पेटदर्द के घरेलू उपाय | गैस | बदहज़मी | Stomach pain | in hindi

पेट में होने वाले दर्द का घरेलू उपचार,पेट में दर्द क्यों होता है (Home Remedies for Stomach pain in hindi)

आजकल पेट में दर्द होना आम समस्या बन गई है क्योंकि लोगों की जीवन शैली बहुत ज्यादा अनियमित हो गई है इसका सीधा असर उनके पाचन तंत्र पर पड़ता है। पाचन क्रिया खराब होने से गैस, बदहजमी, पेटदर्द जैसी समस्याएं उत्पन्न होती है। निरोगी हेल्थ के इस आर्टिकल में बात करते है पेट में दर्द के घरेलू उपाय, गैस, बदहजमी, पाचन तंत्र के ठीक से काम न करने के घरेलू उपाय और पेट में दर्द क्यों होता है आइये जानते हैं  पेटदर्द के घरेलू उपाय (stomach pain treatment in hindi)

आमतौर पर लोग पेट दर्द होने पर सबसे पहले घरेलू नुस्खे ही आजमाते हैं। क्योंकि दर्द होने पर सबसे पहले घरेलू प्रयोग ही जल्दी राहत पाने का उपाय है। आइए जानते हैं आयुर्वेद के इन घरेलू नुस्खों के बारे में जो हमें पेट दर्द, गैंस, बदहजमी, पाचन तंत्र की समस्या से छुटकारा दिलाने में उपयोगी हो ।

पेटदर्द के कारण क्या है (causes of stomach pain in hindi)

आजकल पेट में दर्द (stomach pain) होना एक आम समस्या बन गई है। क्योंकि लोगों की जीवनशैली इतनी ज्यादा अनियमित हो गई है कि इसका सीधा असर उनके पाचन तंत्र पर पड़ता है सामान्य तौर पर जंक फूड का ज्यादा सेवन, पानी का कम पीना या गंदा पानी पीना, समय पर भोजन न करना, ज्यादा तेज मिर्च मसाले आदि का प्रयोग करना इन कारणों से गेन्स्टिक, बदहजमी व पेट संबंधी समस्या होती है। शरीर में उपस्थित वात दोष असंतुलित होकर पाचन क्रिया को कमजोर कर देता है। इसके आलावा और भी बहुत से कारण होते है पेट में दर्द के जैसे

  • कब्ज –  मल करड़ा होने की वजह से कब्ज की समस्या पैदा होती है। यदि मल त्यागने में परेशानी हो तो ऐसे में खाना खाने के बाद पेट में दर्द होना आम बात है। यह पढ़ें ~ कब्ज दूर करने के उपाय
  • गैस्टिक समस्या  यदि आपके पेट में गैस बनती है तो पेट अपने आप फूल जाएगा और आपको उल्टी, पेट दर्द और डायरिया होने की संभावना पैदा करेगा।
  • सूजन –  तीखा मसालेदार भोजन और अपच आंत या पेट में जलन की वजह से आपके पेट या पेंडू में दर्द होता है। जिससे सूजन हो जाती है। यह पढ़ें ~ आंतो में सूजन के घरेलू उपाय
  • अल्सर –  खाने के बाद पेट में दर्द की ज्यादातर वजह अल्सर होना बताई जाती है। यह अल्सर या तो पेट में होता है या फिर ऊपरी आंत में। पेट में बनने वाला एसिड या भोजन का तिनका अल्सर को प्रभावित करके पेट दर्द पैदा कर सकता है। यह पढ़ें ~ अल्सर क्या है पेट में अल्सर के लक्षण, कारण और उपचार 

पेट दर्द का घरेलू इलाज (Stomach pain treatment at home in hindi)

अजवायन का सेवन

अजवाइन का चूर्ण बनाकर हर किसी को अपने घर में रखना चाहिए। क्योंकि पेट दर्द होने पर 1 से 2 ग्राम अजवायन व 1 ग्राम सोंठ दोनों का चूर्ण बनाकर गुनगुने जल के साथ सुबह खाली पेट लेने से पाचन तंत्र मजबूत होता है व कब्ज, गैस की समस्या नहीं होती तथा भूख भी बढ़ती है। इस चूर्ण का प्रयोग आप सुबह शाम दोनों समय भी कर सकते हैं। और इसका नियमित प्रयोग करने से यह बढ़े हुए पेट को भी कम करता है।

हरड़ का सेवन

हरड़ हमारे शरीर के पाचन तंत्र व मेटाबॉलिज्म को मजबूत करता है। इसके साथ ही यह आंतों की भी सफाई रखता है। 1 ग्राम हरड़, 1 ग्राम पिपली, 1 ग्राम अजवाइन व काला नमक इन सभी का चूर्ण गर्म पानी के साथ सेवन करने से पेट दर्द, खट्टी डकार, गैस, व पेंडू के दर्द में राहत मिलती है।

हींग का सेवन

पेट दर्द, गैस, अपच, बदहजमी के लिए हींग बहुत ही कारगर है। इसमें मौजूद ऐठन रोधी और ज्वर नाशक गुण पेट संबंधी हर समस्या से राहत दिलाने में लाभदायक होता है।इसलिये अपने भोजन में नियमित हींग का उपयोग करें। इसके साथ ही आप हींग को गुनगुने पानी मे मिलाकर भी सेवन कर सकते हैं। यह पढ़ें ~ सिंघाड़ा खाने के फायदे

पुदीना का सेवन 

गैस के कारण होने वाले पेट दर्द को कम करने में पुदीना बहुत मदद करता है। एवं पाचन क्रिया भी बेहतर करता है अतः पेट दर्द होने पर पुदीना व नींबू का रस दोनों को मिलाकर नियमित सेवन करें।

अदरक का सेवन

अदरक में एंटीऑक्सीडेंट और सुजनरोधी गुण पाए जाते हैं। जो पाचन तंत्र को नियमित करने में मदद करते हैं। अदरक पेट के दर्द को दूर करने के अलावा यह मुक्त कणों के उत्पादन को कम करता है। और पाचन क्रिया को बढ़ाने में मदद करता है।

साथ ही अदरक पेट में मौजूद अम्ल को भी कम करता है। पेट दर्द से राहत पाने के लिए अदरक में नींबू का रस मिलाकर पूरे दिन में दो से तीन बार सेवन करें। इसके सेवन से पेट दर्द, गैस, बदहजमी, पेंडू का दर्द आदि में राहत मिलती है।

सेव का सिरका का सेवन

यह पेट में बनने वाली गैंस को रोकता है। सेव के सिरके में मौजूद एंटी बायोटिक गुण पेट को हल्का रखते हैं और यह पाचन तंत्र में भी सुधार करता है। एक कप गुनगुने पानी में दो चम्मच सेव का सिरका एक चम्मच शहद मिलाकर इसका सेवन करें इससे पेट दर्द की समस्या से छुटकारा मिलता है।

भोजन करने के बाद यदि पेट में दर्द हो तो क्या करें 

अक्सर भोजन करने के बाद या तो आपकी भूख मिट जाती है या फिर आपको बड़ी जोरों की नींद आने लगती है। खैर यह तो बड़ी ही आम सी बात है लेकिन कुछ लोगों की शिकायत होती है कि उनके पेट में भोजन करने के बाद तीव्र अथवा असहनीय दर्द होना शुरू हो जाता है। पेट के निचले हिस्से यानी कि उदर में दर्द के कई कारण हो सकते हैं। जैसे अपच तथा गैस जो कि आम बात है।

यदि पेट के दाएं और दर्द हो तो यह किडनी स्टोन, अपेंडिक्स या फिर पेट के अल्सर का संकेत हो सकता है। यदि पेट के बाई और दर्द हो तो यह कोलोन कैंसर, डायरिया या कब्ज का संकेत हो सकता है।

कैसे बचें पेट के दर्द से

एक साथ ज्यादा ना खाएं क्योंकि ज्यादा खाने से पेट में दर्द पैदा हो सकता है। इसलिए थोड़ी थोड़ी देर पर खाएं इससे आप अपनी भूख को भी कंट्रोल में रख सकते हैं। और दर्द की समस्या से भी बच सकते हैं।

धीरे धीरे तथा चबा चबा कर खाएं  

ऐसा करने से मोटापा भी कम होता है और भोजन अच्छी प्रकार से हजम भी हो जाता है। लेकिन यदि आप भोजन को अच्छी तरह से चबाकर नहीं खाएंगे तो पाचन क्रिया धीमी पड़ जाएगी। ऐसे में सही प्रकार का आहार ले तथा खूब सारा पानी पिएं।

यदि आप जरूरत से ज्यादा खाना खा लेंगे तब पेट में दर्द होना शुरू हो जाएगा। खाना खाने के बाद एक हल्की वॉक पर जरूर जाए। यदि पेट में हल्का सा भी दर्द पैदा होता है तो घरेलू उपाय के साथ अपने डॉक्टर को जरूर दिखाएं।

पेट दर्द से राहत पाने के लिए दिनचर्या में बदलाव

  • सुबह सुबह उठते ही गुनगुना पानी पीना चाहिए जिससे हमारा पेट अच्छी तरह से साफ हो सके।
  • खाने में ज्यादा तैलीय चीज जैसे समोसा, पकोड़े आदि नहीं खाने चाहिए और मैदे और बेसन से बनी चीजों का उपयोग कम करना  चाहिए।
  • रात को हल्का खाना जैसे लौकी, तोरई, टिंडे, परवल आदि खाना चाहिए क्योंकि यह हल्के गुण वाली सब्जी होती है। जिससे यह आसानी से पचती है। और पेट में गैस नहीं बनती। रात के भोजन में तेज मसालो वाली व तेल में बनी हुई सब्जियों का प्रयोग नहीं करना चाहिए।

FAQ

Q 1. पेट के ऊपर के हिस्से में दर्द क्यों होता है?

Ans  पेट के ऊपरी हिस्से में अचानक बेदर्द होना गालब्लेडर अटैक का लक्षण हो सकता है यह तो होता है जब पित पित्त की थैली में पथरी (Gallbladder stone) हो इसके कारण पित्त नलिकाओं में रुकावट पैदा होने लगती है जो पेट के ऊपरी भाग में दर्द , कंधों में दर्द, मितली या जी मिचलाना और उल्टी जैसी समस्याएं पैदा करती है।

Q 2. पेट दर्द से तुरंत आराम के लिए क्या करें?

Ans  इस तरह के दर्द से राहत पाने के लिए अदरक को बारीक काटकर एक गिलास पानी में उबालें उबल जाने के बाद छानकर उसमें थोड़ा सा शहद और सैंधा नमक मिलाकर थोड़ा-थोड़ा करके दिन में तीन -चार बार पीने से दर्द से राहत मिलने के साथ-साथ पाचन तंत्र में भी सुधार होता है। इसके आलावा ऊपर बताये गए पेटदर्द के घरेलू उपाय से इस समस्या से छुटकारा पाया जा सकता है

Q 3. गैस को जड़ से खत्म कैसे करें?

Ans  पेट में गैस बनने के कारण पेट में मरोड़ उठना, दर्द होना, पेट फूलना जैसी समस्याएं आम होती है। इन समस्याओं से छुटकारा पाने के लिए हींग और अजवाइन का सेवन रामबाण उपाय माना जाता है। इसके लिए इन दोनों को मिलाकर गुनगुने पानी के साथ सेवन करने से तुरंत राहत मिलती है। इसके अलावा नींबू पानी में भुना हुआ जीरा और सेंधा नमक मिलाकर पीने से भी गैस में आराम मिलता है।

इस आर्टिकल में दी गई सेहत से जुड़ी तमाम जानकारियों को सूचनात्मक उद्देश्य से लिखा गया है अतः किसी भी सुझाव को आजमाने से पहले चिकित्सक से परामर्श अवशय कर लेवें।

यह लेख पेटदर्द के घरेलू उपाय (stomach pain treatment in hindi) कैसा लगा comment करके जरूर बताएं और share करें।

इन्हें भी पढ़ें-

4 thoughts on “पेटदर्द के घरेलू उपाय | गैस | बदहज़मी | Stomach pain | in hindi”

Leave a Comment