पाचन शक्ति बढ़ाने के घरेलू उपाय | Pachan shakti kaise badhaye | in hindi

पाचन क्रिया मजबूत कैसे करें (Pachan shakti badhane ke upay)

पाचन (Pachan shakti) हमारे शरीर का एक महत्वपूर्ण कार्य है। पाचन तंत्र हमारे भोजन से पोषक तत्व को अवशोषित करता है और अपशिष्ट पदार्थ बाहर निकालता है। अगर हमारा पाचन सिस्टम ठीक होगा तो ही शरीर को आवश्यक पोषक तत्वों की प्राप्ति होती है। इसलिए पाचन तंत्र को दुरुस्त रखना जरूरी होता है। निरोगी हेल्थ के इस आर्टिकल में जानेगे पाचन तंत्र क्या है,पाचन तंत्र कमजोर होने के लक्षण , कारण और पाचन तंत्र मजबूत करने के घरेलू उपाय (Pachan shakti badhane ke upay) कौन कौन से है आइये जानते है पाचन शक्ति बढ़ाने के घरेलू उपाय | Pachan shakti kaise badhaye | in hindi

इस (Pachan shakti) में शरीर के कई अंदरूनी अंग आते हैं जो सभी एक ट्यूब की मदद से एक दूसरे से जुड़े होते हैं। पाचन तंत्र में हमारे मुंह से लेकर गुदा तक कई अंग होते हैं जिनमें आहार नली, पेट और छोटी व बड़ी आंत शामिल होते हैं। इसके अलावा पाचन प्रणाली में लिवर, पित्त की थैली और अग्नाशय भी शामिल है। यह सभी अंग भोजन को पचाने का काम करते हैं।

पाचन तंत्र (Pachan shakti) शरीर में आवश्यक पोषक तत्वों का अवशोषण करने में मदद करता है और व्यर्थ पदार्थों को शरीर से बाहर निकालने का कार्य करता है। इस पूरे सिस्टम में या पाचन से जुड़े किसी भी अंग में कोई भी समस्या होने पर इसे पाचन संबंधी रोग कहा जाता है।

पाचन तंत्र कमजोर होने के लक्षण (Pachan shakti kamjor hone ke lakshan)

पाचन तंत्र (Pachan shakti) खराब होने से पेट से जुड़ी कई समस्याएं पैदा होती है इसमें सबसे ज्यादा परेशानी अपच, गैस, acidity बदहजमी, खट्टी डकारें, कब्ज या पेट का खराब रहना है। इसके अलावा पाचन शक्ति कमजोर होने के रोग के प्रकार के अनुसार कुछ आम लक्षण है जैसे

  • खाना खाने के बाद पेट मे दर्द महसूस होना
  • पेट फुला हुआ महसूस होना
  • उल्टी मतली और पेट में गैस बनना
  • सीने में जलन और खट्टी डकार आना
  • भूख कम लगना
  • पेट में भारीपन के साथ थकावट, सुस्ती या अस्वस्थ महसूस करना
  • दस्त लगना या खाना खाने के तुरंत बाद दस्त लगना

पाचन तंत्र कमजोर होने के कारण (Pachan shakti kamjor hone ke karan)

आयुर्वेद के अनुसार हमारे शरीर को भोजन से पोषक तत्व को अवशोषित करने में उचित वातावरण की जरूरत होती है। लोगों की आदत होती है कि जल्दी भोजन खत्म करने के चक्कर में भोजन को अच्छी तरह से चबाकर नहीं खाते जिसके कारण भोजन आसानी से नहीं पच पाता और इसके कारण पेट सम्बंधी समस्याएं पैदा होती हैं।

आजकल समय की कमी के कारण लोग फास्ट फूड, जंक फूड, समोसा, कचोरी आदि चीजों का ज्यादा इस्तेमाल करते हैं। जिसके कारण पेट की समस्याएं ज्यादा उत्पन्न होती है। दूषित भोजन व जल भी पाचन तंत्र को खराब ( Pachan shakti kamjor) करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं।

पाचन तंत्र मजबूत करने के घरेलू उपाय ( Pachan shakti badhane ke gharelu upay)

पाचन शक्ति बढ़ाने के घरेलू उपाय | Pachan shakti kaise badhaye | in hindi

अदरक

अदरक हमारे पाचन तंत्र के लिए बहुत ही लाभदायक होती है। अदरक हमारे पेट के अम्ल की मात्रा को कम करता है। इसमें जिंजरोल और शोगोल नामक रसायन होते हैं। जो पाचन शक्ति बढ़ाने में लाभदायक होते हैं।

पाचन तंत्र के लिए आप एक चम्मच बारीक कटा हुआ अदरक लेकर एक कप पानी में उबाल लें इसके बाद ठंडा होने के लिए छोड़ दें ठंडा होने पर इसमें एक चम्मच शहद मिलाकर इसका भोजन से पहले सुबह-शाम नियमित सेवन करना पाचन तंत्र के लिए बहुत ही लाभदायक है।

पुदीना

आयुर्वेद में पुदीना का बहुत महत्व होता है। यह एंटी स्पास्मोडिक (Anti-spasmodic) होने के कारण पाचन शक्ति बढ़ाने के लिए एक दवा की तरह कारगर होता है। इसका उपयोग उल्टी व दस्त रोकने के लिए भी किया जाता है। पेट में बनने वाली गैस से छुटकारा पाने के लिए पुदीना का प्रयोग रामबाण होता है। पेट दर्द की समस्या होने पर उसका प्रयोग जल्दी राहत दिलाता है।

पाचन तंत्र मजबूत बनाने के लिए इसको ज्यूस चटनी, कैंडी आदि रूप में इस्तेमाल किया जाता है। इसके लिए पुदीना को कुटकर पेस्ट जैसा बनाकर छाछ या दही के साथ सेवन करना भी लाभदायक होता है इसके अलावा एक से दो चम्मच पुदीना पेस्ट को एक कप पानी में उबालकर ठंडा होने पर शहद व सेंधा नमक मिलाकर सेवन करना भी पाचन तंत्र के लिए बहुत लाभदायक होता है।

नींबू पानी

इस समस्या से ग्रसित लोगों को हमेशा गुनगुने पानी में नींबू का रस मिलाकर सेवन करना चाहिए। नींबू की क्षारीय प्रकृति होने के कारण यह पेट की अम्लीयता को खत्म कर देता है। और पाचन तंत्र को मजबूत बनाता है। इसके साथ ही यह विटामिन सी का भी अच्छा स्रोत होता है।

इसलिए खाने से पहले एक गिलास गुनगुने पानी में एक नींबू का रस मिलाकर सुबह शाम दोनों समय प्रयोग करना बहुत लाभदायक होता है। जिन लोगों को बदहजमी के कारण सुबह पेट ठीक से साफ नहीं होता या बार बार फ्रेश होना पड़ता है। उनको सुबह उठते ही गर्म जल में नींबू और शहद मिलाकर सेवन करना बहुत लाभदायक होता है। यह भी पढ़ें – नींबू का सेवन करने के फायदे और इसके औषधीय गुण

सौंफ

पाचन शक्ति बढ़ाने में सौंफ का प्रयोग हर घर में किया जाता है। हमारे भारत में यह परंपरा है कि खाना खाने के बाद सौंफ या सौंफ चीनी का उपयोग किया जाता है। क्योंकि यह पाचन क्रिया को सुचारू रूप से सुधारती है। सौंफ में पाया जाने वाला एंटीस्पेज्मोडिक अपच, Acidity,  बदहजमी को ठीक करने में बहुत सहायक होता है।

इसके अलावा एक चम्मच सौंफ चूर्ण को एक गिलास पानी में उबालकर इसका सेवन करने से पेट की ऐंठन, मरोड़ और गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल जैसी समस्याएं भी खत्म हो जाती है। और पाचन क्रिया में सुधार होता है।

कददू

आयुर्वेद में पुराने समय से Pachan shakti बढ़ाने के रूप में कद्दू का उपयोग किया जाता रहा है। इसमें फाइबर प्रचुर मात्रा में पाया जाता है। और फाइबर हमारे पाचन तंत्र को मजबूत रखने के लिए बहुत जरूरी होता है। इसमें स्टार्च और चीनी भी कम मात्रा में पाई जाती है। जिसके कारण यह है डायरिया, कब्ज, अपच, बदहजमी जैसी समस्याओं को भी ठीक करता है।

पाचन क्रिया को सुचारू करने के लिए आप कद्दू  के गूदे को सब्जी व सूप के रूप में प्रयोग कर सकते हैं। और पेट संबंधी किसी भी समस्या के समाधान के लिए आप कद्दू के बीज का भी नियमित तौर पर प्रयोग कर सकते हैं। यह हमारे शरीर में डाइजेशन सिस्टम के लिए बहुत लाभदायक होता है। यह पढ़ें ~ बीजो के फायदे 

लौंग

लौंग का प्रयोग हमारे घरों में आमतौर पर किसी न किसी रूप में किया जाता है। लौंग बहुत सी बीमारियों में लाभदायक होने के साथ-साथ पाचन क्रिया में भी बहुत असर दायक होता है। यह उल्टी व मतली जैसी समस्या के लिए भी लाभदायक होता है।

पाचन तंत्र के लिए आप लौंग का चूर्ण शहद के साथ दिन में दो से तीन बार सेवन कर सकते हैं। इसके अलावा इसको चाय में डालकर भी सेवन करने से लाभ होता है।

जीरा

जीरा का उपयोग घरों में प्रतिदिन खाना बनाने में किया जाता है। यह एक बहुत ही गुणकारी औषधी है। यह हमारे शरीर की पाचन क्रिया में भी बहुत लाभदायक होता है। जीरा पेट में बनने वाली गैस, बदहजमी, अपच आदि समस्याओं को खत्म करने की शक्ति रखता है। तथा आंतों में सूजन को कम करके उनकी सफाई भी करता है।

पाचन संबंधी समस्या होने पर आधा चम्मच जीरा चूर्ण को पानी में उबालकर छानकर इस पानी का सेवन करना लाभदायक होता है। यह पढ़ें ~ आंतो में सूजन के घरेलू उपाय

पाचन शक्ति बढ़ाने के घरेलू उपाय | Pachan shakti kaise badhaye | in hindi

FAQ

Q 1. पाचन शक्ति कमजोर होने पर क्या करें?

Ans  खाने को ठीक से पचाने और Pachan shakti मजबूत करने के लिए भोजन को अच्छी तरह से चबा चबा कर खाएं, गुनगुना पानी पिए क्योंकि ठंडा पानी पाचन तंत्र पर नकारात्मक प्रभाव डालता है। विटामिन सी युक्त चीजों को अपनी नियमित डाइट में शामिल करें। ऐसी चीजों का सेवन अधिक करें जिनमें फाइबर भरपूर मात्रा में पाया जाता है। दही भी पाचन तंत्र के लिए अच्छा होता है।

Q 2. पाचन तंत्र खराब होने से क्या होता है?

Ans  अगर किसी का पाचन तंत्र खराब हो तो ऐसे में पेट से जुड़ी अनेक समस्याएं उत्पन्न होती है। इनमें मुख्य है अपच, गैस, कब्ज, बदहजमी या पेट का खराब रहना आदि, अगर ऐसी समस्या लगातार रहती है तो इसका मतलब पाचन तंत्र ( Pachan shakti) कमजोर है। इसके लिए पाचन तंत्र को मजबूत बनाने के घरेलू तरीकों को अपनाकर स्वस्थ और निरोगी रह सकते हैं

Q 3. पेट में खाना सड़ने से क्या होता है?

Ans  पाचन तंत्र के ठीक से काम न करने के कारण खाना पेट में सड़ने लगता है। ऐसा पेट की जठराग्नि के कम होने से होता है। इसके कारण शरीर में थकान, सुस्ती, चेहरे पर उदासी या चेहरे की चमक घटना आदि समस्याएं होती है। इसके कारण पेट ठीक से साफ नहीं हो पाता और कब्ज की समस्या शुरू हो जाती है जो बाद में पाईल्स, फिशर, अल्सर जैसी समस्याओं को जन्म देती है।

Q 4. बदहजमी क्यों होती है?

Ans   बदहजमी या अपच एक पाचन तंत्र या Pachan shakti से जुड़ी समस्या है। यह पेट के ऊपरी हिस्से में होने वाली बेचैनी है। पेट में जो एसिड बनता है वह जब पाचन तंत्र की सुरक्षात्मक शक्ति को नुकसान पहुंचाता है तब पेट में जलन और सूजन होती है यह बहुत कष्टदायक होती है यह गलत खानपान और जीवन शैली के कारण अपच की समस्या होती है।

निष्कर्ष (Conclusion)

इस आर्टिकल में हमने जाना Pachan shakti यानि पाचन तंत्र क्या है इसके लक्षण, कारण और पाचन शक्ति बढ़ाने के घरेलू उपाय कौन कौन से है तथा पाचन क्रिया (Pachan shakti) मजबूत होने से किन किन बिमारियों से बचा जा सकता है। इस लेख के बारे में आपके कोई भी सुझाव या सवाल हो तो निचे कमेंट में जरूर लिखें।

इस आर्टिकल में दी गई तमाम जानकारियों को सूचनात्मक उद्देश्य से लिखा गया है अतः किसी भी सुझाव को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से परामर्श अवश्य कर लेवें।

यह लेख पाचन शक्ति बढ़ाने के घरेलू उपाय (Pachan shakti kaise badhaye) आपको कैसा लगा Comment कर के जरूर बताये और share भी करे ताकि किसी जरूरतमंद को लाभ हो सके।

इन्हें भी पढ़ें-

Share This Product

Leave a Comment