इम्युनिटी बढ़ाने के घरेलू उपाय I Immunity Booster at Home I in hindi

इम्यून सिस्टम को मजबूत कैसे करें (Improve immune system tips in hindi)

आज के समय में पौष्टिक आहार, मानसिक तनाव और शारीरिक एक्टिविटी न करने और भी विभिन्न कारणों से हमारा इम्यून सिस्टम कमजोर हो रहा है। शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने (Immunity Booster) में खाद्य पदार्थ अहम भूमिका निभाते हैं।इस आर्टिकल के जरिए हम आपको बताने जा रहे हैं। उन घरेलू चीजों के बारे में जिन्हें आप अपने आहार और दिनचर्या में शामिल करके इम्यून सिस्टम को मजबूत कर सकते हैं। आइए जानते हैं इम्युनिटी बढ़ाने के घरेलू उपाय I Immunity Booster at Home I in hindi

ताजे फल और सब्जियों के साथ-साथ इन खाद्य पदार्थों में भरपूर मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट होते हैं। यह विभिन्न रोगों से हमारे शरीर को बचाते हैं। आयुर्वेद में स्वास्थ्य (Health) संबंधी हर समस्या का समाधान मौजूद होता है जो स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं को जड़ से समाप्त करने में मदद करता है। और साथ ही शरीर की रोगो से लड़ने की क्षमता भी बढ़ाते है।

इम्यूनिटी हमें किसी भी प्रकार के सूक्ष्म जीवों से लड़ने की क्षमता प्रदान करती है। अगर आप जानना चाहते है की शरीर को स्वस्थ कैसे रखें तो यह पढ़े-स्वस्थ रहने की अच्छी आदतें

इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए क्या खाना चाहिए (immunity booster foods in hindi)

पुदीना का सेवन (Benefits of Wild Mint in hindi)

पुदीने की पत्तिया खून साफ करती है व पुराने से पुराना सिर दर्द भी ठीक करती है। घबराहट व उल्टियां भी रोकती है।दांतो के बैक्टीरिया भी नष्ट करती है व खराब गले को भी राहत पहुंचाती है। पुदीना एंटी-बैक्टीरियल भी होता है जो कि शरीर में बैक्टीरिया पैदा होने से रोकता है।और इम्यून सिस्टम (रोगप्रतिरोधक क्षमता) को मजबूत रखने के साथ यह शरीर को स्वस्थ भी रखता है।

गुलाब का सेवन

गुलाब  के फूल शरीर की ऊर्जा में वृद्धि करते हैं गुलाब की पंखुड़ियों का सेवन करने से पाचन क्रिया भी ठीक होने लगती है। गुलाब का उपयोग करने से दिल, दिमाग और अमाशय की शक्ति में वृद्धि होती है।

इसके अलावा गुलाब की पंखुड़ियों में लैक्सेटिव और डाइयुरेटिक गुण भी होते हैं जो पेट साफ करने, बॉडी से टॉक्सिन को बाहर निकालने मेटाबॉलिज्म को बेहतर करने और वजन कम करने में भी मदद करते हैं। साथ ही साथ यह हमारे इम्यून सिस्टम को भी बेहतर करने में बहुत लाभदायक होते हैं। यह पढ़ें ~ मेटाबोलिज्म क्या है 

इसबगोल का सेवन

इसबगोल में घुलनशील और अघुलनशील दोनों तरह का फाइबर पाया जाता है। जो डाइजेशन सिस्टम में ज्यादा पानी को सोखने में मदद करते हैं इसमें मौजूद फाइबर कब्ज ठीक करने का सबसे अच्छा उपाय है।

कब्ज दूर करने के लिए दूध के साथ दो चम्मच इसबगोल मिलाकर पी सकते हैं। इसके अलावा यह आंतों को साफ करने, संक्रमण के कारण सूक्ष्म जीवों को हटाने में मदद करता है दही और ईसबगोल दोनों को मिलाकर लेने से दस्त में राहत मिलती है।

तुलसी का सेवन

तुलसी के बीज वजन कम करने का रामबाण उपाय है। यह एक ऐसा बीज है जो न्यूट्रीशन का खजाना है और immunity-boosting के गुणों से भरा हुआ है। इसके बीजों के इस्तेमाल से ब्लड में शुगर को कम करने के साथ-साथ डायबिटीज टाइप 2 के इलाज में फायदा पहुंचाते हैं। इसके साथ ही यह LDL बैड कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने में मदद करते हैं।

इन बीजों में पाए जाने वाले औषधीय गुण धमनियों और रक्त वाहिकाओं मैं ब्लॉक को हटाने का काम करते है। इससे हार्ट पर तनाव कम होता है जिससे हार्ट अटैक और स्ट्रोक की संभावना कम हो जाती है। यह पढ़ें ~ हाई कोलेस्ट्रॉल के लक्षण कारण और उपाय

लेमनग्रास का सेवन

लेमनग्रास आजकल इसका सेवन काफी चलन में है। इसके अनेक फायदों के चलते लोगों ने अपने घरों में इसका पौधा भी लगाना शुरू कर दिया है। इसका प्रयोग बहुत सालों से औषधि के रूप में होता रहा है क्योंकि इसमें नींबू जैसी खुशबू होती है।

साथ ही इसमें एंटीइफ्लेमेट्री, एंटीफंगल और एंटीबैक्टीरियल गुण पाए जाते हैं जो सेहत के लिए बेहद लाभदायक होते हैं। खासकर कैंसर जैसी घातक बीमारी में लेमनग्रास असरदार माना जाता है। इसके अलावा यह शरीर की इम्युनिटी को भी बढ़ाता है।

कड़ी पत्ता का सेवन

कड़ी पत्ता को मीठा नीम भी कहा जाता है। इसे इसकी सुगंध और गुणों के लिए जाना जाता है। कड़ी पत्ता में विटामिन A, विटामिनB, विटामिनC, कैल्शियम, प्रोटीन, एमिनो एसिड ,फास्फोरस, फ़ाइबर और आयरन प्रचुर मात्रा में पाया जाता है। हालांकि इसके स्वास्थ्य लाभ इसमें मौजूद एलकोलोइट के कारण होते हैं।

इसमें हमारे शरीर के ब्लड कोलेस्ट्रॉल को कम करने का गुण होता है। कड़ी पत्ते में एंटी-ऑक्सीडेंट गुण होते हैं जो कि कोलेस्ट्रोल का ऑक्सीकरण होने से रोक देते हैं।जिससे हमारे शरीर में खराब कोलेस्ट्रोल की मात्रा बढ़ नहीं पाती है।और दिल स्वस्थ रहता है।

यह शरीर में अवांछित वसा और कार्बोहाइड्रेट को भी जलाते हैं। जिससे वजन कम होता है डायबिटीज की समस्या से छुटकारा पाने के लिए आप अपने आहार में कढ़ी पत्ते का सेवन करें एंटी-बैक्टीरियल गुणों के कारण यह आपको संक्रमण की समस्या से छुटकारा दिलाने में भी सहायता करता है और इम्यूनिटी बूस्टर का काम भी करता है। यह पढ़ें ~ वजन घटाने के लिए डाइट प्लान

हल्दी वाला दूध का सेवन

आयुर्वेद में हल्दी का बहुत ही महत्व होता है। रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में इसका प्रयोग प्राचीन काल से किया जाता रहा है। रात को सोते समय एक गिलास दूध में चौथाई चम्मच हल्दी मिलाकर इसको अच्छी तरह से उबाल लें उबल जाने के बाद इसमें एक चम्मच देसी गाय का घी मिलाकर इसका नियमित सेवन करने से यह हमारे शरीर को शक्तिशाली और बलशाली बनाता है। और रोगों से लड़ने की शक्ति प्रदान करता है।

बादाम, छुहारा, मनुक्का मिल्क शेक का सेवन

यह शेक हमारे शरीर के बहुत से पोषक तत्वों की पूर्ति करता है। इसका नियमित सेवन करने से हमारा शरीर महाशक्तिशाली व बलशाली बन जाता है। बादाम और छुहारा कई औषधीय गुणों से भरपूर ड्राई फ्रूट है। एवं मनुक्का में एंटी ऑक्सीडेंट के साथ-साथ पोटेशियम, बीटा कैरोटीन, कैल्शियम, मैग्नीशियम, आयरन और बी कॉम्पलेक्स व विटामिंस पाए जाते हैं।

यह हमारी इम्यूनिटी को बूस्ट करने के साथ-साथ हड्डियों को भी मजबूत करता है।

इसलिए रात को इन तीनों को दूध के साथ भिगोकर रख दें सुबह इनको मिक्सी में दूध के साथ फेंट ले और सुबह खाली पेट इसका सेवन बच्चे, वयस्क और बूढ़े कोई भी करेगा तो उसका शरीर शक्तिशाली बनता है। और रोग प्रतिरोधक क्षमता बहुत मजबूत होती है।

FAQ

Q 1. बच्चों की इम्युनिटी बढ़ाने के लिए क्या करें?

Ans  इसके लिए बच्चों को ताजे फलों और सब्जियों का जूस नियमित सेवन करवाएं। बच्चों को संतरे, गाजर, पालक, चुकंदर, तरबूज, कीवी आदि का जूस पीने को दें क्योंकि विशेषज्ञ इम्यून सिस्टम मजबूत बनाने के लिए विटामिन सी युक्त खाद्य पदार्थों का सेवन करने की सलाह देते हैं।

Q 2. इम्यून सिस्टम क्या होता है?

Ans यह शरीर की आंतरिक प्रतिरक्षा प्रणाली होती है। जो शरीर को बाहरी खतरों और संक्रमण से सुरक्षा प्रदान करती है। जब कोई व्यक्ति बैक्टीरिया, वायरस या कोई रोग शरीर पर आक्रमण करते हैं तो यह प्रणाली अपने आप ही सक्रिय हो जाती है। और इन खतरों से बचाव करने की प्रक्रिया शुरू कर देती है यही इम्यून सिस्टम कहलाता है।

Q 3. इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए क्या खाएं?

Ans प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ाने के लिए अपने नियमित आहार में दूध, दही, पनीर, बीन्स, ड्राई फ्रूट्स, चिया सीड्स, दालचीनी, किशमिश, आंवला, हल्दी वाला दूध आदि को शामिल करना चाहिए। इसके अलावा विटामिन सी युक्त खाद्य व पेय पदार्थों का भी प्रचुर मात्रा में सेवन करने से शरीर का इम्यून सिस्टम मजबूत होता है और शरीर स्वस्थ और निरोगी रहता है।

इम्युनिटी  बढ़ाने के लिए लोग कई तरह के उपाय कर रहे हैं जो जरूरी भी है लेकिन इम्यूनिटी बढ़ाने के नेचुरल तरीकों को आजमाना आपके लिए और भी ज्यादा फायदेमंद हो सकता है।

इस आर्टिकल में लिखी गई तमाम जानकारियों को सूचनात्मक उद्देश्य से लिखा गया है। अतः किसी भी सुझाव को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से परामर्श अवश्य कर लेवें।

यह आर्टिकल इम्युनिटी बढ़ाने के घरेलू उपाय I Immunity Booster at Home I in hindi आपको कैसा लगा Comment करके बताये और शेयर भी करें।

इन्हें भी पढ़ें~

Leave a Comment