी या खाँसी में खून आना

फेफड़ों को स्वस्थ कैसे रखे (Tips for strong lungs in hindi)

हमारे शरीर में सबसे महत्वपूर्ण और निरंतर उपयोग होने वाले अंगों में से फेफड़े एक हैं। इसलिए फेफड़ों की सुरक्षा करना हमारे लिए बहुत ही आवश्यक होता है। फेफड़ों को नुकसान पहुंचाने में धुम्रपान, औद्योगिक प्रदूषण, अस्वस्थ जीवन शैली, असंतुलित आहार, स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं आदि मुख्य कारण होते हैं।कहा जाता है कि अगर आपके सांस लेने में किसी तरह की समस्या नहीं होती है तो समझे कि आपके फेफड़े मजबूत है और आप स्वस्थ है।

लेकिन हवा में प्रदूषण, स्मोकिंग आदि की बुरी आदत,किसी प्रकार की एलर्जी,घटती पेड़ों की समस्या इन सभी कारणों से सांसो की समस्या हो रही है इसलिए लंग्स का ख्याल रखना जरूरी है क्योंकि फेफड़े शरीर में ब्लड के जरिए ऑक्सीजन पहुंचाने का काम करते हैं।

फेफड़ों को मजबूत रखने के घरेलु उपाय (Lungs strong karne ke upay)

मुलेठी के फायदे

औषधीय गुणों से भरपूर मुलेठी में विटामिन बी विटामिन ई के साथ-साथ फॉस्फोरस, कैल्शियम ,कोलीन, आयरन ,मैग्नीशियम ,पोटेशियम, सिलिकॉन ,एंटीबायोटिक गुण पाए जाते हैं जो कि सर्दी जुखाम बुखार के साथ-साथ फेफड़ों को मजबूत रखने में मदद करते हैं इसका सेवन 1 से 3 ग्राम तक उम्र के अनुसार कर सकते हैं इस की तासीर ठंडी होती है। और पढ़ें ~ इम्युनिटी बढ़ाने के घरेलू उपाय 

अदरक के फायदे

अदरक फेफड़ों के स्वास्थ्य को बढ़ावा देने वाले खाद्य पदार्थों में से एक है। यह वायु मार्ग को शुद्ध करने की क्षमता रखती है। अदरक को स्वसन तंत्र से विषाक्त पदार्थों को दूर करने के लिए लंबे समय तक इस्तेमाल किया जाता आ रहा है। इसमें मजबूत एंटी इन्फ्लेमेटरी और एंटी कैंसर गुण पाए जाते हैं। जो फेफड़ों को सुरक्षित रखने और मजबूत बनाने में बहुत लाभदायक है।

काल मिर्च के फायदे

काली मिर्च में कई तरह के औषधीय गुण पाए जाते हैं  जिस कारण कई रोगों को शरीर से दूर रखा जा सकता है इसमें पाया जाने वाला पायपेरीन नामक कंपाउंड सर्दी खांसी और गले की समस्या से निजात दिलाता है और हमारे फेफड़े भी दुरस्त रखता है।

काली मिर्च में पाया जाने वाला एंटी-मायक्रोबियल और एंटी-इंफ्लेमेट्री गुण मुंह में मौजूद हानिकारक बैक्टीरिया को नष्ट करने में भी सहायक होता है।साथ ही गले की सूजन भी कम करने में सहायक है।

लौंग के फायदे

लौंग में यूजिनॉल नामक तत्व होता है जिसके कारण स्ट्रेस पेट संबंधी समस्या बदन दर्द जैसी समस्याओं में लाभ मिलता है इसमें एंटी इन्फ्लेमेटरी ,एंटीबैक्टीरियल गुणों के अलावा विटामिन ई, विटामिन सी, विटामिन ए, विटामिन D, थाइमिन और ओमेगा -3 फैटी एसिड जैसे आवश्यक तत्व पाए जाते हैं जो हार्ट,फेफड़े लिवर आदि को मजबूत करने के साथ-साथ पाचन तंत्र भी दुरुस्त रखता है।

तुलसी के फायदे

तुलसी की पत्तियों में बहुत मात्रा में पोटेशियम,आयरन, क्लोरोफिल,मैग्नीशियम,कैरोटीन और विटामिन सी पाया जाता है जो कि फेफड़ों को हेल्दी रखने में मदद करता है रोज सुबह तीन-चार तुलसी की पत्तियों को चबा चबा कर खाएं जिससे कि गला और फेफड़े स्वस्थ रहें और ऑक्सीजन भरपूर मात्रा में मिलती रहे।

दालचीनी के फायदे

दालचीनी एंटीआक्सीडेंट गुणों से भरपूर होती हैं। आयुर्वेद के जानकार मानते हैं कि दालचीनी फ्लू को ठीक करने या उससे राहत दिलाने में बेहद उपयोगी है। गले के संक्रमण से छुटकारा   पाने के लिए पिसी हुई दालचीनी में नींबू का रस मिलाकर सेवन कर सकते हैं।

अगर खाँसी से पीड़ित हैं तो आप गुनगुने शहद और दालचीनी के एक चौथाई चम्मच चूर्ण का मिश्रण तैयार करे और नास्ते के बाद और सोने से पहले रोजाना सेवन करें।  इसके साथ ही है एंटी ऑक्सीडेंट का स्रोत होने के कारण आपके फेफड़ों को हेल्दी रखने के साथ-साथ हार्ट को भी हेल्दी रखती है।

मिश्री के फायदे

इसे प्रसाद और माउथ फ्रेशनर के तौर पर ज्यादा प्रयोग किया जाता है लेकिन कई समस्याओं में मिश्री के रामबाण प्रयोग होते हैं। सर्दी,खांसी,जुकाम,गले में संक्रमण में मिश्री बहुत जल्दी आराम दिलाती है इसको उपरोक्त सभी चीजों के साथ इस्तेमाल कर सकते हैं इसके अलावा भी मिश्री को सूती कपड़े में पोटली बनाकर गर्म करके प्रयोग किया जाता है जो कि गले और फेफड़ों के लिए भी बहुत लाभदायक है।

इन सबके अलावा हल्दी वाला दूध भी गले और फेफड़ों के लिए बहुत लाभदायक होता है।

फेफड़ो को मजबूत करने के अन्य प्रयोग (Healthy lungs food in hindi)

लंग्स यानि फेफड़ों को मजबूत करने के लिए थोड़ी सी मुलेठी, 1-2 काली मिर्च, 1-2 लौंग,3-4 पत्तियां तुलसी,थोड़ी सी दालचीनी’थोड़ी सी मिश्री इन सभी को मुंह में डालकर धीरे-धीरे चबाकर-चबाकर चूसते रहे आप रोजाना ऐसा कर सकते हैं। इस प्रक्रिया से आप के फेफड़े मजबूत होंगे वह ऑक्सीजन लेवल भी सही रहेगा इसके प्रयोग से आपको अस्थमा में भी फायदा होगा।

FAQ

Q 1. फेफड़ो को मजबूत कैसे करें?

Ans   इनको को स्वस्थ रखने के लिए भरपूर मात्रा में पानी पीना चाहिए। क्योंकि पानी से फेफड़े हाइड्रेट बने रहते हैं और फेफड़ों की गंदगी भी बाहर निकलने में मदद मिलती है। इससे फेफड़ों को सेहतमंद बनाने में भी मदद मिलती है। इसके अलावा लहसुन व प्याज का नियमित सेवन करना भी लाभकारी होता है क्योंकि इनमें एलिसिन नामक तत्व पाया जाता है। यह तत्व सूजन व जलन कम करने और संक्रमण से राहत दिलाने में सहायक होता है।

Q  2. लंग्स में इंफेक्शन होने पर क्या करें?

Ans इसके लिए नियमित योग व व्यायाम करना काफी लाभदायक माना जाता है। इससे लंग्स के इंफेक्शन को कम करने में मदद मिलती है और फेफड़े मजबूत होते हैं। इसके अलावा संतुलित आहार का सेवन करने से भी इम्यून सिस्टम मजबूत होता है और संक्रमण का खतरा कम होता है। धूम्रपान व अल्कोहल का सेवन करने से बचना चाहिए क्योंकि यह फेफड़ों के लिए नुकसानदायक है।

Q  3. फेफड़े कमजोर होने के क्या लक्षण है?

Ans  फेफड़े कमजोर होने पर सीने में दर्द, खाँसते छीकते समय दर्द होना, सांस लेते समय दर्द होना, तेज सांस लेने पर आवाज आना आदि। यह सभी लक्षण फेफड़ों के कमजोर होने के होते हैं। इनसे आपके स्वास्थ्य पर बुरा असर पड़ता है इसका समय रहते इलाज करवाना आवश्यक होता है।

Q  4. फेफड़ो को साफ करने के लिए क्या खाना चाहिए?

Ans  इसके लिए साबुत अनाज का सेवन करना उपयुक्त होता है। इसके अलावा अंकुरित अनाज का सेवन करना भी फेफड़ों को साफ करने में मददगार होता है। क्योंकि इनमें उच्च मात्रा में फाइबर पाया जाता है साथ ही इनमें एंटीऑक्सीडेंट और एंटी इन्फ्लेमेटरी गुण होता है। यह विटामिन ई, सेलेनियम और जरूरी फैटी एसिड से भरपूर होते हैं। इसलिए इनका नियमित सेवन करना फेफड़ों के लिए लाभकारी होता है।

इस आर्टिकल में दी गई तमाम जानकारियों को सूचनात्मक उद्देश्य से लिखा गया है अतः किसी भी सुझाव को आजमाना से पहले अपने चिकित्सक से परामर्श अवश्य कर लेवें।

यह लेख फेफड़ो को मजबूत करने के उपाय I Lungs ko Majboot Kaise Rakhe I in hindi आपको कैसा लगा Comment करके बताये और आगे Share जरूर करें ताकि किसी जरूरतमंद की मदद हो सके।

इन्हें भी पढ़ें=

Share This Product

Leave a Comment