जोड़ों में दर्द का इलाज | जोड़ दर्द का कारण | Home remedies for joint pain

जोड़ दर्द का इलाज (Home remedies for joint pain in hindi) जॉइंट पैन ट्रीटमेंट इन हिंदी

Joint pain treatment – आजकल जोड़ों में दर्द होना एक आम समस्या है। मुख्यतः जोड़ो का दर्द (Joint pain) बढ़ती उम्र, खेलने के दौरान लचक या मोच और सोते वक्त मांसपेशियों में खिंचाव या दबाव के कारण हो सकता है। जोड़ों में होने वाला दर्द, जोड़ो में तकलीफ किसी बीमारी का संकेत भी हो सकता है। निरोगी हेल्थ के इस आर्टिकल में आज आपको जोड़ दर्द का कारण, जोड़ों में दर्द का इलाज (Joint pain treatment), जोड़ो में पीड़ा से छुटकारा पाने के कुछ आसान घरेलू उपायों के बारे में बता रहे हैं आइए जानते हैं जोड़ों में दर्द का इलाज | जोड़ दर्द का कारण | Home remedies for joint pain

Contents

जोड़ों में दर्द का घरेलू इलाज (Joint pain treatment at home in hindi)

आजकल जोड़ों में दर्द की समस्या से अधिक उम्र के लोगों के साथ साथ युवा भी इसकी चपेट में आ रहे हैं। खराब लाइफस्टाइल, खानपान, फिजिकल एक्सरसाइज न करना और ज्यादा समय एक ही स्थान पर बैठे रहने के कारण आर्थराइटिस की समस्या उत्पन्न होने लगती है। अक्सर उम्र बढ़ने के कारण शरीर की हड्डियां कमजोर होने लगती है ऐसे में अधिकांश लोगों में जोड़ों में दर्द की समस्या होने लगती है।

शरीर में कैल्शियम की कमी और वात की समस्या होने के कारण अधिकतर लोगों को जोड़ों में दर्द जैसी समस्याओं का सामना करना पड़ता है। जोड़ो के दर्द से राहत पाने के लिए आजमाएं ये घरेलू उपाय (Joint pain treatment in hindi)

जोड़ों में दर्द के लक्षण क्या है (Symptoms of joint pain in hindi)

शरीर में इस प्रकार के दर्द की शुरुआत सामान्य दर्द से होती है। इसलिए इसकी गंभीरता को समझ ही नहीं पाते हैं। जॉइंट पेन के कुछ मुख्य लक्षण हैं जैसे

  • जोड़ों में सूजन होना
  • उठने बैठने और चलने में परेशानी होना
  • मांशपेशियों और जोड़ों में अकड़न महसूस होना और लालिमा आना
  • जोड़ों में असहजता का एहसास होना
  • जॉइंटो के आसपास गर्माहट महसूस होना

जोड़ों में दर्द होने के क्या कारण हैं (Couse of joint pain in hindi)

ज्वाइंट पेन के बहुत से कारण हो सकते हैं। इसके किसी सटीक कारण का पता लगाना मुश्किल होता है। लेकिन इसके कुछ मुख्य कारण है जैसे

  • किसी चोट लगने के कारण
  • अर्थराइटिस से पीड़ित होने के कारण
  • जोड़ों में संक्रमण होने के कारण
  • चोट या मोच आने के कारण
  • जोड़ों के बीच के तरल पदार्थ के कम होना या सूजन होने के कारण
  • यूरिक एसिड बढ़ने के कारण
  • गठिया रोग के कारण
  • शरीर मे कही फैक्चर होने के कारण
  • हड्डियों में संक्रमण के कारण

जोड़ों में दर्द के घरेलू उपाय क्या है (Home Remedies for joint pain in hindi)

हल्दी का सेवन

जॉइंट पेन का घरेलू इलाज (Joint pain treatment) करने में हल्दी का बहुत महत्व होता है। क्योंकि इसमें पाए जाने वाले करक्यूमिन घटक ज्वाइंट पेन से राहत दिलाने में फायदेमंद होते हैं। और यह सूजन से भी राहत दिलाती हैं। एक गिलास दूध में एक चौथाई चम्मच हल्दी के पाउडर को मिलाकर नियमित सुबह-शाम सेवन करने से लाभ मिलता है और इससे हड्डियां व जोड़ मजबूत होते हैं।

लहसून का सेवन

लहसुन का प्रयोग जोड़ों में होने वाले दर्द को दूर करने के लिए किया जा सकता है। मोटापा के कारण होने वाले दर्द से राहत दिलाने में लहसुन एक कारगर उपाय है। इसमें पाए जाने वाले anti-inflammatory और एनाल्जेसिक गुण दर्द की समस्या से छुटकारा दिलाने में उपयोगी होते हैं। इसलिए लहसुन का उचित मात्रा में सेवन करना ऐसी समस्या से राहत दिलाने में लाभदायक होता है। यह पढ़ें – लहसुन का सेवन करने के फायदे क्या है

अदरक का सेवन

इसका सेवन शरीर में होने वाले किसी भी दर्द वह सूजन से राहत पाने के लिए उपयोगी होता है। गर्म प्रवर्ति की होने के कारण अदरक सर्दियों में जोड़ों में होने वाले दर्द से राहत दिलाने में फायदेमंद होती है। इसका नियमित सेवन ज्वाइंट पेन (Joint pain treatment), ऐंठन और सूजन जैसी समस्याओं से राहत दिलाने में उपयोगी होता है।

मेथीदाना का सेवन

मेथी दाना का सेवन जोड़ों के लिए काफी उपयोगी होता है। इसमें एनाल्जेसिक एवं anti-inflammatory गुण होने के कारण यह दर्द से राहत दिलाने में उपयोगी है।

इस प्रकार के दर्द से छुटकारा पाने के लिए मेथी दाना को रात को पानी में भिगोकर सुबह चबा कर खाने से मदद मिलती है। और इसके अलावा मेथी का पाउडर बनाकर एक-एक चम्मच सुबह-शाम खाना खाने के बाद गर्म पानी के साथ सेवन करने से ऐसे दर्द से छुटकारा मिल जाता है।

कैल्शियम की कमी दूर करने के उपाय

शरीर में कैल्शियम की कमी होने के कारण ज्वाइंट पेन, सूजन, मांशपेशियों का दर्द, हड्डियां कमजोर होना जैसी समस्याएं उत्पन्न होती है। इसलिए शरीर में कैल्शियम की मात्रा की पूर्ति करना आवश्यक होता है। जानते है उपाय

  • अश्वगंधा व सतावर के पाउडर का एक चम्मच की मात्रा में नियमित सेवन करना चाहिए।
  • सुबह के समय नियमित मेथी, मूंग, मोठ, चना आदि को अंकुरित करके इनका सेवन करना लाभदायक होता है।
  • सुबह सूरज निकलते समय 40 मिनट तक धूप में अवश्य बैठना चाहिए जिससे कैल्शियम के साथ-साथ विटामिन डी की भी पूर्ति हो सके।
  • कैल्शियम व विटामिन सी की पूर्ति के लिए नियमित आंवला का सेवन करना लाभदायक होता है।
  • एलोवेरा, तुलसी, नीम और आंवला के ज्यूस का  नियमित सेवन करना भी फायदेमंद होता है।
  • अलसी और तिल का नियमित सेवन करना भी मदद पहुंचाता है।
  • कैल्शियम की कमी को दूर करने के लिए नियमित दूध या दूध से बने पदार्थों का सेवन उचित मात्रा में करना चाहिए।
  • यह पढ़ें- कैल्शियम की कमी कैसे दूर करें

जोड़ों का दर्द दूर कैसे करें (Joint pain treatment in hindi)

यह दर्द किसी की भी जिंदगी कष्टदायक बना सकता है। इससे बचने (Joint pain treatment) के लिए कुछ ऐसे घरेलू उपाय होते हैं जिनको आजमा कर इस समस्या को होने से रोका जा सकता है।

वजन नियंत्रित रखना

जिन लोगों का वजन सामान्य से अधिक होता है। उनको ज्वाइंट पेन या हड्डियों की की समस्या की संभावना अधिक होती है। इसलिए इन समस्याओं से बचने के लिए वजन को कंट्रोल में रखना आवश्यक होता है यह भी पढें – वजन घटाने के लिए डाइट प्लान

शारीरिक एक्टिविटी करना

अगर कोई भी व्यक्ति नियमित एक्सरसाइज करता है। तो वह बहुत सी बीमारियों से अपनी रक्षा कर सकता है। जोड़ों में होने वाली दर्द की समस्या से बचने में भी योग, व्यायाम और शारीरिक एक्टिविटी एक कारगर उपाय होता है। इसलिए नियमित एक्सरसाइज करना ऐसी समस्याओं से राहत पाने या Joint pain treatment के लिए आवश्यक होता है।

पोष्टिक आहार का सेवन करना

बीमारियों से बचने के लिए और स्वस्थ रहने के लिए अपने नियमित खानपान का विशेष ध्यान रखना जरूरी होता है। क्योंकि हमारे आहार का असर हमारी सेहत पर काफी गहरा पड़ता है।

इसलिए अपने नियमित आहार में पौष्टिक भोजन का सेवन करना स्वस्थ और निरोगी रहने में उपयोगी होता है। आहार के साथ साथ ड्राईफ्रूट्स का सेवन भी शरीर मे पोषक तत्वों की पूर्ति करता है। यह भी पढ़ें- ड्राईफ्रूट्स के फायदे

दूध का सेवन

दूध में कैल्शियम और विटामिन डी भरपूर मात्रा में पाया जाता है। जो हड्डियों और जोड़ों को मजबूत रखने के लिए बेहद जरूरी होता है। इसलिए नियमित चार गिलास दूध का सेवन अवश्य करना चाहिए। अगर दूध पीना किसी को पसंद ना हो तो दूध से बने पेय और खाद्य पदार्थों का सेवन कर सकते हैं जैसे पनीर, दही, मिल्कशेक, मक्खन इत्यादि।

जीवन शैली में बदलाव

  • ज्वाइंट पेन की समस्या से बचने (Joint pain treatment) के लिए जंक फूड, फास्ट फूड, ठंडे पेय पदार्थ, तेज मसालेदार व तली भुनी हुई चीजों का सेवन करने से बचना चाहिए।
  • मैदा या मैदे से बनी चीजें, चॉकलेट, कैम, सॉफ्ट ड्रिंक और अधिक मिठाई या मीठी चीजें खाने से बचना चाहिए।
  • रात के भोजन में चना, भिंडी, अरबी, आलू, मूली, दही, राजमा आदि का सेवन नहीं करना चाहिए।
  • ज्यादा प्रोटीन युक्त आहार और ज्यादा चावल का सेवन नहीं करना चाहिए।
  • धुम्रपान, अल्कोहल आदि का प्रयोग नहीं करना चाहिए क्योंकि धूम्रपान से शरीर में ऑक्सीजन की मात्रा सीमित हो जाती है। साथ ही इसमें पाया जाने वाला निकोटीन रक्त प्रवाह को बाधित करता है।

जिन लोगों को ज्वाइंट पेन की समस्या होती है। उनकी प्रतिरोधक क्षमता कमजोर हो सकती है। इसलिए इम्यून सिस्टम को मजबूत रखना आवश्यक होता है। यह भी पढ़ें – रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के उपाय

FAQ

Q 1.  जोड़ों में दर्द होने के कारण क्या होते हैं?

Ans जोड़ों में दर्द के बहुत से कारण हो सकते हैं जैसे मोटापा, चोट, मोच, फ्रैक्चर, सूजन, गठिया आदि।

Q 2.  क्या जोड़ दर्द में किसी तेल का उपयोग किया जा सकता है?

Ans जोड़ों के दर्द में कई प्रकार के तेल मददगार होते हैं। बाजार में बहुत से तेल मिलते हैं। इनके अलावा घर में तेल बनाकर उपयोग करना ज्यादा लाभदायक होता है।

Q 3.  किस विटामिन की कमी से जोड़ों में दर्द होता है?

Ans जोड़ों में दर्द की समस्या के लिए मुख्यत  विटामिन डी की कमी को ही माना जाता है और इस विटामिन की कमी होने से विटामिन B-12 भी कम हो जाता है।

निष्कर्ष (Conslusion)

इस आर्टिकल में हमने जाना जोड़ो में दर्द होने के कारण, लक्षण क्या है तथा जोड़ो में दर्द का घरेलु इलाज (Joint pain treatment in hindi) और जोड़ो में पीड़ा से छुटकारा पाने के कुछ आसान घरेलू उपाय कोनसे है व जॉइंट पैन की समस्या से बचने के लिए क्या सावधानियां रखना जरुरी है। इस लेख के बारे में आपके कोई भी सुझाव या सवाल हो तो आप हमें निचे कमेंट में पूछ सकते है।

इस आर्टिकल में लिखी गई तमाम जानकारियों को सूचनात्मक उद्देश्य से लिखा गया है।

यह लेख जोड़ों में दर्द का इलाज (Joint pain treatment in hindi) आपको कैसे लगा Comment अवश्य करें और Share करें ताकि आपको ऐसी ही जानकारी देते रहें।

इन्हें भी पढ़ें-

Share This Product

1 thought on “जोड़ों में दर्द का इलाज | जोड़ दर्द का कारण | Home remedies for joint pain”

Leave a Comment